जेम’ के जरिये अब तक 46.7 करोड़ की खरीद

0
229

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार में जेम (गवम्रेट ई मार्केट प्लेस) पोर्टल पर 1239 विक्रेता निबंधित हैं। विभिन्न विभागों की ओर से अब तक 46.7 करोड़ की खरीद की गयी है। करीब 50 करोड़ की खरीद प्रक्रियाधीन है। सचिवालय और उससे जुड़े विभागों में खरीद के लिए जेम (जेईएम) की शुरुआत अप्रैल में की गयी थी। पुराना सचिवालय स्थित सभागार में ‘‘नेशनल मिशन ऑन जेम’ का औपचारिक शुभारंभ करते हुए श्री मोदी ने कहा कि बदलाव को स्वीकार करने की जरूरत है। यह जमाना ऑनलाइन का है। 2017 में मेट्रो में जहां 3.60 करोड़ लोगों ने ई-कॉमर्स का उपयोग किया वहीं टीयर टू के शहरों में ऑनलाइन खरीद करने वालों की संख्या 3.70 करोड़ रही। शहरों में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 29 करोड़ है तो ग्रामीण क्षेत्रों में 18 करोड़ है जबकि शहरी इंटरनेट उपभोक्ताओं की संख्या में 9 प्रतिशत की वृद्धि की तुलना में ग्रामीण उपभोक्ता की वृद्धि दर 13 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि जेम के अंदर किसी आपूत्तर्िकर्ता द्वारा ऑर्डर स्वीकार करने के बाद आपूत्तर्ि से इनकार करने पर उसे ब्लैकलिस्टेड करने, निजी खरीद की भी सुविधा देने, साइबर क्राइम और फर्जीवाड़ा रोकने के लिए फ्रॉड इंटेलिजेंस मैकेनिज्म आदि का प्रावधान होना चाहिए। जेम के एडीशनल सीईओ सुरेश कुमार ने पीपीपी के जरिये जेम के बारे में विस्तार से जानकारी दी।कार्यक्रम में वित्त विभाग के प्रधान सचिव सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।कार्यक्रम में आईजी प्रॉविजन, केके सिंह ने क्रेता के तौर पर अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि पुलिस विभाग ने जेम के जरिये छह करोड़ रुपये के वाहन की खरीद की है जिसमें प्रति वाहन जहां 75 हजार रुपये तक की बचत हुई। वहीं 20 दिन से एक महीने के अंदर आपूत्तर्ि और भुगतान की सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गयी। वहीं कृष्णा एजेंसी के नवीन गुप्ता ने विक्रेता के रूप में अपना अनुभव बताते हुए कहा कि जेम पोर्टल के जरिये सामान की आपूत्तर्ि की प्रक्रिया काफी सरल और पारदर्शी है। पिछले छह महीने में उन्होंने बिना किसी भागदौड़ के अपने ऑफिस में बैठ कर करीब 70 लाख का आपूत्तर्ि आदेश प्राप्त किया। भुगतान भी नियत समय पर हो जा रहा है।

यह भी पढ़े  संसद के शीतकालीन सत्र का पांचवा दिन :आज प्रदूषण समेत कई अमह मुद्दों पर होगी बहस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here