लोकसभा चुनाव 2019 : गया संसदीय क्षेत्र

0
175
गया लोकसभा सीट पर इस बार भी पुराने चेहरों के बीच मुकाबला होना तय माना जा रहा है. भाजपा की ओर से मौजूदा सांसद हरि मांझी और महागठबंधन से पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के उम्मीदवार बनने की चर्चा है.
2014 में दूसरे स्थान पर रहे राजद के रामजी मांझी को इस बार इंतजार करना पड़ सकता है. माना जा रहा कि महागठबंधन से इस बार गया सुरक्षित सीट से जीतनराम मांझी को उम्मीदवार बनाया जायेगा. जीतनराम मांझी पिछली दफा जदयू से उम्मीदवार थे.
चुनाव हार जाने के बाद ही उनकी किस्मत खुली और वह राज्य के मुख्यमंत्री बना दिये गये थे. इस बार भी मांझी किसी करिश्मे की उम्मीद में हैं. पिछली बार भाजपा को मिले वोटों की संख्या राजद और जदयू उम्मीदवारों को मिले कुल वोट से कम थी. भाजपा को त्रिकोणात्मक संघर्ष का लाभ मिला था. इस बार दोनों गठबंधनों के बीच आमने-सामने का मुकाबला होता दिख रहा है.
परिसीमन के बाद सामाजिक समीकरण भी बदल गये 
गया संसदीय (सुरक्षित) क्षेत्र के परिसीमन के बाद सामाजिक समीकरण भी बदल गये हैं. वर्तमान में इस सीट पर लगातार दो बार से भाजपा के सांसद हरि मांझी कायम हैं.
इस बार के लोकसभा चुनाव में भी गया संसदीय क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार का टक्कर महागठबंधन के उम्मीदवार से ही हाेगा. महागठबंधन में राजद चूंकि कई बार जीतता रहा है, इसलिए उम्मीदवारी का दावा राजद कर सकता है. लेकिन, महागठबंधन में हिंदुस्तानी आवाम माेर्चा (सेक्युलर) ‘हम’ के शामिल हाेने से वाेट बैंक की वजह से वह उम्मीदवारी का दावा कर रहा है.
 
इस सीट में शामिल हैं ये विस क्षेत्र
गया संसदीय क्षेत्र में छह विधानसभा क्षेत्र आते हैं.  इनमें बाराचट्टी, शेरघाटी, बाेधगया, वजीरगंज, गया शहर व बेलागंज विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं. गया संसदीय क्षेत्र में अब दलित, पिछड़े, सवर्ण व मुस्लिम निर्णायक वाेट बैंक हैं.
यह भी पढ़े  तेजस्वी के नाम पर महागठबंधन में बवाल, तीन पार्टियां बोलीं- शरद यादव को बनाएं CM चेहरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here