निर्भीक पत्रकार और सच्चे कम्युनिस्ट थे यूएन मिश्रा

0
214
PATNA JANSHKTI PRESS MEIN KAMRATE U N MISHRA KA SERDHANJALI SABHA

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के पूर्व सदस्य व जनशक्ति के पूर्व संपादक यूएन मिश्रा को रविवार को शोकसभा आयोजित कर श्रद्धांजलि दी गयी। मार्क्‍सवादी चिंतक, लेखक और पत्रकार यू़एन मिश्र का देहांत 12 दिसम्बर को हो गया था। श्रद्धांजलि सभा में बड़ी संख्या में लोगों ने यू़एन मिश्र के चित्र पर फूलमाला चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।शोकसभा को संबोधित करते हुए भाकपा के राष्ट्रीय सचिव के नारायणा ने कहा कि यूएन मिश्रा निर्भिक पत्रकार और सच्चे कम्युनिस्ट थे। उनके निधन से पार्टी को काफी क्षति हुई है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार और प्रधानमंत्री कार्यालय जिस तरह देश की लोकतांत्रिक और स्वायत्त संस्थाओं में हस्तक्षेप कर रहे हैं, वह भारतीय लोकतंत्र के लिए बहुत बड़ा खतरा है। उन्होंने कहा कि सबरीमाला मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का भारतीय जनता पार्टी विरोध कर रही है। वहीं अयोध्या में राम मंदिर के मामले में सरकार पर दवाब बना रही है कि वह जन भावना के आधार पर फैसला करे। उन्होंने कहा कि एक तरफ देश में लोग भूख से मर रहे हैं, दूसरी ओर करोड़पति के मामले में देश दुनिया में तीसरे नम्बर पर है। एनपीए के मामले में भी यह देश दुनिया में तीसरे नम्बर पर है। श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता करते हुए भाकपा के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने कहा कि यू़एन मिश्र सच्चे कम्युनिस्ट, कुशल लेखक, पत्रकार और मार्क्‍सवादी चिंतक थे। वे छात्र जीवन में ही मार्क्‍सवाद और कम्युनिस्ट के प्रभाव में आ गए। पढ़ाई पूरी करने के बाद सरकारी नौकरी में चले गये लेकिन बीच में ही उन्हें नौकरी छोड़ देनी पड़ी। पार्टी के राज्य नेतृत्व ने उन्हें दैनिक जनशक्तिमें काम करने के लिए पटना बुला लिया। श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में माकपा के राज्य सचिव अवधेश कुमार, भाकपा माले के केडी यादव, एसयू़सीआई (सी) के मणिकांत पाठक, फार्वड ब्लॉक के अमरीका महतो, राजद के देवमुनी सिंह यादव, समाजवादी पार्टी के भगवान प्रभाकर, लोकतांत्रिक जनता दल के संतोष यादव, आलोचक खगेन्द्र ठाकुर, डॉ. ब्रज कुमार पांडेय, विधान पार्षद केदार नाथ पांडेय, प्रो. अरुण कुमार, प्रगति लेखक संघ की ओर से राजेन्द्र राजन, खेत मजदूर यूनियन के जानकी पासवान, ऑल इंडिया तजीमें इन्साफ के मो.जब्बार आलम, यू़एन मिश्र के बड़े पुत्र वीरेंद्र कुमार मिश्र आदि शामिल हैं।

यह भी पढ़े  तेजस्वी ने सीएम नीतीश से पूछा-आदरणीय चाचा जी, बताइए, मौत किसे कहते हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here