लंदन की एक अदालत में प्रत्यर्पण से जुड़े मामले की सुनवाई में विजय माल्या को मिली राहत

0
94

भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये लेकर फरार शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने के लिए एजेंसियां पूरी कोशिश कर रही हैं. मंगलवार को लंदन की एक अदालत में उससे जुड़े मामले की सुनवाई हुई तो विजय माल्या को राहत मिली. लेकिन इस बीच ट्विटर पर माल्या की तरफ से अपील की गई है कि वह तो पहले से ही कह रहे हैं कि पैस ले लो और इसके साथ ही मामला खत्म कर सकते हैं.

अदालत की तरफ से राहत मिलने के बाद विजय माल्या ने कई सारे ट्वीट किए. विजय माल्या ने लिखा कि भगवान महान है, न्याय जरूर होता है. मैंने हमेशा कहा है कि मेरे ऊपर लगे आरोप गलत हैं. अब जब कोर्ट का फैसला आया है तो मैं एक बार फिर कहता हूं कि वह बैंकों के पैसा लौटाने के लिए तैयार हैं.

विजय माल्या ने लिखा कि पैसा ले लीजिए, सारा बैलेंस क्लियर कीजिए. मैं सभी कर्मचारियों के पैसे देना चाहता हूं और जिंदगी में आगे बढ़ना चाहता हूं. इसके अलावा अपने ट्वीट में विजय माल्या ने सीबीआई पर भी गलत केस करने का आरोप लगाया.

यह भी पढ़े  अमेरिका ने हाफिज सईद की राजनैतिक पार्टी MML को आतंकी संगठन घोषित किया

Vijay Mallya

@TheVijayMallya
Despite the good Court result for me today, I once again repeat my offer to pay back the Banks that lent money to Kingfisher Airlines in full. Please take the money. With the balance, I also want to pay employees and other creditors and move on in life.

बता दें कि मंगलवार को ही लंदन की हाईकोर्ट में विजय माल्या से जुड़े मामले में सुनवाई हुई थी. ब्रिटेन के गृह सचिव ने विजय माल्या को भारत प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया था. जिसके खिलाफ माल्या ने अपील की थी. विजय माल्या की इसी अपील को अब अदालत ने स्वीकार कर लिया है.

विजय माल्या अब उसे प्रत्यर्पित होने के खिलाफ याचिका को ऊपरी अदालत में ले जा सकता है. भारत के बैंकों से धोखाधड़ी के मामले में आरोपी विजय माल्या जांच के दौरान ही मार्च 2016 में लंदन भाग गया था. माल्या को वापस लाने के लिए केंद्र सरकार और भारतीय जांच एजेंसियां लगातार प्रयास कर रही हैं, लेकिन अभी तक सफल नहीं हो पाईं. दिसंबर 2018 में लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने माल्या को भारत भेजने का फैसला सुनाया था.

यह भी पढ़े  भारत, पाक के बीच सेतु का काम करेगा करतारपुर गलियारा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here