आईएएस व आईपीएस अफसरों की जांच में पास हुए 18 थाने

0
240

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गृह सचिव व पुलिस महानिदेशक की उपस्थिति में भारतीय प्रशासनिक व पुलिस सेवा के 18 अधिकारियों ने लिया पटना शहर के विभिन्न थानों की कार्यशैली का जायजा, आम लोगों की तरह काल्पनिक शिकायत लेकर पहुंचे तो थाने पर मौजूद पदाधिकारियों/ कर्मियों ने शिकायतों को गंभीरतापूर्वक सुना 

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गृह सचिव तथा पुलिस महानिदेशक की उपस्थिति में भारतीय प्रशासनिक तथा पुलिस सेवा के 18 पदाधिकारियों ने पटना शहर के विभिन्न थानों की कार्यशैली का जायजा लिया। विभिन्न थानों में आम जन की तरह काल्पनिक शिकायत लेकर गये पदाधिकारियों ने यह बताया कि संबंधित थानों के थानाध्यक्ष अथवा उपस्थित अन्य पदाधिकारी/ पुलिसकर्मियों का व्यवहार सामान्यत: अच्छा रहा। थाना पर उपस्थित पदाधिकारियों/ कर्मियों द्वारा शिकायतों को गंभीरतापूर्वक सुना एवं समझा गया तथा उनकी ओर से शिकायतों पर नियमानुकूल त्वरित कार्रवाई करने की तत्परता दिखाई गई। मुख्य सचिव ने निर्देश दिया था कि पटना शहर स्थित विभिन्न पुलिस थानों की कार्यशैली, थाना के पुलिस पदाधिकारियों का आम जनता के प्रति व्यवहार एवं उनकी शिकायतों/ मुश्किलों के प्रति संवेदनशीलता तथा शिकायतों/ मुश्किलों पर कार्रवाई करने की तत्परता के संबंध में वस्तुस्थिति की जानकारी प्राप्त की जाए। विचार-विमर्श के समय उपस्थित भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं बिहार प्रशासनिक सेवा के पदाधिकारियों में से 18 पदाधिकारियों को बिना अपनी पहचान उजागर किये सामान्य नागरिक के रूप में अपनी किसी काल्पनिक शिकायत को लेकर पटना शहर स्थित 18 विभिन्न थानों में जाने तथा थाना पर प्राप्त अनुभवों को विचार-विमर्श में पुन: सम्मिलित होकर साझा करने का निदेश दिया गया। पदाधिकारियों को अपनी काल्पनिक शिकायत लेकर थाना जाने एवं थाना के पदाधिकारियों का व्यवहार तथा कार्यशैली देखने के उपरान्त आखिर में अपनी पहचान उजागर करने का भी निदेश दिया गया।

इन पदाधिकारियों को थानों पर अपनी काल्पनिक शिकायत लेकर जाने एवं अनुभव प्राप्त करने का निदेश दिया गया :- इनायत खान- महिला थाना, हिमांशु कुमार राय-हवाई अड्डा थाना, मिथिलेश मिश्रा- बहादुरपुर थाना, नवीन कुमार-बेऊर थाना, अरविन्द कुमार वर्मा-बुद्धा कॉलोनी थाना, अमित कुमार-चौक थाना, राजेश मीणा-दानापुर थाना, संदीप आर. पुडकलकट्टी-फुलवारीशरीफ थाना, गोपाल मीणा-गर्दनीबाग थाना, जय सिंह-जक्कनपुर थाना, मनोज कुमार-कदमकुंआ थाना, संजय कुमार सिंह- कंकड़बाग थाना, गिरिवर दयाल-खगौल थाना, एम. रामचन्द्रूडू- मालसलामी थाना, डा. वीरेन्द्र प्रसाद यादव-राजीवनगर थाना, चन्द्रशेखर-कोतवाली थाना, अनुपम कुमार-पाटलिपुत्रा थाना, मिथिलेश कुमार साहु-सुल्तानगंज थाना एवं मिनेन्द्र कुमार-शास्त्रीनगर थाना। प्राप्त निदेश के आलोक में भारतीय प्रशासनिक सेवा एवं बिहार प्रशासनिक सेवा के उपयरुक्त 18 पदाधिकारी पटना शहर स्थित 18 विभिन्न थानों में अपनी-अपनी काल्पनिक शिकायतें लेकर 9 से 11 बजे रात्रि में गये और थाना पर उपस्थित पुलिसकर्मियों के व्यवहार एवं कार्यशैली का अनुभव प्राप्त किया। मुख्य सचिव, गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिदेशक-सह-अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक, बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम, पुलिस महानिरीक्षक, मुख्यालय, पुलिस महानिरीक्षक, प्रक्षेत्र, पुलिस उप महानिरीक्षक, मध्य क्षेत्र, पटना की उपस्थिति में उपयरुक्त सभी 18 पदाधिकारियों ने पटना के विभिन्न थानों में आम जन की तरह काल्पनिक शिकायत लेकर जाने के उपरान्त प्राप्त अनुभवों को साझा किया। कुछ थानों में काल्पनिक शिकायत दर्ज कराने में पदाधिकारियों को कठिनाई का भी अनुभव हुआ। इन कठिनाइयों को दूर करने का निदेश मुख्य सचिव, बिहार द्वारा पुलिस महानिदेशक, बिहार एवं पुलिस महानिरीक्षक, पटना प्रक्षेत्र, पटना को दिया गया।थानों के कर्मियों द्वारा नियमानुकूल त्वरित कार्रवाई करने की तत्परता देखने के बाद थानों पर गये पदाधिकारियों के द्वारा अपनी पहचान उजागर की गयी। बाद में थाना के कर्मियों से अपने कत्र्तव्य पालन करने के क्रम में हो रही कठिनाई के संबंध में पूछे जाने पर कुछ थाना के पदाधिकारियों ने भवन निर्माण की आवश्यकता  या कुछ संसाधनों की कमी यथा- उपस्करों एवं इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के अभाव में कार्य संपादन करने में कठिनाई की बात कही गयी। कुछ थानों पर थाना भवनों की मरम्मत कराये जाने की आवश्यकता बतायी गयी। मुख्य सचिव, बिहार द्वारा पुलिस महानिदेशक, बिहार तथा प्रधान सचिव, गृह विभाग को थानों में संसाधनों की कमी को शीघ्र दूर करने एवं आवश्यकतानुसार थाना भवनों की मरम्मत के संबंध में निदेश दिया गया ।

यह भी पढ़े  पूजा के 125वें साल में बंगाली अखाड़ा करेगा खास आयोजन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here