कृषि मंत्री सह पशुपालन मंत्री डॉ. प्रेम कुमार

0
255
मिथिला दुग्ध संघ समस्तीपुर में कृषि मंत्री सह पशुपालन मंत्री डॉ. प्रेम कुमार , संघ के प्रबंध निदेशक डीके श्रीवास्तव एवं संस्थान के कर्मचारी

सूबे के कृषि मंत्री सह पशुपालन मंत्री  एवं मधुवनी जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेम कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को मधुबनी जिला बाढ़ राहत अनुश्रवण सह निगरानी समिति की समीक्षात्मक बैठक के बाद समस्तीपुर स्थित मिथिला दुग्ध संघ ( सुधा डेयरी ) समस्तीपुर का दौरा किया . इस दरम्यान मंत्री ने दुघ संघ से जुड़े सभी कार्यो की समीक्षा की . इस बैठक के दौरान मिथिला दुग्ध संघ के द्वरा किये जा रहे कार्यो की भूरी भूरी प्रशंसा भी की . संघ के द्वारा वृक्षारोपण कार्य हो या फिर दूध उत्पादक किसानो की भलाई के लिए हो रहे कार्य सबकी तारीफ करते हुए मंत्री ने कहा की मिथिला दुग्ध संघ का बिहार में अहम् योग्यदान है . संघ के द्वरा करीब 4 लाख लिटर दुग्ध का उत्पादन राज्य के कुल उत्पादन का 20 प्रतिशत है जो अपने आप में बहुत अहम् है . इसके लिए संघ के प्रबंध निदेशक डीके श्रीवास्तव और संघ के कर्मचारी बधाई के पात्र है .

यह भी पढ़े  शकील अहमद के इस्तीफे से बिहार में 'टूटा' महागठबंधन, मधुबनी सीट से निर्दलीय ठोकेंगे ताल
मिथिला दुग्ध संघ समस्तीपुर में कृषि मंत्री सह पशुपालन मंत्री डॉ. प्रेम कुमार को संघ के प्रबंध निदेशक डीके श्रीवास्तव द्वारा मिथिला पेंटिंग देकर सम्मान करते हुए

मिथिला दुग्ध संघ समस्तीपुर में कृषि मंत्री सह पशुपालन मंत्री डॉ. प्रेम कुमार मिडिया से बात करते हुए

इसके पूर्व मधुबनी समाहरणालय सभाकक्ष में जिला बाढ़ राहत अनुश्रवण सह निगरानी समिति की समीक्षात्मक बैठक में भाग लेते हुए समीक्षा बैठक किये .इस बैठक में जनप्रतिनिधियों एवं राजनीतिक दलों के अध्यक्षों ने क्षतिग्रस्त तटबंधों एवं पथों की मरम्मत अविलंब कराने का अनुरोध मंत्री से किया . कुछ जनप्रतिनिधियों ने जीआर की सूची बनाने में अंचल स्तरीय कर्मियों द्वारा भेदभाव बरतने की भी शिकायत की .

प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कार्यपालक-अभियंता बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, झंझारपुर-1 एवं 02 को क्षतिग्रस्त तटबंधों की मरम्मत व सुदृढ़ीकरण शीघ्र कराने का निदेश दिया . साथ ही कार्यपालक अभियंता-पथ प्रमंडल एवं सभी ग्रामीण कार्य प्रमंडल, एनएच के कार्यपालक अभियंता को क्षतिग्रस्त पथों को तीन दिनों के अंदर मरम्मत कर यातायात लायक बनाने का निदेश दिया .

प्रभारी मंत्री ने एनएच-104 की मरम्मत नहीं करने एवं कार्यपालक अभियंता, एनएच, सीतामढ़ी की अनुपस्थिति में सहायक अभियंता द्वारा सड़क की मरम्मत किए जाने संबंधी गलत जानकारी दिए जाने को लेकर उक्त सड़क की जांच जिला स्तरीय टीम यथा-संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, संबंधित प्रमुख एवं विधायक की उपस्थिति में जांच कराने का निदेश दिया गया.

यह भी पढ़े  आपदाओं के प्रति जागरूकता जरूरी: मोदी
कृषि मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेम कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को समाहरणालय सभाकक्ष में जिला बाढ़ राहत अनुश्रवण सह निगरानी समिति की समीक्षात्मक बैठक

जिला बाढ़ राहत अनुश्रवण-सह-निगरानी समिति की बैठक में डीएम शीर्षत कपिल अशोक खजौली विधायक सीताराम यादव, बेनीपट्टी विधायक भावना झा, रामप्रीत पासवान, जिप अध्यक्ष शीला मंडल सहित प्रखंडों के प्रमुख शामिल थे. बैठक में सभी जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्य रूप से क्षतिग्रस्त तटबंधों व पथों की मरम्मत अविलंब कराने का अनुरोध किया गया.

10,258 बाढ़ पीड़ितों को जीआर राशि उपलब्ध कराने की भी कार्रवाई, सड़क का भी निरीक्षण : इसके बाद मंत्री के द्वारा एनआईसी कार्यालय में जिले के 8 प्रखंडों अंधराठाढ़ी, बाबूबरही, बेनीपट्टी, घोघरडीहा, जयनगर, झंझारपुर, लदनियां तथा मधवापुर के 10258 प्रभावित परिवारों को पीएफएमएस के माध्यम से जीआर की राशि देने के लिए ऑनलाइन डाटा प्रविष्ट करने की कार्रवाई की गयी. शहर के चभच्चा चौक से सौराठ होते हुए जानेवाली पथ एनएच 527ए में चभच्चा चौक से तालाब के समीप जर्जर सड़क का निरीक्षण किया गया. विभाग के द्वारा उक्त पथ के चौड़ीकरण का कार्य किया जाना है। लेकिन तालाब के समीप विभाग द्वारा सड़क के चौड़ीकरण हेतु गड्ढ़ा कर दिया गया है. उन्होंने संबंधित कार्यपालक अभियंता को निदेश दिया कि शीघ्र उक्त स्थल पर गड्ढ़ा को भरकर सड़क को मोटरेबुल करने की दिशा में पहल शुरू करें.

यह भी पढ़े  बड़ा रेल हादसा टला : पोकलेन मशीन से जा टकरायी पैसेंजर ट्रेन

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here