तीसरे चरण में झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया लोकसभा सीट पर वोटिंग जारी

0
235

लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में बिहार के पांच सीटों पर मतदान जारी है. इन सीटों में झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया लोकसभा सीट शामिल है. निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से मतदान के लिए आयोग भी पूरी तरह से तैयार है. सुरक्षा को लेकर पूर्णिया और सहरसा जिले में एक-एक हेलीकॉप्टर और पटना में एक एयर एम्बुलेंस की भी व्यवस्था की गई है. आयोग के मुताबिक करीब 58,700 कर्मी चुनाव ड्यूटी पर तैनात हैं. संवेदनशील मतदान केंद्रों पर पर्यवेक्षक तैनात किए गए हैं. जबकि 162 मतदान केंद्रों से वेबकास्टिंग की जाएगी.

तीसरे चरण में सभी लोकसभा सीटों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हो गया है. मतदान शाम 6 बजे खत्म होगा. वहीं खगड़िया लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित सिमरी बख्तियारपुर, अलौली और बेलदौर विधानसभा क्षेत्र में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक निर्धारित किया गया है.

चुनाव अधिकारी संजय कुमार सिंह के मुताबिक इस चरण में कुल 89,092, 63 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे जिनमें 46,55,306 पुरुष मतदाता, 42,44,284 महिला मतदाता, 225 थर्ड जेंडर के मतदाता और 9,448 सेवा मतदाता शामिल हैं.

तीसरे चरण वाले संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार 21 अप्रैल को शाम 6 बजे खत्म हो गया था. इन संसदीय क्षेत्रों में कुल 82 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं. इनमें पांच महिला प्रत्याशी भी शामिल हैं.

झंझारपुर
झंझारपुर लोकसभा सीट से कुल 17 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं. मुख्य रूप से मुकाबला जेडीयू के रामप्रीत मंडल और आरजेडी के गुलाब यादव के बीच है लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी और पूर्व केंद्रीय मंत्री देवेंद्र प्रसाद यादव ने मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर बीजेपी के बीरेंद्र कुमार चौधरी ने चुनाव जीता था. त्रिकोणीय मुकाबले के आसार-झंझारपुर लोकसभा सीट पर जेडीयू के रामप्रीत मंडल और आरजेडी के गुलाब यादव के बीच मुकाबला माना जा रहै है. लेकिन देवेंद्र प्रसाद यादव के मैदान में आ जाने से मुकाबला कड़ा हो गया है. देवेंद्र यादव यहां से पांच बार सांसद रह चुके हैं.

यह भी पढ़े  लोजपा प्रमुख का दावत ए इफ्तार ,राम-लक्ष्मण की जोड़ी अटूट : रामविलास

सुपौल
सुपौल में 20 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला जेडीयू के बिलेश्वर कामत और कांग्रेस उम्मीदवार और निवर्तमान सांसद रंजीत रंजन के बीच है. आरजेडी की जिला इकाई रंजीत का विरोध कर रही है. आसान नहीं रंजीत रंजन की राह-सुपौल लोकसभा सीट से कुल 20 उम्मीदवार मैदान में हैं, लेकिन असली मुकाबला कांग्रेस की सांसद रंजीत रंजन और जेडीयू के दिलेश्वर कामत के बीच है. रंजीत रंजन महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं. जबकि कामत जेडीयू के टिकट पर एनडीए के उम्मीदवार हैं. दूसरी बार दोनों आमने-सामने हैं. पिछले चुनाव में रंजीत रंजन ने दिलेश्वर कामत को हराय दिया था.

अररिया
अररिया में कुल उम्मीदवारों की संख्या 12 है, पर यहां मुख्य मुकाबला आरजेडी प्रत्याशी और निवर्तमान सांसद सरफराज आलम और बीजेपी उम्मीदवार प्रदीप सिंह के बीच है.बीजेपी और आरजेडी का सीधा मुकाबला-अररिया लोकसभा सीट पर कहने को तो 12 प्रत्याशी मैदान में हैं, लेकिन यहां एनडीए की ओर से बीजेपी के प्रदीप कुमार सिंह और महागठबंधन की ओर से वर्तमान सांसद सरफराज आलम के बीच ही कड़ा मुकाबला माना जा रहा है. बीते उपचुनाव में सरफराज मे 60 हजार मतों के अंतर से जीत हासिल की थी.

यह भी पढ़े  बीजेपी ने जारी की 184 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, वाराणसी से मोदी और गांधीनगर से अमित शाह लड़ेंगे चुनाव

मधेपुरा
मधेपुरा में कुल 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, लेकिन आरजेडी के शरद यादव, जेडीयू के दिनेश चंद्र यादव और जनअधिकार पार्टी प्रत्याशी और निवर्तमान सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है. यदुवंशियों की जंग – यहां 13 उम्मीदवार मैदान में हैं, लेकिन मुकाबला तीन प्रमुख उम्मीदवारों के बीच माना जा रहा है. आरजेडी के शरद यादव, जेडीयू के दिनेश चंद्र यादव और वर्तमान सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के बीच है. पप्पू यादव ने आरजेडी के टिकट पर जेडीयू के उम्मीदवार शरद यादव को पटखनी दी थी. हालांकि इसबार मुकाबला थोड़ा बदला हुआ है. दरअसल पप्पू यादव आरजेडी छोड़ चुके हैं और शरद यादव जेडीयू छोड़ आरजेडी से मैदान में हैं. जबकि जेडीयू के दिनेशचंद्र यादव पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं.

खगड़िया
खगड़िया में कुल 20 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं. मुख्य मुकाबला एलजेपी उम्मीदवार और निवर्तमान सांसद महबूब अली कैसर और विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी के बीच है. खगड़िया:आंका जाएगा मुकेश सहनी का सियासी कद- खगड़िया के चुनावी समर में सन ऑफ मल्लाह के नाम से मशहरू मुकेश सहनी मैदान में हैं. वे महागठबंधन की ओर से विकासशील इंसान पार्टी के उम्मीदवार हैं. उनके सामने एलजेपी के महबूब अली कैसर मैदान में हैं. एलजेपी एनडीए का हिस्सा है और वीआईपी महागठबंधन का. ऐसे में मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है.

यह भी पढ़े  प्रकाशोत्सव पर तख्त हरिमंदिर जी में सजा विशेष दीवान

पांचों सीटों पर कुल 82 उम्मीदवार मैदान में हैं. इनमें मधेपुरा से वर्तमान सांसद पप्पू यादव, शरद यादव, सुपौल से रंजीत रंजन, अररिया से सरफराज आलम और खगड़िया से महमूद अली कैसर और मुकेश सहनी प्रमुख नाम हैं.
आज इन सभी क्षेत्रों की 9, 076 पोलिंग बूथों पर मत डाले जाएंगे. मतदान सुचारू रूप से हो इसके लिए कुल 58, 700 मतदानकर्मी प्रतिनियुक्त किए जाएंगे. चुनाव से संबंधित शिकायत के लिए कंट्रोल रूम का नंबर- 0612 2215978 और फैक्स 0612 2215611 है. वोटरलिस्ट में नाम खोजने के लिए निर्वाचन आयोग ने 1950 नंबर जारी किया है. इस पर डायल कर बूथ की जानकारी भी ली जा सकती है.

चुनाव वाले सभी पांच लोकसभा क्षेत्र को मिलाकर कुल 89, 0, 9, 263 वोटर हैं. इनमें पुरुष वोटर 46 लाख 55 हजार 306, महिला वोटर 42 लाख 44 हजार 284, थर्ड जेंडर वोटर 225, सर्विस वोटर 9, 088 और 9,448 सर्विस वोटर हैं.

तीसरे चरण के चुनाव में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. अमूमन हर बूथ पर अर्धसैनिक बल के जवान तैनात रहेंगे. इसके साथ ही इलाकों में घुड़सवार दस्तों और नाव से मोनिटरिंग की जाएगी. इसके साथ ही सहरसा और पूर्णिया में हेलीकॉटर और पटना में रहेगा एयर एम्बुलेंस की तैनाती रहेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here