जन्माष्टमी के मौके पर ‘श्री कृष्ण’ बने तेजप्रताप यादव, गोपियों संग खेली डांडिया

0
164

पटना में लालू के लाल तेजप्रताप ने श्रीकृष्ण का रूप धरा और अपने सरकारी आवास पर शनिवार की आधी रात में मित्रों और पार्टी नेताओं के साथ जन्माष्टमी की पूजा-अर्चना की। आवास को सुबह से ही सजाया-संवारा गया था। उनकी मित्र मंडली के सदस्य भी देर शाम तक जमा हो गए।

तेजप्रताप यादव पटना में हर साल कृष्‍ण जन्‍माष्‍टमी के मौके पर कार्यक्रम का आयोजन करते हैं. हालांकि, तेजप्रताप यादव के आयोजन में तेजस्वी यादव के न पहुंचने को लेकर भी सवाल उठे. जिस वक्त तेजप्रताप पूजा-पाठ और भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति के रंग में रंगे थे, उस वक्त तेजस्वी आज होने वाली पार्टी की बैठक को लेकर रणनीति बना रहे थे. लिहाजा, वह इस कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके.

तेजप्रताप ने श्रीकृष्ण की तरह माथे पर मोर का पंख लगा रखा था। मित्रों से मिल-जुल भी रहे थे। पटना इस्कॉन मंदिर के कलाकारों ने इस मौके पर भजन की प्रस्तुति दी। श्रीकृष्ण की बाल लीला का भव्य आयोजन हुआ। इस दौरान राजद के प्रधान महासचिव आलोक मेहता, विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन एवं राजद के पटना जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव समेत बड़ी संख्या में पार्टी के पदाधिकारी एवं अन्य लोग मौजूद थे।

यह भी पढ़े  आरएसएस व उससे जुड़े संगठनों की जांच का मामला सदन में उठा

शनिवार की सुबह ही तेजप्रताप ने कृष्ण का रूप धारण कर बंसी बजाते हुए अपनी तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें उन्होंने लोगों को जन्माष्टमी की बधाई दी है। पोस्ट में उन्होंने श्रीकृष्ण की भक्ति की कुछ लाइनें भी लिखी हैं। नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की। हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैया लाल की।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के पटना लौटने के दिन से ही तेजप्रताप श्रीकृष्ण मय हो गए हैं। दो दिन पहले ही उन्होंने अपनी फेसबुक वॉल पर महाभारत के प्रसंग से संबंधित तस्वीर लगाई थी, जिसमें अर्जुन को भगवान श्रीकृष्ण गीता का उपदेश देते नजर आ रहे हैं। उन्होंने अपने राजनीतिक विरोधियों को यह कहते हुए सावधान भी किया था कि उनका अर्जुन (तेजस्वी) अब लौट आया है।

उधर, राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने रांची में बाल गोपाल की पूजा की। रिम्‍स के डाॅक्‍टर के अनुसार लालू प्रसाद यादव की तबीयत अब पहले से बेहतर है और उसमें सुधार भी हो रहा है। डॉक्‍टर के अनुसार, लालू ने जन्‍माष्‍टमी को लेकर रात में भगवान श्रीकृष्‍ण के बाल रूप गोपाल की पूजा की।

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री पद को लेकर मचे घमासान के बीच महागठबंधन की साझा प्रेस काॅन्फ्रेंस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here