2012 से अब तक पटना में लगे 5,86,060 पौधे : मोदी

0
70
file photo

राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजधानी में हरियाली का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। वर्ष 2012 से अब तक पटना जिले में कुल पांच लाख 86 हजार 60 पौधे तथा पटना शहर में कुल 80604 पौधे लगाये गये हैं। पटना शहर में जब जगह उपलब्ध नहीं हुए तो पटना जिले में पोधा लगाये गये। अब तो पेड़ों की सुरक्षा का ख्याल रख कर सड़कों के अलायमेन्ट तक बदले जा रहे हैं। साथ ही बड़े पौधे के भी ट्रान्सप्लान्टेशन का प्रयोग शुरू हो चुका है। उप मुख्यमंत्री श्री मोदी आज भाजपा के विधान पार्षद प्रो.नवल किशोर यादव के अल्पसूचित प्रश्न का जवाब दे रहे थे।उन्होंने कहा कि पटना में वर्ष 2016-17 से 2018-19 तक कुल 25826 पेड़ लगाये गये हैं। उन्होंने वर्षवार सदन को जानकारी देते कहा कि वर्ष 2016-17 में जहां 1096 पेड़ काटे गये वहीं 6050 पेड़ लगाये भी गये। वर्ष 2017-18 में 1222 पेड़ काटे गये तो 1610 पेड़ लगाये गये। वर्ष 2018-19 में 925 पेड़ काटे गये तो 18165 पेड़ लगाये भी गये। विकास कार्य को ले कर जहां पेड़ों का काटना काफी आवश्यक हुआ वहीं काटा गया। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सुरक्षा हेतु हरित आवरण बढ्राने हेतु शहरी वानिकी योजना के अंतर्गत शहर के खाली स्थानों ,संस्थानों ,परिसरों में बड़े पैमाने पर पौधारोपण किये जा रहे हैं। पौधा की सुरक्षा हेतु पटवन व रख रखाव की व्यवस्था की गई है। पटना शहर में मात्र सड़क चौड़ीकरण वाले पथों को छोड़कर अन्य सभी स्थलों पर बड़ी संख्या में पौधे लगाये गये हैं भविष्य में भी खाली जगह पर पौधे लगाया जाना प्रस्तावित है। राज्य के उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने राजद विधान पार्षद सुबोध कुमार के तारांकित प्रश्न का जवाब देते कहा कि बिहार का हरित आवरण जो वर्ष 2011 के सव्रेक्षण के आधार पर 9.79 था। वह बिहार रिमोट सेन्सिंग एप्लीकेशन सेन्टर के रिपोर्ट के अनुसार 2017 तक कुल भौगोलिक क्षेत्र का 15.04 प्रतिशत हो गया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 से 2017 के बीच 24 करोड़ के लक्ष्य के विरुद्ध कुल 18.47 करोड़ पौधे लगाये गये। उन्होंने इस बात को अस्वीकार किया कि पेड़ों के काटने से बाढ़ व सुखाड़ हो ऐसा कोई तकनीकी अध्ययन उपलब्ध नहीं है। वैसे वृक्षारोपण का कार्य विभिन्न योजनाओं के तहत किया जा रहा है। बिगत तीन वर्षो में वर्ष 2016-17 में 306.224 लाख,2017-18 में 228.64 लाख तथा 2018-19 में 141.27 लाख पौधे लगाये गये हैं।

यह भी पढ़े  अंतिम दर्शन के लिए आज कार्यालय पहुंचगा भोला सिंह का पार्थिव शरीर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here