हम बुनियादी सिद्धांतों से कोई समझौता नहीं करते हैं , विवादित मुद्दों पर विरोध जारी रहेगा: नीतीश

0
80
file photo

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ किया कि केंद्र सरकार में शामिल होने को लेकर जेडीयू-बीजेपी के बीच न तो कोई विवाद है और न ही भ्रम. पटना में पत्रकारों से बात करते हुए सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मेरे जो संबंध पहले थे आज भी वैसे ही हैं. हम दोनों के आपसी संबंध काफी बेहतर हैं. नीतीश ने कहा कि चुनाव के दौरान मेरे खिलाफ क्या-क्या नहीं बोला गया लेकिन मैं चुप रहा. मेरी चुप्पी के बाद जनता ने इसका करारा जवाब दिया. मैंने चुनाव में ज़्यादा नहीं बोलने का प्रयोग किया था जो सफल रहा है.

विवादित मुद्दों पर क्लियर स्टैंड

नीतीश ने कहा कि हम बुनियादी सिद्धांतों से कोई समझौता नहीं करते हैं और जेडीयू विवादित मुद्दों पर अपना विरोध जताती रहेगी. धारा 370, राम मंदिर निर्माण को लेकर हमार स्टैंड क्लियर है इसमें कोई कंफ्यूजन नहीं है. बिहार के लोगों ने काम के आधार पर लोकसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन को जबर्दस्त समर्थन दिया है. नीतीश ने कहा कि मंत्रिमंडल में शामिल होने और न होने को लेकपर भ्रम फैलाने की जरूरत नहीं है और इस मामले में हमारी कोई नाराजगी नहीं है. उन लोगों ने कई बार बात की लेकिन हमने मना किया और हमें अब मंत्रिमंडल में शामिल होने की कोई अपेक्षा भी नहीं है. नीतीश ने कहा कि जब हम बिहार में एनडीए के साथ हुए तो भी सरकार में शामिल होने का प्रस्ताव हमें आया था.

यह भी पढ़े  मतदान को लेकर आज भारत-नेपाल सीमा सील,सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंध

काम को लोगों ने सराहा

सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार के लोगों ने हमें भरपूर समर्थन दिया है और सारा काम अब अच्छे से हो रहा है. नीतीश ने केंद्र की योजानाओं का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र सरकार जो योजना चलाती है तो वो योजना पूरी तरह से केंद्र की योजना रहे और राज्यों के लिए अलग-अलग स्कीम होनी चाहिए. कभी-कभी नीतिगत फैसलों के कारण सेंट्रल बेस्ड स्कीम से काम करने में दिक्कतें आती हैं. ये वैचारिक विषय है और इसके बारे में सभी राज्य सोचते हैं कि विकास के लिए कैसे प्लानिंग हो.

पानी की समस्या चुनौती

बिहार में सूखे की समस्या का जिक्र करते हुए नीतीश ने कहा कि हर साल राज्य में भू-जलस्तर गिर रहा है जो कि गंभीर समस्या है. बिहार में अब पानी की समस्या को दूर करना चुनौती है. राज्य में पिछली बार भी कम वर्षा हुई थी और इस बार भी कम बारिश की आशंका है. लेकिन पानी की कमी को दूर करने केे लिए हमने अपने अधिकारियों और संबंधित मंत्रियों को स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किया है.

यह भी पढ़े  BJP-JDU-LJP के बीच सीट शेयरिंग का ऐलान टला, कल हो सकती है घोषणा

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here