बॉलीवुड के मशहूर और दिग्गज संगीतकार खय्याम का 92 साल की उम्र में निधन

0
165

बॉलीवुड के मशहूर और दिग्गज संगीतकार खय्याम का 92 साल की उम्र में निधन हो गया। उनकी मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट (cardiac arrest) माना जा रहा है। कई दिनों से तबियत खराब होने के कारण उन्हें अस्पताल में एडमिट किया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सोमवार की रात करीब 9:30 में उन्हें कार्डियक अरेस्ट आया। जिसके बाद डॉक्टर्स उन्हें बचा नहीं सके। इसके साथ ही खय्याम को लंग इंफेक्शन व ज्यादा उम्र के चलते शरीर काफी कमजोर हो चुका था। वह करीब 21 दिन से अस्पताल में भर्ती थे। अक्सर लोग कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक को एक ही समझने लगते है। लेकिन ऐसा नहीं है। जानें कार्डियक अरेस्ट से जुड़े लक्षण, बचाव के उपाय, इलाज, फर्स्ट एड।

कई सारे लोग इन दोनों को एक समझते हैं पर ये अलग-अलग हैं। हार्ट अटैक के दौरान हृदय के कुछ हिस्सों में खून का बहाव जम जाता है जिस वजह से हार्ट अटैक होता है। वहीं दूसरी तरफ कार्डियक अटैक में किन्हीं कारणों से हृदय उचित तरीके से काम करना बंद कर देता है और अचानक से रुक जाता है। जिसके कारण व्यक्ति की तुरंत मौत हो जाती है। इसीकारण कार्डियक अरेस्ट को हार्ट अटैक से ज्यादा खतरनाक माना जाता है।

यह भी पढ़े  अमिताभ बच्चन को दादा साहब फाल्के सम्मान

क्या है कार्डियक अरेस्ट?
कार्डियक अरेस्ट तब होता है, जब दिल के अंदर वेंट्रीकुलर फाइब्रिलेशन पैदा हो। यानी कि इसमें दिल के भीतर विभिन्न हिस्सों के बीच सूचनाओं का आदान-प्रदान में थोड़ी गड़बड़ी हो जाती है, जिसकी वजह से दिल की धड़कन पर बुरा असर पड़ता है। जिसके कारण हार्ट रेट को नियमित करने के लिए कार्डियोपल्मोनरी रेसस्टिसेशन (CPR) दिया जाता है। इस प्रक्रिया में डिफाइब्रिलेटर के जरिए बिजली के झटके दिए जाते हैं। जिससे दिल की धड़कनों को वापस लाने में मदद मिलती है। कार्डियक अरेस्ट होने की सबसे ज्यादा आशंका दिल की बीमारी वालों को होती है।

कार्डियक अरेस्ट के लक्षण
वैसे आपको बता दें कि कार्डियक अरेस्ट अचानक से होता है। जिसके कारण इसके पहले लक्षण पहचानने का कोई मौका नहीं मिलता है। लेकिन इन लक्षणों को पहचानकर आप सचेत हो सकते हैं।

सांसों का छोटा होना
हृदय में दर्द
चक्कर आना
हृदय का धकधकाना
थकान का एहसास होना
छाती में दर्द होना।
कर्डियक अरेस्ट के दौरान रोगी अपनी चेतना अचानक खो बैठता है। वह कोई प्रतिक्रिया भी शारीरिक रूप से नहीं देता है। उसकी सांस भी अचानक रुक जाती है।
नब्ज ठहर जाती है।
कार्डियक अरेस्ट के समय क्या करें
कार्डियकर अरेस्ट हार्ट अटैक से अलग होता है। जिसके कारण ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर की जरुरत होती है। जिससे उसको तुरंत कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन यानी सीपीआर (cardiopulmonary resuscitation (CPR) दिया जा सके। जिससे कि उसका हद्य तुंरत काम करना शुर कर दें।

यह भी पढ़े  नीतू नवगीत के नए एल्बम ‘‘पावन लागे लाली चुनरिया’ का कवर जारी

ऐसे करें कार्डियक अरेस्ट से बचाव
कार्डियक अरेस्ट अचानक होता है। जिसके कारण क्षण भर में किसी भी व्यक्ति की मौत हो सकती है। लेकिन हेल्दी डाइट लेते रहें तो इससे आर काफी हद तक बच सकते है।
हमेशा ऐसी चीजों का सेवन करें जोकि हेल्दी हो। इसमें आप ताजे फल और सब्जियां शामिल करें।
स्मोकिंग से जितना दूर रहें। उतना आपके लिए बेस्ट है।
खाने में ऑयली, तले-भुने, प्रोसेस्ड फूड, खराब वसा वाले खाद्य पदार्थों और बुरे फैट वाली चीजें खाने से बचे। इससे आपका कोलेस्ट्राल बढ़ेगा।
व्यायाम हर बीमारी से आपका काफी हद तक बचाव करता है। इसलिए रोजाना एक्सरसाइड तो जरूर करें।

इन दिग्गजों की मौत का कारण बना कार्डियक अरेस्ट
आपको बता दें कि कार्डियक अरेस्ट के कारण ही साल 2019 में अगस्त में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन भी कार्डियक अरेस्ट के कारण हुआ। इसके अलावा बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी के अलावा रीमा लागू और साउथ की एक्ट्रेस और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की भी निधन हो गया था।

यह भी पढ़े  अभिनेता जितेंद्र पर उनकी 'बहन' ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here