पर्यटन स्थल बन सकता है किशनगंज : मुख्यमंत्री

0
381

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि किशनगंज को पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र के रूप में विकसित किया जा सकता है। श्री कुमार ने बुधवार को यहां पोठिया प्रखंड के अर्राबाड़ी स्थित डॉ. कलाम कृषि महाविद्यालय के नवनिर्मित प्रशासनिक भवन का उद्घाटन एवं शिलापट्ट का अनावरण करने के बाद कहा कि कॉलेज का स्थल बहुत ही उत्तम है। बगल में महानंदा नदी है, यहां का वातावरण भी मनोरम है। उन्होंने कहा कि किशनगंज को भी पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र के रूप में विकसित किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाविद्यालय की चहारदीवारी के किनारे-किनारे पेड़ लगाने की जरूरत है ताकि यह क्षेत्र हरा-भरा दिखे। यहां की जमीन को जल्द से जल्द समतल कराया जाए। उन्होंने कहा कि इस परिसर में बड़े-बड़े तालाब बनवाने की जरूरत है। पांच एकड़ के तालाब में सौर संयंत्र लगाएं, जिसमें नीचे मछली का उत्पादन हो और ऊपर सौर ऊर्जा का उत्पादन हो। उन्होंने कहा कि इस परिसर में जितने भी भवन बने हैं, उनकी छत पर सोलर प्लेट लगवाया जाए। यहां से उत्पादित होने वाली बिजली की खपत इस परिसर में हो और बची हुई बिजली को ऊर्जा विभाग के माध्यम से उपभोक्ताओं को भी दिया जा सकता है। श्री कुमार ने सौर ऊर्जा की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि यहां बनाए जाने वाले तालाब में पानी भरने के लिए सोलर पम्प ही लगवाया जाए। उन्होंने कहा कि पशुपालन के लिए बनाए जाने वाले महाविद्यालय के लिए संयंत्र को और बड़ा बनाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यहां पर ड्रैगन फ्रूट के उत्पादन में वृद्धि हो ताकि उसका निर्यात किया जा सके। यहां के किसानों का रुचिकर फल है पाईन एप्पल, इसलिए इसे भी विकसित किया जाए।

यह भी पढ़े  किसानों के मुद्दे पर आपस में ही उलझ गये राजद के दो सदस्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here