बिहार में राज्यपाल सतपाल मलिक के बयान को लेकर सियायत तेज

0
244
file photo

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने राज्यपाल सत्यपाल मल्लिक के बयान को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधा है और राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की है. दरअसल, पटना में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान गुरुवार को राज्यपाल ने कहा था कि लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की सूचना सबसे पहले राजभवन में दी जाए.

तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए कहा, ”बिहार के राज्यपाल महोदय मान रहे हैं कि नीतीश सरकार अपराध, हत्या, महिलाओं के साथ दुष्कर्म, बलात्कार और अत्याचार रोकने में असमर्थ है. मैं बिहार में शांति-भाईचारे, महिला एवं गरीब हित में उनसे विनम्रतापूर्वक आग्रह और मांग करता हूं कि वो बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करें.”

Tejashwi Yadav✔@yadavtejashwi
बिहार के राज्यपाल महोदय मान रहे है कि नीतीश सरकार अपराध,हत्या, महिलाओं के साथ दुष्कर्म, बलात्कार और अत्याचार रोकने में असमर्थ है।
मैं बिहार में शांति-भाईचारे,महिला एवं ग़रीब हित में उनसे विनम्रतापूर्वक आग्रह व माँग करता हूँ कि वो बिहार मे राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफ़ारिश करें।

यह भी पढ़े  चमकी बुखार मामले में प्रधानमंत्री के बयान के बाद राजनीतिक तापमान घटा

तेजस्वी के ट्वीट पर जेडीयू ने पलटवार किया है. पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि तेजस्वी आठवीं पास हैं और सब जानते हैं. तेजस्वी ज्ञान का आतंक न फैलाएं. उन्होंने कहा कि राज्यपाल संवेदनशील व्यक्ति हैं और अपने अधिकार के तहत बात कही है. राज्यपाल कार्यपालिका के प्रमुख अंग होते है.

जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी संविधान के अनुच्छेद को पहले पढ़ें. अगर नहीं पढ़ सकते तो किसी से पढ़ाए. आरजेडी के शासन में कितना अत्याचार हुआ सब जानते हैं.

बिहार में बढ़ चले अपराध, रेप, हत्या, गुंडागर्दी की घटनाओं के बाद नीतीश सरकार पर कई आरोप लग रहे हैं। साथ ही कई सवाल भी उठ रहे हैं। गया में मां बेटी के साथ हुए गैंगरेप के बाद जहां सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठने लगे हैं, वहीं अब विपक्षी दल भी नीतीश कुमार पर हमलावर हो रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग कर दी है। उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार से अब बिहार संभल नहीं रहा है। तेजस्वी यादव ने एक के बाद एक 3 ट्वीट कर नीतीश सरकार पर जम कर निशाना साधा। उन्होंने लिखा- बिहार के राज्यपाल महोदय मान रहे है कि नीतीश सरकार अपराध, हत्या, महिलाओं के साथ दुष्कर्म, बलात्कार और अत्याचार रोकने में असमर्थ है। मैं बिहार में शांति-भाईचारे, महिला एवं गरीब हित में उनसे विनम्रतापूर्वक आग्रह व मांग करता हूं कि वो बिहार मे राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करें।

यह भी पढ़े  राजधानी के भंवर पोखर में बनेगा बाल भवन:राज्यपाल

तेजस्वी ने एक और ट्वीट में राजद सरकार को जंगल राज कहने वाले बीजेपी पर भी जम कर निशाना साधा है। तेजस्वी ने लिखा- भाजपा समर्थित बंधुओं,इस राज को तो कोई नाम दे दिए होते जब राजद का शासन होता है तभी आपकी पत्रकारीय आत्मा जागती है क्या ठीक है नीतीश जी के नेतृत्व में बलात्कारी जनता पार्टी की सरकार है लेकिन मानवीय ष्टिकोण से बहस नहीं तो देश को तो बतला देते सुशासन बाबु क्या गुल खिला रहे है। एक और ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा आदरणीय नीतीश चाचा जी, कहवां गईल अंतरात्मा अंतरात्मा को लंबी छुट्टी नागपुर भेज दिए हैं का तनि अखबारवा भी देख लीं़। बता दें कि इन दोनों ट्वीट में तेजस्वी यादव ने कुछ अखबारों की कटिंग को साझा किया है, जिसमें बिहार में लगातार हो रहे अपराध की खबर छपी गई है। जिसमें गया गैंग रेप की खबर भी शामिल है।

गौरतलब है कि बिहार के कॉलेजों की छात्राएं अब छेड़खानी की शिकायत सीधे राजभवन कर सकेंगी. इसकी घोषणा खुद राज्यपाल सत्यपाल मल्लिक ने की. उन्होंने कहा कि राजभवन में कुछ अधिकारियों को इसके लिए नियुक्त किया गया है. राज्यपाल ने कहा कि महिलाओं के साथ छेड़खानी की शिकायत थाने में बाद में पहले राजभवन में होगी. कोई भी महिला राजभवन में 24 घंटे में कभी भी फोन कर सकती है. राजभवन में कुछ टेलिफोन लाइन्स लगाए जा रहे हैं और खास तौर पर कुछ अधिकारियों की नियुक्ति की जा रही है. राजभवन के ये अधिकारी खुद जाकर महिला की ना सिर्फ सहायता, बल्कि एफआईआर वगैरह दर्ज कराएंगे.

यह भी पढ़े  ओम बिड़ला होंगे नए लोकसभा अध्यक्ष, राजस्थान के कोटा से हैं BJP सांसद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here