राजधानी में वर्षो से जमे पुलिस इंस्पेक्टरों का नहीं हुआ तबादला

0
227

जोनल आईजी ने जोन ट्रांसफर में 870 पुलिसकर्मियों का तबादला दूसरे स्थानों पर किया है। इस तबादले में वैसे अधिकारी भी आ गये जिनकी अभी जोन की अवधि पूरा नहीं हो सकी। ऐसे अधिकारी पटना और दूसरे जिले में हैं। सूची बनाने वालों की गलती क हें या अनदेखी कि पटना के ही आधा दर्जन से अधिक इंस्पेक्टर ऐसे हैं जो दस वर्ष से अधिक अवधि से पटना में जमे हैं और उनका सूची में कहीं नाम ही नहीं है। इस संबंध में जोनल आईजी से संपर्क का प्रयास किया गया लेकिन नहीं हो सका। पटना प्रक्षेत्र में काफी दिनों से जमे पुलिसकर्मियों का तबादला जोनल आईजी नैयर हसनैन खान ने किया है। तबादले में ऐसे भी पुलिसकर्मी का नाम है जो वर्तमान पदस्थापित जिले में कुछ ही वर्ष या माह पूर्व आए लेकिन उनका नाम तबादले की सूची में है। उन्हें पटना व अन्य जिले से बाहर का रास्ता दिखाया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक सूची बनाने वालों ने सघनता से सूची तैयार नहीं की और यही कारण है कि कई स्थानों पर अल्पावधि होने के बावजूद उन्हें स्थानांतरित कर दिया। सूत्रों के मुताबिक अन्य जिले की बात छोड़ दें। पटना में ही ऐसे थानेदार हैं जो कुंडली मारकर दस वर्षो से अधिक पटना में थानेदारी कर रहे हैं। ऐसे थानेदारों पर कोई कार्रवाई करना तो दूर उनका जिक्र भी तबादले की सूची में डालने का काम नहीं किया गया। सूत्र बताते हैं कि या तो पुलिस कार्यालय लिस्ट बनाने वाले ने कमाल किया है या फिर पैरवी और पहुंच के कारण उन लोगों का नाम सूची में नहीं है।

यह भी पढ़े  संक्रांति पर मनाया परिवार मिलन समारोह

थानेदारों में कई पटना में दस वर्षो से हैं जमे
बुधवार को पुलिस निदेशालय ने नया फरमान जारी किया है कि दक्ष और कार्यशील को ही थानेदारी सौंपी जाएगी। इसके अलावा वे व्यवहार कुशल को ही थाने की कमान सौपेंगे। राजधानी के ही थानेदारों में कुछ ऐसे भी थानेदार हैं जिन पर शराब माफिया को बचाने का जहां आरोप लग चुका है तो कई पर फरियादियों व अपने सहकर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार करने का मामला सामने आया है। कुछ थानेदारों ने अपने सहकर्मियों के साथ हाथापाई भी कर दी। दूर जिले की बात छोड़ दें राजधानी में ही कई पुलिस अधिकारियों ने फरियादी को गाली देकर थाने से भगा दिया। वरीय अधिकारी से शिकायत भी की गयी लेकिन ऐसे थानेदारों पर कार्रवाई नहीं की गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here