कल लगेगा 21वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण

0
200

इस बार गुरु पूर्णिमा के दिन 21वीं सदी का सबसे लंबा पूर्ण चंद्रग्रहण लग रहा है। 27 जुलाई को लगने वाला चंद्रग्रहण भारत सहित एशिया के प्राय: सभी देशों- अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, यूरोप के अधिकतर इलाकों दक्षिण और उत्तरी अमेरिका के दक्षिण भागों में भी दिखाई देगा।ज्योतिषाचार्य नीरज मिश्र के मुताबिक, भारतीय समयानुसार ग्रहण का प्रारंभ 27 जुलाई को रात्रि 11.54 बजे होगा। ग्रहण की समाप्ति प्रात: 3:49 बजे होगी। ग्रहण का सूतक शुक्रवार दोपहर 2.54 बजे से प्रारंभ होगा। सूतक-काल में मंदिरों में पूजा और भोजन आदि करने का निषेध है। आषाढ़ी पूर्णिमा पर ग्रहण होने के कारण सूतक से पूर्व गुरु पूजा आदि कार्य सम्पन्न किए जायेेंगे। इसलिए इस दिन दोपहर 2:54 बजे से पहले गुरु पूजा कर ली जानी चाहिए। हिंदू ग्रंथों में ऐसी मान्यता है कि ग्रहण के दौरान पृवी का वातावरण दूषित हो जाता है इसलिए ग्रहण को सीधे देखने से बचना चाहिए। श्री मिश्र के मुताबिक, यह ग्रहण आषाढ़ मास में लग रहा है। शास्त्रों में आषाढ़ मास में होने वाले ग्रहण से कहीं कुछ अधिक वष्ा तो कहीं सुखाड़, रोग-व्याधि का प्रकोप बढ़ना, दलहन, तिलहन, घी, तेल आदि के महंगे होने की आशंका है। शासक वर्ग को भी परेशानी की आशंका है। सीमा पर तनाव बढ़ सकता है। चन्द्रग्रहण उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और मकर राशि में लग रहा है, इसलिए उत्तराषाढ़ा नक्षत्र एवं मकर राशि वाले व्यक्तियों के लिए ग्रहण अशुभ फलदायक रहेगा।विभिन्न राशियों के लिए ग्रहण के फल इस प्रकार हैं- उमेष: मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। पुत्र-पत्नी का सहयोग मिलेगा।उवृष: मानहानि का आरोप लग सकता है। मन अशान्त रह सकता है।उमिथुन: अनावश्यक परेशानी बढ़ सकती है। वाद-विवाद से दूर रहें।उकर्क: पारिवारिक तनाव बढ़ सकता है। व्यर्थ खर्च बढ़ेगा।उसिंह : रुके हुए कार्य सफल होंगे। रोजी-रोजगार में वृद्धि होगी।उकन्या : अनावश्यक चिंता-परेशानी बढ़ सकती है, धैर्य बनाए रखें।उतुला : स्वास्य के प्रति लापरवाही नहीं बरतें। कार्य में अवरोध संभव है।उवृश्चिक : नये कायरे में सफलता की प्राप्ति होगी। प्रतिष्ठा बढ़ेगी।उधनु : मानसिक क्लेश में वृद्धि हो सकती है। फिजूल खर्च बढ़ेगा।उमकर : विपरीत परिस्थितियां बनेंगी। चापलूसों से सावधान रहें।उकुंभ :आकस्मिक व्यय एवं कायरे में अवरोध। विवाद से बचें।उमीन: कार्य सफल होंगे। स्वजनों का सहयोग प्राप्त होगा।

यह भी पढ़े  माँ के भक्तिभाव में डूबे लोग, खुले माता के पट ,मुख्यमंत्री आज दुर्गा पूजा देखने निकलेंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here