योगी सरकार का बड़ा फैसला: धांधली रोकने के लिए PCS परीक्षा में किया यह बड़ा बदलाव

0
210

उत्तर प्रदेश कैबिनेट की मंगलवार को हुई बैठक में कई अहम फैसले लिए गए. सबसे महत्वपूर्ण यह रहा कि सरकार ने लोकसेवा आयोग की पीसीएस परीक्षा में धांधली रोकने के लिए बड़ा कदम उठाते हुए इंटरव्यू के अंक आधे कर दिए. अब पीसीएस परीक्षा में साक्षात्कार 200 अंक की जगह 100 अंक का होगा. सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह एवं श्रीकांत शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए.

पीसीएस परीक्षा में पहले लिखित और इंटरव्यू मिलाकर 1700 अंकों के होते थे. अब ये 1600 अंक के होंगे. लिखित परीक्षा के अंक 1500 पूर्ववत रहेंगे. केंद्र सरकार की सिविल सर्विसेज परीक्षा 2013 के आधार पर पाठ्यक्रम में बदलाव भी किया जाएगा. इसके अलावा इस परीक्षा में चिकित्सा विज्ञान को वैकल्पिक पेपर के तौर पर शामिल किया गया है.

सरकार की तरफ से बताया गया कि सरकार ने बुंदेलखंड के किसानों को बड़ी राहत देते हुए बीजों पर अनुदान देने का निर्णय लिया है. इसके अलावा शाहजहांपुर नगर पालिका परिषद को नगर निगम का दर्जा दिया गया है. बुंदेलखंड में खरीफ फसलों का उत्पादन बढ़ाने के लिए विभिन्न फसलों के उन्नत व प्रमाणित बीजों पर 80 फीसदी अनुदान दिया जाएगा. साथ ही क्लस्टर फार्मिग व सामूहिक खेती को बढ़ावा देने के लिए 50 हेक्टेयर या उससे अधिक खेतों में करौंदे की बाड़ लगाने के लिए किसानों को आर्थिक सहायता भी दी जाएगी. इसके अलावा फार्म, मशीनरी, बैंक तथा खेत तालाब योजना का विस्तार किया जाएगा.

यह भी पढ़े  यूपी निकाय चुनाव: पीएम के संसदीय क्षेत्र में... ये राह नहीं आसां!

उन्होंने बताया कि कैबिनेट में पशुपालन विभाग के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी गई. इसके तहत बुंदेलखंड के लिए सबसे बड़ी समस्या बन चुके छुट्टा जानवरों का बंध्याकरण किया जाएगा. बंध्याकरण पर लेवी शुल्क माफ कर दिया गया है. प्रवक्ता ने बताया कि इलाहाबाद मेडिकल कॉलेज के बेकार भवनों को तोड़ने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई. ये भवन काफी पुराने हो चुके हैं और जर्जर हालत में हैं. इनको तोड़कर वहां बाल चिकित्सालय बनेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here