कोतवाली के पास शहाबुद्दीन के शूटर को मस्जिद से निकलते वक्त छह गोलियां दागीं

0
302
Patna-Sep.21,2018-Patna police officers are watching the situation after killing of shooter of Shahabuddin by arms criminals near Patna Museum.
Patna-Sep.21,2018-Patna policemen are carrying dead body of shooter of Shahabuddin after killed by arms criminals near Patna Museum.

राजधानी में शुक्रवार को कोतवाली थाने की दीवार के पास ही दो हमलावरों ने तबरेज उर्फ तब्बू (30) नामक एक शख्स पर गोलियों की बौछार कर उसे मौत के घाट उतार डाला। घटना दिन के 3.30 बजे की है। पुलिस के मुताबिक तब्बू के शरीर में छह गोलियां दागी गयी हैं। वह पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का खास शूटर था। बताया जाता है कि हमलावर पहले से वहां घात लगाए खड़े थे, जबकि तब्बू नमाज पढ़कर कोतवाली मस्जिद से निकल रहा था। उसी वक्त हमलावरों ने इस वारदात को अंजाम दे डाला। पुलिस के मुताबिक तबरेज उर्फ तब्बू मूलत: जहानाबाद के गड़ेरिया खांड का रहने वाला था। पटना के फ्रेजर रोड स्थित ग्रांड चंद्रा में वह पत्नी और एक बच्चे के साथ फ्लैट नंबर 302 में रहता था। उसके खिलाफ पटना, जहानाबाद और धनबाद में हत्या लूट और अपहरण के कई मामले दर्ज हैं। हत्या के पीछे फुलवारीशरीफ स्थित एक जमीन से जुड़ा विवाद बताया गया है। मृतक की पत्नी के बयान पर आधा दर्जन से अधिक बदमाशों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। मौके से पुलिस को कारतूस के चार खोखे मिले हैं। पुलिस सूत्रों व प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तबरेज की सफारी गाड़ी कोतवाली थाने की दीवार से सटे गैस गोदाम के सामने लगी थी। कोतवाली थाने के समीप स्थित मस्जिद से नमाज पढ़कर वह अपनी गाड़ी के पास पहुंचा था। वहीं, थाने के गेट के समीप एक हमलावर हेलमेट पहनकर स्कू टी पर बैठा था। उसने अपनी नाक पर प्रदूषण मास्क भी लगा रखा था। तबरेज अपनी गाड़ी के पास पहुंच कर दरवाजे को खोल रहा था कि उसी वक्त हमलावरों ने उस पर गोलियां दागनी शुरू कर दीं।

यह भी पढ़े  संसद में अपने दम पर संविधान संशोधन विधेयक पास नहीं करा पाएगी मोदी सरकार
Patna-Sep.21,2018-Patna police officers are watching the situation after killing of shooter of Shahabuddin by arms criminals near Patna Museum.

पटना पुलिस लाख दावे कर ले लेकिन कुछ घटनाएं यहां बयां कर रही हैं कि राजधानी में सब कुछ ठीक नहीं है। पुलिस की व्यवस्था लचर ही नहीं बल्कि कई स्तरों पर खामियां हैं। शुक्रवार को कोतवाली थाने के समीप हुयी तबरेज की हत्या ने कई ऐसे सवाल खड़े कर दिये जिसने पटना पुलिस को कठघरे में लाकर खड़ा कर दिया। वीवीआईपी मूवमेंट और मुहर्रम को लेकर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था के बीच शहर के बीचोबीच और थाने के ठीक सटे हुयी इस वारदात ने जनता के जेहन में सुरक्षा को लेकर कई सवाल छोड़ दिये। लोग पुलिसिया सुरक्षा को लेकर कई तरह के सवाल कर रहे हैं। थाने के निकट यह चौथी वारदात है। इससे पूर्व हत्या, लूट की कई वारदातें थाने के निकट हो चुकी हैं।

परिजनों की मानें तो कोतवाली पुलिस यदि तबरेज पर चार माह पूर्व हुए जानलेवा हमले में शामिल बदमाश को दबोच लेती तो शायद हत्या को अंजाम नहीं दिया जाता। तबरेज के परिजन के मुताबिक चार माह पूर्व तबरेज पर गोलियां चली थीं। वह भी कोतवाली थाने के निकट। तबरेज ने अपने साथी के साथ भागकर कोतवाली थाने पहुंचकर अपनी जान बचायी थी। परिवार के लोग पुलिस अधिकारियों को बता रहे थे कि फायरिंग की उस घटना में रूमी मल्लिक का नाम दिया गया था। उसके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट थाने में पड़ा है, पुलिस उसे नहीं गिरफ्तार कर सकी। इस संबंध में इंस्पेक्टर रामाशंकर प्रसाद से संपर्क कर जानकारी लेने का प्रयास किया गया लेकिन इंस्पेक्टर बार-बार फोन काट दे रहे थे। डीएसपी, कोतवाली मनोज सुधांशु ने बताया कि वे उस मामले की फाइल देखरहे हैं कि वारंट का तामिला क्यों और कैसे नहीं किया गया। कोतवाली थाने की दीवार से सटे हुई यह चौथी वारदात है लेकिन पटना पुलिस अपनी व्यवस्था को कारगर नहीं बना पा रही है।

यह भी पढ़े  सेना का सम्मान कब सीखेंगे राहुल गांधी? इन मौकों पर भी उठा चुके हैं सेना के शौर्य पर सवाल

इससे पूर्व कदमकुआं थाने के ठीक सामने एक ट्रेनर पर गोलीबारी में सहरसा निवासी छात्र मारा गया और एक ट्रेनी छात्रा के पिता के पैर में गोली लगी थी। कदमकुआं के ओडी ऑफिसर को मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया था। कदमकुआं थाने के पहले पीरबहोर थाने के समीप सब्जीबाग में दिनदहाड़े एक बदमाश वकील अहमद की गोली मारने के बाद चाकू से गोद कर हत्या कर दी गयी थी। सचिवालय थाने के ठीक पीछे योजना विभाग के अधिकारी राजीव कुमार सिंह की डकैती के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।

यह दीगर बात है कि पुलिस ने वारदात में शामिल बदमाशों को दबोचा लेकिन सवाल यह है कि पुलिस अपराधियों की सक्रियता पर नियंतण्रनहीं पा रही है। निरोधात्मक कार्रवाई की दिशा में अधिकारी सजग नहीं हैं। वरीय अधिकारी अपने मातहतों की व्यवस्था पर कड़ाई से निगरानी नहीं कर रहे और यही कारण है कि पुलिस की लापरबाह व्यवस्था का लाभ उठाकर बदमाश इस तरह की वारदातों को अंजाम देने में कोई गुरेज नहीं कर रहे।

फुलवारी की जमीन को लेकर विवाद में हत्या होने की बात आ रही सामने : एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक तबरेज का आपराधिक इतिहास रहा है। वह शहाबुद्दीन का शूटर रहा है। उसके खिलाफ धनबाद में फहीम खान के घर गोलीबारी के साथ ही धनबाद के कई अपहरण, हत्या के मामले थे। धनबाद में फहीम खान पर गोलीबारी के अलावा पटना सिटी में मनोज कमलिया की हत्या में भी वह शामिल था। फहीम खान के घर गोलीबारी के क्रम में भागने के दौरान पुलिस मुठभेड़ में उसका साथी मारा गया था। उसके खिलाफ जहानाबाद और पटना में भी कई मामले दर्ज हैं। एसएसपी के मुताबिक फुलवारी के नौसा में एक जमीन को लेकर तबरेज की हत्या की बात सामने आ रही है।

यह भी पढ़े  स्कूटर,बस, प्लेन किसी भी तरह वाजपेयी को अंतिम विदाई देने के लिए दिल्ली पहुंचे लोग

उसकी पत्नी के बयान पर आधा दर्जन से अधिक लोगों को नामजद किया गया है।  कोतवाली पुलिस ने बताया कि, बताया गया है कि घटना में चाकं द निवासी और बर्तमान में कुलहड़िया कॉप्लेक्स निवासी बिल्डर अंजार, सब्जीबाग निवासी डब्लू मुखिया, बेला चांकद निवासी रूमी मल्लिक, वसीम, तारीक और फारूख की मिलीभगत से परिजनों ने हत्या की बात बतायी है।

बाइक पर आये थे बदमाश पटना। स्थानीय लोगों के मुताबिक स्कूटी पर सवार बदमाश ने थाने के गेट की ओर से सिन्हा लाइब्रेरी रोड में खड़े अपने साथियों को इशारा किया। उसके बाद उस रास्ते बाइक सवार बदमाश तबरेज की गाड़ी के पास पहुंचे और उसपर ताबड़तोड़ फायरिंग करनी शुरू कर दी। गोली लगते ही तबरेज जमीन पर ढेर हो गया। कुछ युवकों ने हमलावरों को खदेड़ा लेकिन बदमाश मौके से फरार हो गये। इधर स्कूटी सवार बदमाश भी वहां से गायब हो गया। स्थानीय लोगों ने पुलिस को खबर की और पुलिस अपनी गाड़ी पर लादकर तबरेज को पीएमसीएच ले गयी जहां पहुंचते ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। कोतवाली के पास हत्या की खबर मिलते ही एसएसपी मनु महाराज, सिटी एसपी अमरकेश डी, डीएसपी मनोज सुधांशु पहुंचे। पुलिस टीम ने मौके से चार खोखे बरामद किये। पुलिस ने मौके पर लोगों से घटना की जानकारी ली। कुछ लोगों से पूछताछ करने की भी जानकारी मिली है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here