श्रीमान अंदर हैं, मुझे पत्र लिख रहे हैं:मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

0
342

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को सासाराम में पीएम मोदी की विजय संकल्प रैली में राजद, लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव का नाम लिये बिना उन पर जम कर प्रहार किया कहा कि हम काम पर वोट मांगने आये  हैं. 15 साल पहले की सरकार में पहले पति मुख्यमंत्री हुए़  जेल गये, तो पत्नी मुख्यमंत्री बनीं. उन्होंने कहा कि मुझे समाचार पत्रों से मालूम हुआ कि श्रीमान अंदर हैं और जेल से मुझे चिट्ठी लिख रहे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में मौजूद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि गरीबों के नाम पर सत्ता प्राप्त करने वाले एक परिवार की सत्ता 15 वर्षों तक रही, लेकिन बिहार का विकास नहीं हुआ, बल्कि बिहार लगातार पिछड़ता चला गया। हमारी सरकार ने न्याय के साथ सबका विकास किया, सड़कों को दुरुस्त किया और कानून का राज्य स्थापित किया। गरीबों के नाम पर सत्ता हथियाने वाले लोग अब जेल व बेल के चक्कर में हैं। वे आरोप लगाते हैं कि हमको फंसा दिया गया। जेल भेजने का काम अदालत करती है। सजा देने का काम अदालत करती है। उसमें सरकार का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है, लेकिन ये लोगों को बरगलाने के लिए अनर्गल आरोप लगाकर लोगों की सहानुभूति बटोरना चाहते हैं। कोई भी उनके झांसे में आने वाला नहीं है और बिहार के लोग तय कर चुके हैं कि देश में फिर से मोदी सरकार लाना है। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यह चुनाव सिर्फ यह तय करने के लिए नहीं है कि कौन सा दल या गठबंधन जीतेगा बल्कि यह चुनाव तय करेगा कि आने वाले वर्षों में भारत कितनी तेजी से विकास करेगा। उन्होंने कहा कि ‘‘कांग्रेस का अहंकार इतना ज्यादा बढ़ गया है कि यह देश अब उसे बर्दाश्त नहीं कर सकता है। कांग्रेस के अहंकार का ही परिणाम आपातकाल था, जिसमें लोकनायक जयप्रकाश नारायण पर डंडे बरसाए गए और जगजीवन राम को इतना प्रताड़ित किया गया कि उन्हें कांग्रेस छोड़नी पड़ी। कांग्रेस के अहंकार ने अम्बेडकर का नाम मिटाने की कोशिश की, लेकिन जनता ने महामिलावटियों का सुपड़ा साफ कर उनके सरदार बनने के सपने को चूर-चूर कर दिया। ये बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बक्सर और सासाराम में आयोजित चुनावी सभाओं में कहीं। सासाराम में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं देश में सबसे अधिक समय तक मुख्यमंत्री रहा और उसके बाद आपके आशीर्वाद से पांच वर्षो से प्रधानमंत्री हूं। इसके बावजूद मेरी सम्पत्ति खुली किताब की तरह है। मोदी ने लोगों से अपील की कि 19 तारीख को वोट देने से पहले एक बार जरूर सोचें कि महागठबंधन के नेताओं ने गरीबों के लिए क्या किया और अपने परिवार के लिए क्या किया। उन्होंने कहा कि महामिलावटी लोगों ने सिर्फ गरीबों को ठगने का कार्य किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष के लोग टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़े हैं। यही लोग एयर स्ट्राइक का सबूत मांगते हैं। ऐसे लोगों को सबक सिखाने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों के शासनकाल में भ्रष्टाचार और घोटाला का बोलबाला रहा। किसानों व गरीबों का नुकसान हुआ, लेकिन उनका अंहकार कम होने का नाम नहीं ले रहा। मोदी ने कहा कि कांग्रेस का अहंकार ‘‘हुआ सो हुआ’ के रूप में सर चढ़कर बोलने लगा है। लोगों ने अब तय कर लिया है कि अब बहुत हो गया। उन्होंने कहा कि पांच वर्षों का मेरा कार्य सबके सामने है। बिहार को लालटेन से निकालकर एलईडी के युग में पहुंचा दिया। हम गांवों को जोड़ने के लिए सड़क बना रहे हैं और महामिलावटी लोग गांव-गांव के अंदर भेद पैदा करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि गरीब महिलाओं को रसोई गैस देकर धुएं से मुक्ति दिलाई। आयुष्मान भारत के तहत पांच लाख रपए का इलाज की व्यवस्था कर मैने सबके विकास का मार्ग प्रशस्त किया है। ऐसे गरीबों का आशीर्वाद मुझे प्राप्त है। बक्सर में पीएम बोले, चुनाव तय करेगा देश का विकास : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि यह चुनाव सिर्फ यह तय करने के लिए नहीं है कि कौन सा दल या गठबंधन जीतेगा बल्कि यह चुनाव तय करेगा कि आने वाले वर्षों में भारत कितनी तेजी से विकास करेगा। यह चुनाव 21 वीं सदी के हमारे बच्चों के भविष्य को तय करने वाला है। उन्होंने कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और उसके अन्य सहयोगी दलों को महामिलावटी संबोधित करते हुए कहा कि ये लोग भारत के विकास की बात नहीं करते हैं। उन्हें सिर्फ अपने हित की चिंता है गरीबों की नहीं। प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावटी लोग कुछ जातियां को गुलाम समझते हैं और सोचते हैं कि वे जैसे कहेंगे उस जाति के लोग वैसा ही करेंगे। ये लोग भूल रहे हैं कि जब देश की बात आती है तब हमसब पहले भारतीय होते हैं बाद में कुछ और। उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि ये वे लोग हैं जो दशकों तक गरीबों के नाम पर वोट और बड़े-बड़े पद हासिल किए लेकिन जब काम करने की बारी आई तो सबसे पहले वे गरीबों को ही भूल गये। ये लोग भी गरीबी से ही निकले थे लेकिन इन लोगों ने आज हजारों करोड़ की संपत्ति कर ली है। उसी आशीर्वाद के बल पर मैं दिन रात लोगों के सेवा में लगा हूं। उन्होंने कहा कि 2022 तक जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएगा, तब देश में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं होगा जिसका अपना पक्का मकान नहीं हो। उन्होंने कहा महा मिलावटी लोग बात तो किसानों कि करते हैं लेकिन किसानों के लिए कुछ नहीं किया। उत्तर कोयल परियोजना आधी सदी से लटकी पड़ी थी। दुर्गावती जलाशय परियोजना का भी वही हाल था, लेकिन पांच वर्षो में हमने अनेक सिंचाई परियोजनाओं को पूरा कर खेतों में पानी पहुंचाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान सम्मान निधी योजना का लाभ अब सभी किसानों को मिलेगा। इसमें अब जमीन की कोई सीमा नहीं रहेगी। मोदी ने कहा कि देश का विकास पूर्वी भारत के विकास से ही होगा। इसलिए अधारभूत संरचना के विकास पर मेरी सरकार ने सर्वाधिक जोर दिया है। उन्होंने कहा कि हल्दिया से गैस पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है, जिसका लाभ सासाराम व कैमूर को भी मिलेगा। इसके कारण बरौनी खाद कारखाना को फिर शुरू करने में मदद मिलेगी। 

 

यह भी पढ़े  रालोसपा के राष्ट्रीय और प्रदेश कमेटी के अधिकारियों ने छोड़ी पार्टी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here