भाजपा ने की सुप्रीम कोर्ट व संसद की अवमानना : कौकब

0
234

बिहार प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने भाजपा के 70 प्रेस कॉन्फ्रेंस पर चुटकी लेते हुए कहा कि चोर की दाढ़ी में तिनका स्पष्ट दिखने लगा। तभी सर्वोच्च न्यायालय को झूठी रिपोर्ट व दस्तावेज सौंपने वाली सरकार आज अपना गला फंसता देख न्यायालय में सुधार की अर्जी लगाने गयी।भाजपा अगर ईमानदार होती तो एक साथ 70 जगह से प्रेस को संबोधित नहीं करना पड़ता। झूठ को बारबार व जोर से बोल सच बनाने की गोयबल्स योरी पर ही पूरी भाजपा व आरएसएस चलती है। सीएजी रिपोर्ट और पीएसी को राफेल की कीमत पर जानकारी देने जैसा झूठ बोल हलफनामा भी न्यायालय में देना न्यायालय की भी अवमानना है और संसद की भी। राफेल मामला कार्यपालिका प्रमुख द्वारा लिया गया फैसला था, जिसके कई हिस्से पर न्यायालय टिप्पणी नहीं कर सकता। इसलिए कांग्रेस जैसी अनुभवी पार्टी न्यायपालिका में नहीं गयी। राफेल जैसे घोटाले की जांच करने के लिए संसद की संयुक्त संसदीय समिति ही अधिकृत एजेंसी है। यही कारण है कि कांग्रेस जेपीसी की मांग कर रही है पर घोटाले में अच्छे से फंसी मोदी सरकार जेपीसी से भाग रही है। यदि नरेंद्र मोदी ने घोटाले नहीं किये तो उनको जेपीसी से डर क्यों लगता है। जहां उनके ही अधिक सदस्य होंगे तब भी डर लगना कुछ ना कुछ तो कहता है। कांग्रेस राफेल मामले पर जेपीसी करवा के ही मानेगी। प्रधानमंत्री जी हीलाहवाला कर बच नहीं सकते। वहीं प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सरोज तिवारी ने भाजपा से कुछ प्रश्न किये हैं। भाजपा नीत मोदी सरकार ने देश के साथ धोखा करते हुए 126 की जगह 36 राफेल खरीदने का फैसला किया, ये सही कैसे हो सकता है? 526 करोड़ का राफेल 1670 करोड़ का कैसे हो सकता है? एचएएल की जगह 10 दिन पुरानी कम्पनी क्यों चुनी गई? निजी उद्योगपति की कम्पनी बनने से पहले ही डील कैसे तय हो गयी इत्यादि प्रश्न अनुत्तरित हैं। इनका जवाब सिर्फ जेपीसी से ही मिल सकता है।

यह भी पढ़े  खत्म किए जा रहे ट्रेड यूनियन के अधिकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here