सक्रिय हुआ मानसून अभी और होगी बारिश, झमाझम बारिश से शहर के कई इलाकों की सड़कें पूरी तरह डूबीं

0
189
BIRLA MANDIR SUBZI BAGH

नगर निगम के दावे एक-एक कार फेल हो रहे हैं। आर्थिक वदहाली से उवरने और पटना को स्मार्ट सिटी बनाने में ऊर्जा झोंकने वाला नगर निगम राजधानी को जल जमाव से निजात नहीं दिला सका। कहने को जल निकासी के लिए नाला उड़ाही के नाम पर दो वर्ष के भीतर करीब 14 करोड़ रपए वहा दिए गए, लेकिन निगम को टैक्स अदा करने वाली आबादी को इस समस्या से निजात नहीं मिली। सोमवार की सुबह में हुई झमाझम बारिश के कारण शहर के कई इलाके की सड़कें पूरी तरह डूब गई। नाला जाम होने के कारण पानी निकलने में दोहपर बीत गया। यानी लोगों की जिंदगानी पानी के बीच फंसी रही। रामगुलाम चौक का व्यस्त इलाका और इससे जुड़े एक्जीविशन रोड में जल जमाव के कारण दुकानदारों और आम राहगीरों को भारी फजीहत झेलनी पड़ी। यही हाल मौर्या होटल के पास का था। ठाकुरबाड़ी रोड के नाले के भी जाम होने के कारण सड़कें लबालब पानी से भर गई। पटना जंक्शन रोड में पानी भर गया, वहीं फ्रेजर रोड और राजेन्द्र नगर की सड़कें भी दोपहर तक पानी से भरी रही। जहां से पानी निकला वहां कीचड़ फैला। मीठापुर बस स्टैंड रोड में निर्माण कार्य जारी रहने के कारण स्थिति और भी बदतर हो गई। अंटाघाट, गांधी मैदान, रामलखन पथ समेत शहर के अन्य निचले इलाकों में भी बारिश का पानी दोपहर तक जमा रहा। एक ओर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का घर-घर में आयोजन हो रहा है तो दूसरी ओर सड़कों पर जलजमाव है।

यह भी पढ़े  सीएम ने गंगा ब्रिज सहित चार पुलों का किया हवाई सव्रे

राजधानी समेत सूबे के विभिन्न जिलों में रविवार की देर शाम से हो रही मूसलधार बारिश के बाद मौसम में मिठास आ गई है। बारिश की वजह से इन दिनों यहां सामान्य से भी तीन – चार डिग्री सेल्सियस कम तापमान दर्ज किया जा रहा है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों के पूर्वानुमान में कहा है कि राज्यभर में इन दिनों मानसून सक्रिय है तथा अभी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। भादो का महीना मूसलधार बारिश के लिए जाना जाता है। इस वर्ष भी भादो आते ही यहां का मौसम सुहावना हो गया है। भादो के पहले दिन से ही राजधानी समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों में बारिश का सिलसिला जारी है। हालांकि रविवार को दिनभर आसमान में हल्के बादल छाये रहे तथा लेकिन बारिश नहीं हुई। इस बीच लोगों को भीषण उमस भरी गर्मी का सामना भी करना पड़ा, लेकिन शाम होते – होते बूंदा -बांदी शुरू हो गई तथा देर शाम तक मूसलधार बारिश शरू हो गई। सोमवार को भी दिनभर रुक-रुक कर बारिश होती रही। इस दौरान यहां के मौसम में भी मिठास आ गई है। मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 30 तथा न्यूनतम तापमान 25.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भागलपुर का अधिकतम तापमान 33.6 तथा न्यूनतम तापमान 26.5 तथा गया का अधिकतम 30.8 तथा न्यूनतम तापमान 24.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सितम्बर माह में राजधानी का सबसे गर्म दिन 20 तारीख को 1968 में रहा था। जब तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं, न्यूनतम तापमान 29 सितम्बर, 1972 को 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। इसी तरह सितम्बर में एक दिन में सबसे अधिक बारिश का रिकार्ड 1968 में दर्ज किया गया था। जब 20 तारीख को 24 घंटों में 273.5 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई थी। इसी तरह सितम्बर माह में सबसे ज्यादा 1953 को मॉनसून मेहरबान रहा। इस साल सितम्बर माह में 636.3 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई। यह रिकार्ड अब भी बरकरार है।

यह भी पढ़े  दिव्यांगों को हर सुविधा देने को सरकार संकल्पित : रामकृपाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here