किरण खेर आज अपना 64वां जन्मदिन सेलेब्रेट कर रही हैं

0
204

बॉलीवुड की बेहतरीन एक्ट्रेस, बीजेपी सांसद और मशहूर अभिनेता अनुपम खेर की पत्नी किरण खेर आज अपना 64वां जन्मदिन सेलेब्रेट कर रही हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि हर क्षेत्र में सफलता का शिखर छूने वाली किरण ने अपने करियर की शुरुआत थिएटर में एक्टिंग करके की थी. जी हां! चंडीगढ़ में पढ़ाई के साथ थिएटर की दुनिया में कदम रखने वाली किरण ने शायद ही यह सोचा होगा कि कभी वह उस शहर की सांसद भी बनेंगी.

किरण खेर चंडीगढ़ में अपनी कला और टैलेंट को निखारने के बाद वह बाद में मुंबई आ गईं. इसके बाद शुरू हुआ किरण का सफलता की ओर पहला सफर. किरण ने साल 1996 में अमरीश पुरी के साथ श्याम बेनेगल की ‘सरदारी बेगम’ में काम किया जो काफी चर्चित रही. इतना ही नहीं इस फिल्म के लिए किरण को स्पेशल जूरी अवार्ड से सम्मानित भी किया गया.

उसके बाद उन्होंने ऋतुपर्णा घोष की बंगाली फिल्म ‘बैरीवाली’ में काम किया जिसके लिए उन्हें नेशनल अवार्ड से मिला. वहीं साल 2002 में किरण को संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘देवदास’ ने नई पहचान दी. इस फिल्म से वह कमर्शियल सिनेमा में एक परफेक्ट मां के रूप में जानी जाने लगीं. फिल्म में किरण ने एश्वर्या की मां का रोल किया था.

यह भी पढ़े  इमरान खान को नसीर का जवाब, अपना घर संभालें

बैडमिंटन प्लेयर भी रही हैं किरण
किरण खेर का जन्म 14 जून 1955 को पंजाब के चंडीगढ़ में एक सिख परिवार में हुआ था. लेकिन यह बात कम ही लोग जानते हैं कि किरण अभिनेत्री, राजनेता होने के साथ एक बेहतरीन बैडमिंटन खिलाड़ी भी रही हैं. किरण ने दीपिका पादुकोण के पिता प्रकाश पादुकोण के साथ नेशनल लेवल बैडमिंटन खेला है.

किरण की निजी जिंदगी के बारे में बात करें तो किरण ने अनुपम खेर के साथ दूसरी शादी की थी. उनकी पहली शादी बिजनेस मैन गौतम बेरी से हुई थी. जो कुछ साल बाद ही टूट गई और गौतम से किरण का तलाक हो गया. जिसके बाद किरण ने अनुपम खेर से शादी कर ली. किरण खेर का एक बेटा है, जिसका नाम सिकंदर खेर है.

यह हैं मुख्य फिल्में
किरण ने मंगल पांडे, रंग दे बसंती, वीर-जारा, देवदास, कर्ज, हम, मैं हूं ना, दोस्ताना, सरदारी बेगम, कभी अलविदा ना कहना, फना, एहसास, अजब गजब लव, कमबख्त इश्क, खूबसूरत जैसी कई फिल्मों में काम किया है.

यह भी पढ़े  द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर: कांग्रेस ने विरोध में थियेटर के पर्दे तक फाड़े, अनुपम खेर बोले- यही असहिष्णुता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here