पार्षद पिंकी ने मेयर पुत्र शिशिर पर लगाया छेड़खानी का आरोप

0
190

पटना नगर निगम बोर्ड की बैठक समाप्त होने के तुरंत बाद उस समय अजीवो गरीब स्थित उत्पन्न हो गई जब वार्ड 21 की पार्षद पिंकी कुमारी ने मेयर पुत्र शिशिर कुमार साहू पर बैठक के दौरान आंख मारने का आरोप लगाया। पिंकी कुमारी ने सीधा आरोप लगाया कि मेयर सीता साहू के पुत्र शिशिर कुमार ने उन्हें आंख मारी है। उन्होंने यह भी कहा कि मेयर पुत्र उनके साथ छेड़खानी करने का प्रयास कर रहा था। जब उन्होंने विरोध किया तो मेयर और उनके समर्थक गुस्से में आ गए और हाथापाई करने लगे। मारने के लिए हाथ उठाया। इस संबंध में पिंकी कुमारी ने शिशिर कुमार साहू, स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य पार्षद इंद्रदीप चंद्रवंशी और सतीश कुमार के खिलाफ कदमकुआं थाने में मामला दर्ज कर कार्रवाई की गुहार लगाई है। हालंकि मेयर पुत्र शिशिर कुमार ने इस आरोप को सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि यह आरोप पूरी बेबुनियाद है। दो साल तक वह स्टैंडिंग कमेटी की सदस्य रहीं। जब उन्हें कमेटी से हटाया गया तो आरोप लगा रही हैं। उनके खिलाफ कई आरोप हैं। इस बीच मेयर पुत्र के बचाव में उतरे नगर निगम स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य पार्षद डॉ. आशीष कुमार सिन्हा, इंद्रदीप कुमार चंद्रवंशी, विकास कुमार, कैलाश प्रसाद यादव, विनोद कुमार, सतीश गुप्ता आदि ने संयुक्त विज्ञप्ति जारी कर कहा कि पार्षद पिंकी कुमारी ने मेयर पुत्र शिशिर कुमार साहू पर बेबुनियाद आरोप लगाया है। इस तरह की स्तरहीन राजनीति से लोगों को बचना चाहिए। इन पार्षदों ने कहा कि हम सभी पार्षद उस समय बैठक में ही थे। ऐसी कोई बात वहां नहीं हुई थी जो पिंकी कुमारी कह रही हैं।

यह भी पढ़े  आज से पांच विधानसभा और एक लोकसभा क्षेत्र में चुनावी गहमागहमी शुरू

पिंकी कुमारी का कहना है कि नगर निगम की बैठक के दौरान मेयर सीता साहू जो योजना लाई थीं, उसका उन्होंने विरोध किया तो सदन में ही मौजूद उनके बेटे शिशिर कुमार ने उनको देखकर अभद्र इशारे किए और आंख मारी.

इस घटना के बाद नगर निगम के सदन में हंगामा मच गया और पिंकी कुमारी ने जमकर हो-हल्ला मचाया. गौरतलब है कि पिंकी कुमारी के समर्थन में भी कई वार्ड पार्षद उतर गए. पिंकी कुमारी ने कहा कि वह इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से शिकायत करेंगी. हालांकि, फौरी तौर पर उन्होंने कदम कुआं थाने में इस मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराई है.

पिंकी कुमारी ने कहा सदन में जिस वक्त यह घटना घटी उस वक्त उन्होंने शिशिर कुमार को कहा कि वह उनकी मेयर मां से शिकायत करेंगी, मगर इसके बावजूद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आए. उन्होंने कहा कि पहले तो सुशील कुमार की हरकत को उन्होंने नजरअंदाज किया लेकिन जब वह लगातार अभद्र व्यवहार करते रहे तो उन्होंने फिर इस मामले को जोर-शोर से उठाया.

यह भी पढ़े  तीन तलाक बिल लोकसभा में पास, औंधे मुंह गिरा असदुद्दीन ओवैसी का संशोधन

वहीं दूसरी तरफ मेयर के बेटे शिशिर कुमार ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है और कहा कि वार्ड पार्षद पिंकी कुमारी खुद विवादित महिला हैं. शिशिर कुमार ने कहा कि क्योंकि उन्हें नगर निगम की स्थाई समिति से बाहर कर दिया गया है इसी वजह से दुर्भावना से प्रेरित होकर उन्होंने उनके खिलाफ आंख मारने की शिकायत की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here