Budget 2019-20 को मिली संसद की मंजूरी

0
139

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रस्तुत विनियोग और वित्त विधेयकों को राज्य सभा में अनुमोदित कर यथारूप लोक सभा को वापस किए जाने के साथ संसद ने मंगलवार को मोदी सरकार के 2019-20 के बजट को मंजूरी दे दी। सीतारमण ने राज्य सभा में वित्त (संख्या2) विधेयक पर चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि उनके बजट में कर प्रस्तावों का उद्येश्य अधिक समानता के साथ विकास के लिये धन का पुनर्वितरण करना है। वित्त मंत्री के जवाब के बाद सदन ने विनियोग (संख्या 2) विधेयक, 2019 और वित्त (संख्या 2) विधेयक 2019 को ध्वनिमत से मंजूरी दी और उसे लोकसभा को लौटा दिया। गौरतलब है इससे पहले फरवरी में पेश 2019-20 के अंतरिम बजट के समय भी विनियोग और वित्त विधेयक प्रस्तुत किये गये थे। लोकसभा ने इन वित्त और विनियोग विधेयकों को पिछले सप्ताह ही पारित कर दिया था। दोनों विधियेकों पर चार घंटे चली चर्चा का जवाब देते हुए सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल पर 2-2 रुपये प्रति लीटर कर बढ़ाने के कदम को युक्तिसंगत ठहराया। उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति अभी नीचे है और इस कदम से कीमतों पर कोई बोझ नहीं पड़ेगा। लगभग समूचे विपक्ष ने चर्चा का बहिष्कार किया। उनकी मांग थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दावे पर बयान देना चाहिए। ट्रंप ने सोमवार को कहा था कि मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मदद करने की बात की थी।

यह भी पढ़े  क्या अमेठी में पिछली बार से ज्यदा मतो से जीत सकते राहुल !

गौरतलब है कि इससे पहले फरवरी में पेश 2019-20 के अंतरिम बजट के समय भी विनियोग और वित्त विधेयक प्रस्तुत किये गये थे. लोकसभा ने इन वित्त और विनियोग विधेयकों को पिछले सप्ताह ही पारित कर दिया था. दोनों विधियेकों पर चार घंटे चली चर्चा का जवाब देते हुए सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल पर 2-2 रुपये प्रति लीटर कर बढ़ाने के कदम को युक्तिसंगत ठहराया.

उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति अभी नीचे है और इस कदम से कीमतों पर कोई बोझ नहीं पड़ेगा. लगभग समूचे विपक्ष ने चर्चा का बहिष्कार किया. उनकी मांग थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दावे पर बयान देना चाहिए. ट्रंप ने सोमवार को कहा था कि मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मदद करने की बात की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here