पीयू में शिक्षक-कर्मियों ने किया प्रदर्शन

0
178

पटना विविद्यालय मुख्यालय में सातवें पुनरीक्षित वेतनमान को लागू करने की मांग को लेकर शिक्षकों और कर्मचारियों ने कुलपति का घेराव और प्रदर्शन किया। एक दशक बाद विविद्यालय के कर्मचारियों और शिक्षकों ने एक बैनर तले प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में शामिल शिक्षाकर्मियों ने राज्यकर्मियों की तरह विवि शिक्षकों व शिक्षकेतर कर्मचारियों को भी सातवां वेतनमान अविलंब देने की मांग की और कहा कि यदि जुलाई, 2018 तक इसे लागू नहीं किया गया तो जुलाई माह से बड़े पैमाने पर आंदोलन किया जायेगा। वेतन भुगतान के संबंध में जो राज्य सरकार ने निर्णय लिया कि कोषागार के माध्यम से शिक्षकों और कर्मचारियों को वेतन दिया जायेगा, उसका सभी शिक्षक और कर्मचारियों ने विविद्यालय की स्वायत्तता पर हमला बताया तथा कोषागार से भुगतान नहीं लेने का निर्णय लिया। प्रदर्शनकारी शिक्षाकर्मियों से कुलपति प्रो रासबिहारी प्रसाद सिंह मिलने पहुंचे। उन्होंने शिक्षकों की सभी मांगों पर सहमति जतायी और कहा कि वेतन भुगतान की व्यवस्था पूर्ववत बनी रहेगी। सातवें वेतनमान के संदर्भ में कुलपति ने कहा कि शिक्षक और कर्मचारियों द्वारा दिये गये ज्ञापन को राज्य सरकार और कुलाधिपति को भेजा जायेगा। प्रदर्शन में पटना विविद्यालय शिक्षक संघ (पूटा) के अध्यक्ष डॉ रणधीर कुमार सिंह, महासचिव डॉ अभय कुमार, पटना विविद्यालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुबोध कुमार, महासचिव दिलीप कुमार गुप्ता, कॉलेज कर्मचारी महासंघ के महासचिव राम शंकर मेहता, पूटा के पूर्व महासचिव डॉ अनिल कुमार, प्रो डीएन सिन्हा, कर्मचारी संघ के पूर्व महासचिव रणविजय सहित सैकड़ों शिक्षाकर्मी शामिल हुए।

यह भी पढ़े  बिहार विधानसभा चुनाव में अभी एक साल से ज्यादा की देरी लेकिन सियासी व्यार तेज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here