नवादा में वोटों की सेंधमारी पर टिका है फैसला

0
363

नवादा के सियासी दंगल में इस बार सीधा मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है। एनडीए से लोजपा के चंदन सिंह और महागठबंधन से राजद की विभा देवी मैदान-ए-जंग में आमने-सामने हैं। दोनों ही राजनीति में अभी नए खिलाड़ी हैं।

एक तरफ जहां विभा देवी के सामने पति व बाहुबली नेता राजबल्लभ प्रसाद यादव की राजनीतिक विरासत संभालने की चुनौती है तो दूसरी तरफ सूरजभान सिंह व उनकी सांसद पत्नी वीणा देवी के भरोसे को बनाए रखना चंदन सिंह के लिए बड़ी जिम्मेदारी है। दोनों ही प्रत्याशी अपने-अपने कैडर वोट के बल पर एक दूसरे को चुनौती दे रहे हैं, लेकिन जिसने भी एक-दूसरे के वोटों में सेंधमारी की, यहां का सरताज वही बनेगा। नवादा लोकसभा सीट दोनों ही गठबंधनों के लिए कितना महत्वपूर्ण है, इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि यहां के चुनावी अखाड़े में सीएम नीतीश कुमार, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, रामविलास पासवान, गिरिराज सिंह, सुशील मोदी से लेकर विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, जीतनराम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा समेत कई दिग्गज कूद चुके हैं।

यह भी पढ़े  नवादा जेल में गूंज रहे छठ के गीत, महिला कैदी कर रहीं व्रत

बगल के जिला गया और जमुई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी रैली से भी यहां के वोटरों को प्रभावित करने का प्रयास किया जा चुका है। फिलहाल चुनावी तापमान चढ़ा हुआ है। जिस भी दल ने वोटों की अदला-बदली में सफलता पा ली, जीत उसके ही कदम चूमेगी।

विभा देवी
नवादा से राजद की प्रत्याशी हैं। इनके पति पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव से इन्हें राजनीति विरासत में मिली है।चंदन कुमार
चंदन(35) स्नातक हैं। 2007 से ये राजनीति में हैं। युवा लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव हैं। पूर्व सांसद सूरजभान के छोटे भाई हैं।

2014 का परिणाम
गिरिराज सिंह- भाजपा- 390,248
राज बल्लभ प्रसाद- राजद- 250,091
कौशल यादव- जदयू- 168,217

कुल मतदाता 18,92,017
पुरुष: 983065
महिला: 908871
थर्ड जेंडर : 59

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here