INDvsWI : विराट कोहली के इस साल के कैलेंडर ईयर के 1000 रन पूरे

0
224

राजकोट: भारत और वेस्टइंडीज के बीच राजकोट में चल रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन के पहले सत्र में ऋषभ पंत के आउट होने के बाद लंच तक टीम इंडिया का स्कोर 506 रन हो गया था. विराट कोहली (120) और रवींद्र जडेजा (19) ने मिलकर टीम का स्करो 117वें ओवर में 500 रन कर दिया. भारत: 506/5 (118 ओवर)

ऋषभ पंत अपना शतक बनाने से चूक गए जब वे 92 रन के निजी स्कोर पर देवेंद्र विशु की गेंद पर कीमो पॉल को बैकवर्ड पाइंट पर कैच दे बैठे. पंत ने तूफानी पारी खेली और 8 चौके और चार छक्के लगाए. पंत ने विराट के साथ 133 रनों की अहम साझेदारी की. भारत: 473/5 (10 ओवर)
विराट कोहली ने अपने करियर का 24वां शतक चौके के साथ पूरा किया. बतौर कप्तान विराट का यह 17वां शतक है. इस मामले में उन्होंने एलन बॉर्डर, स्टीवन स्मिथ और स्टीव वॉ को पीछे छोड़ा.इन तीनों ने ही बतौर कप्तान 15 शतक लगाए हैं. विराट के बाद अब ऋषभ पंत (88) भी अपने शतक के ओर जा रहे थे भारत: 465/4 (107 ओवर)

यह भी पढ़े  Birthday: फिल्मी कहानी से कम नहीं है इशांत शर्मा की लव स्टोरी

ऋषभ पंत ने अपने अर्द्धशतक के बाद ताबड़तोड़ खेल जारी रखते हुए कप्तान विराट के साथ अपनी शतकीय साझेदारी पूरी कर ली. पारी के 103वें ओवर में ऋषभ ने छक्के के साथ दोनों के बीच शतकीय साझेदारी पूरी कर ली. भारत: 440/4 (103 ओवर)

ऋषभ पंत ने छक्का लगाकर अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की. पारी के 101वें ओवर में ऋषभ ने कीमो पॉल के ओवर की पहली ही गेंद पर पहले चौका लगाया और फिर अगली ही गेंद पर छक्का लगाकर विराट कोहली के शतक से पहले ही अपना अर्द्धशतक पूरा कर लिया. विराट कोहली (89) भी अब अपने शतक के करीब पहुंच गए है. भारत: 417/4 (101 ओवर)

96 ओवर में टीम इंडिया के 400 रन पूरे हो गए हैं. विराट कोहली (88) अपने शतक की ओर जा रहें हैं और उनका साथ ऋषभ पंत (37) दे रहे थे. भारत: 400/4 (96 ओवर)

विराट ने किए भारत में 3000 टेस्ट रन पूरे
दिन के चौथे ओवर में ही जब विराट ने शेरमन गैब्रियल की गेंद पर चौका लगाया, विराट ने भारत में अपने टेस्ट करियर के 3000 रन पूरे कर लिए. विराट ने यह उपलब्धि केवल 53 पारियों में हासिल की. विराट के अलावा चेतेश्वर पुजारा ने भी भारत में केवल 53 पारियों में 3000 रन बनाए. विराट पुजारा के बाद सचिन तेंदुलकर ने 55 पारियों में, मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 56 पारियों में, वीरेंद्र सहवाग ने 59 पारियों में और गावस्कर के साथ दिलीप वेंगसरकर ने 64 पारियों में 3000 रन बनाए थे. भारत: 383/4 (93 ओवर)

यह भी पढ़े  टीम इंडिया का कोच के चयन के समय विराट को पूरा हक : गांगुली

म इंडिया वेस्टइंडीज को कम से कम 500 से ज्यादा का लक्ष्य देने की कोशिश करना चाह रही है. मैच के पहले ही दिन अपने पहले ही टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले पृथ्वी शॉ (132), चेतेश्वर पुजारा (86) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 72) की शानदार पारियों के दम पर अपनी पहली पारी में चार विकेट के नुकसान पर 364 रनों का मजबूत स्कोर बना लिया था.

पहले दिन पृथ्वी ने बनाए कई रिकॉर्ड
इस सत्र में पृथ्वी ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ते हुए एक नई उपलब्धि अपने नाम की. वह पदार्पण मैच में शतक लगाने वाले चौथे सबसे युवा बल्लेबाज बन गए. इसके अलावा, वह भारत के 15वें बल्लेबाज हैं जिन्होंने अपने पहले टेस्ट मैच में शतक लगाया है. इसके अलावा उन्होंने सबसे तेजी से पहला टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरा स्थान प्राप्त किया है. पृथ्वी ने 99 गेंदों में अपना शतक पूरा किया. उनसे पहले शिखर धवन ने 2013 में मोहाली में आस्ट्रेलिया के खिलाफ 85 गेंदों में शतक लगाया था, वहीं दूसरे स्थान पर शामिल ड्वेन स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2004 में 93 गेंदों में अपना पहला टेस्ट शतक जड़ा था.

यह भी पढ़े  आखिरी गेंद पर दिनेश कार्तिक ने जड़ा सिक्स, टीम इंडिया बनी ट्राई सीरीज की चैम्पियन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here