योगी कैबिनेट के विस्तार कल ,कई मंत्रियों के विभागों में होगा बड़ा फेरबदल: सूत्र

0
106

उत्तर प्रदेश की करीब ढाई साल पुरानी योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार को सुबह 11 बजे होगा. ऐसा माना जा रहा है आधा दर्जन नए चेहरे को योगी कैबिनेट में जगह मिल सकती है. वहीं कुछ मंत्रियों के विभाग में फेरबदल किया जा सकता है.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि मंत्रिमंडल विस्तार के बाद कई मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किया जाएगा. स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाश सिंह के विभाग में बदलाव किया जा सकता है. वहीं सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के विभाग में भी बदलाव किया जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के विभाग में भी बदलाव संभव. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के विभाग में भी बदलाव होने की खबर है. उन्हें पीडब्लूडी की जगह किसी अन्य विभाग की जिम्मेदारी दी जा सकती है.

इन्हें मिल सकती है जगह
मंत्रिमंडल में जगह पाने वालों में मुख्य रूप से एमएलसी अशोक कटारिया, एमएलसी विद्या सागर सोनकर, सिद्धार्थनगर इटवा के विधायक सतीश द्विवेदी, देवरिया के श्रीराम चौहान व बुंदेलखंड से झांसी के रवि शर्मा के नाम प्रमुख रूप से चर्चा में हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आरएलडी से भाजपा में आए सहेंद्र सिंह ‘रमाला’ व साहिबाबाद से सुनील शर्मा को जगह मिल सकती है। वहीं फर्रुखाबाद से सुशील कुमार शाक्य व सुनील दत्त द्विवेदी में से किसी एक को लिया जा सकता है।

यह भी पढ़े  आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

इनका बढ़ सकता है कद
इसके इतर राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. महेंद्र सिंह को कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जा सकती है। इसी के साथ विवादों में रहे कई मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किए जाने का भी फैसला किया गया है। कई मंत्री तबादले व विभागीय कार्यशैली को लेकर विवाद में रहे थे। उन्हें लेकर पार्टी व संगठन में नाराजगी है। माना जा रहा है कि उन्हें हटाया जा सकता है।

मंत्रिमंडल में 43 की जगह हो सकते हैं 60 मंत्री
प्रदेश मंत्रिमंडल में अभी 43 मंत्री है। इसकी संख्या 60 तक हो सकती है। वैसे वर्ष 2017 में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ही कई बार कयास लगाए जाते रहे कि विस्तार होगा। वजह थी कि पार्टी के कुछ पुराने वरिष्ठ नेताओं को चुनाव जीतने के बाद भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिल सकी थी। मंत्रिमंडल में 45 जिलों का प्रतिनिधित्व नहीं था। इसके बाद लोकसभा चुनाव 2019 होने के बाद से यह संभावना जताई जा रही थी।

यह भी पढ़े  भागलपुर हिंसा मामले में अर्जित चौबे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

मंत्रियों के इस्तीफे की सूचना ने हड़कंप मचा

योगी सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार की खबरों के बीच मंगलवार को कई मंत्रियों के इस्तीफे की सूचना ने हड़कंप मचा दिया है. सबसे पहले खबर आई कि प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है. पता चला कि बढ़ती उम्र और खराब स्वास्थ्य के कारण राजेश अग्रवाल ने ये फैसला किया है. वहीं सूत्रों के हवाले से खबर है कि राजेश अग्रवाल के बाद मंत्री अनुपमा जायसवाल, मुकुट बिहारी वर्मा, अर्चना पांडेय, कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान और स्वतंत्र प्रभार स्वाति सिंह ने भी इस्तीफा दे दिया है. हालांकि इस्तीफे की पुष्टि अभी तक नहीं हो सकी है.

उधर लखनऊ में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) की अहम समन्वय बैठक जारी है. बैठक में संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और कृष्ण गोपाल मौजूद हैं. वहीं सरकार की तरफ से सीएम योगी आदित्यनाथ, डॉ दिनेश शर्मा और बीजेपी की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव, संगठन महामंत्री सुनील बंसल बैठक में मौजूद हैं. इनके अलावा आरएसएस के क्षेत्रीय प्रचारक अनिल जी, आलोक जी और अवध प्रान्त प्रमुख कौशल जी भी बैठक में मौजूद हैं. समन्वय बैठक में मंत्रिमंडल और संगठन विस्तार के साथ उपचुनाव को लेकर भी चर्चा जारी है. इस समन्वय बैठक में योगी सरकार के मंत्रियों के काम-काज पर चर्चा भी होनी है. इस दौरान मंत्रिमंडल से शामिल और बाहर होने वाले मंत्रियों के नाम पर अंतिम मुहर लगनी है.

यह भी पढ़े  भाजपा और जदयू के रिश्ते में मधुरता आने की उम्मीद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here