भारत अर्थव्यवस्था के मामले में फ्रांस को पीछे छोड़ते हुए विश्व में छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

0
489

भारत अर्थव्यवस्था के मामले में फ्रांस को पीछे छोड़ते हुए विश्व में छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। विश्व बैंक के 2017 के अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत की जीडीपी (अर्थव्यवस्था) पिछले वर्ष के आखिर तक 2.597 ट्रिलियन डॉलर थी, जबकि इस अवधि के दौरान फ्रांस की जीडीपी 2.597 ट्रिलियन डॉलर रही। भारत ने एक दशक के भीतर अपनी साल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को दोगुना कर लिया है और इसके एशिया में एक प्रमुख आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने के आसार हैं, क्योंकि एशिया की सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति चीन मंदी की गिरफ्त में आ चुका है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार, भारत के इस वर्ष 7.4 प्रतिशत की दर से और 2019 में 7.8 प्रतिशत दर की विकास दर हासिल करने की उम्मीद है। गौरतलब है कि अमेरिका विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। इसके बाद चीन, जापान, जर्मनी, ब्रिटेन और भारत का स्थान आता है। लंदन स्थित सलाहकार कंपनी सेंटर फॉर इकोनॉमिक्स एंड बिजनेस रिसर्च ने पिछले वर्ष के अंत में कहा था कि भारत जीडीपी के लिहाज से इस वर्ष ब्रिटेन एवं फ्रांस दोनों को ही पीछे छोड़ देगा और 2032 तक विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा। भारत ने फ्रांस को तो पीछे छोड़ ही दिया है और इसके पूरे आसार हैं कि जल्द ही भारत ब्रिटेन को भी जल्द पीछे छोड़ देगा। बेहतर कर सुधारों और विनिर्माण क्षेत्र और उपभोक्ता व्यय की बदौलत यह उल्लेखनीय सुधार देखने में आया है। लेकिन साथ-साथ इस पर भी गौर करना जरूरी है कि आर्थिक दर में यह मजबूती पिछले लगातार एक दशक से आ रहे आर्थिक सुधारों का नतीजा है। पर इसके साथ-साथ हमें अपनी कमजोरियों पर भी गौर करना बेहद जरूरी है। अगर प्रति व्यक्ति आय की बात करें तो दुनिया में न केवल फ्रांस बल्कि कई विकासशील देशों की तुलना में भी हम पीछे हैं। भ्रष्टाचार, उत्पादकता में कमी के अतिरिक्त, विकास के अन्य कई संकेतकों में हम अभी भी बहुत पीछे हैं। बेरोजगारी वर्तमान सरकार के लिए लगातार दुखती रग बनी है, असंगठित क्षेत्र की बदहाली, व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण के क्षेत्र में अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। विश्व में छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने पर ज्यादा खुश होने से बेहतर यह होगा कि सरकार वास्तविक धरातल पर ठोस कदम उठाए।

यह भी पढ़े  राजद नेता की गोली मारकर हत्या, विरोध में एनएच जाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here