सुरक्षा के नाम पर सूबे के राजनीति में छिड़ा नया सियासी जंग

0
233

बिहार में पूर्व सीएम लालू यादव के परिवार और नीतीश कुमार के बीच एक नई सियासी जंग छिड़ गई है। लालू का परिवार नीतीश से इतना नाराज़ हो गया है कि बिहार सरकार से मिली सुरक्षा वापस कर दी है। इस सारे विवाद की शुरुआत हुई है बिहार सरकार के एक फैसले से जिसमें राबड़ी देवी की सुरक्षा में कटौती का फैसला किया गया। तेजस्वी यादव ने एक बाद एक लगातार कई ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। हालांकि अभी मामले में नीतीश सरकार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। रात के ठीक बारह बजे लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ”नीतीश कुमार ने आधी रात को झटका देते हुए 2 पूर्व मुख्यमंत्रियों की सुरक्षा में तैनात 18 होमगार्ड्स वापस बुला लिए। अब हम अपने सुरक्षा गार्ड उन्हें वापस कर रहे हैं ताकि वो अपने सुरक्षा इंतजामों में और इजाफा कर सकें, क्योंकि वो देश के सबसे नखरेबाज मुख्यमंत्री हैं।“

यह भी पढ़े  SC का आदेश- TISS की रिपोर्ट सार्वजनिक करे बिहार सरकार

दरअसल, कल शाम ये ख़बर आई कि बिहार सरकार राबड़ी देवी के आवास पर तैनात बिहार मिलिट्री पुलिस के 32 जवानों को वापस बुलाने वाली है। इस फैसले से लालू का परिवार इतना ख़फा हुआ कि तेजस्वी ने पूरे परिवार को मिली सुरक्षा वापस करने का ऐलान कर दिया। तेजस्वी ने महज तीन घंटे के अंदर चार-चार ट्वीट कर नीतीश पर हमला बोला और ये ऐलान कर दिया कि उनका परिवार सरकार से मिली सुरक्षा वापस लौटा रहा है।

तेजस्वी यादव ने लिखा, ”हम नीतीश कुमार की तरह डरपोक और बुज़दिल नहीं, जो अपनी सुरक्षा के लिए 800 जवान तैनात रखेंगे। हमारे द्वारा लौटाए हुए सुरक्षाकर्मियों को नीतीश कुमार अपनी सुरक्षा में लगा कर संख्या बल बढ़ा कर संतुष्टि प्राप्त कर सकते है। हम गरीब जनता के बीच रहते हैं। जनता ही हमारी असल प्रहरी है। आज दिन में नीतीश कुमार ने असंवैधानिक तरीके से मुझे नेता प्रतिपक्ष के नाते कैबिनेट मंत्री के समान प्राप्त अधिकारों को दरकिनार करते हुए सरकारी आवास खाली करने का नोटिस निर्गत करवाया है और शाम को परिवार की सुरक्षा कटौती के लिए दूत भेज दिए।“

यह भी पढ़े  गुरु पर्व :पर्यटन विभाग की ओर से सारी तैयारियां पूरी : मंत्री

नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोलते हुए तेजस्वी यादव ने लिखा, ”नीतीश जी, और निम्नस्तर पर उतरिए। मेरी माता श्रीमती राबड़ी देवी जी ने पूर्व सीएम की हैसियत से प्राप्त सुरक्षा, मेरे भाई को विधायक के नाते और मुझे नेता प्रतिपक्ष के नाते प्राप्त सुरक्षा को बिहार के सीएम नीतीश कुमार को वापस सौंप रहे हैं, ताकि वो तुच्छ ईर्ष्यालु कार्य छोड़ सकारात्मक कार्यों पर ध्यान केन्द्रित कर सकें। विगत 10 महीने से सुरक्षा की श्रेणी निर्धारित करने और बढ़ाने के लिए अनेकों बार नीतीश कुमार के अधीन गृह विभाग को लिखा, लेकिन ईर्ष्यावश बहाने दर बहाने किए। नीतीश कुमार बढ़ाने की बजाय इसमें कटौती कर रहे है। आज CBI पूछताछ के बाद नीतीश कुमार ने तुरंत हाउस गार्डस को हटाने का आदेश दिया है।“

नीतीश कुमार पर तेजस्वी के इतने ज्यादा गुस्से की वजह है लालू यादव के परिवार को लगा डबल झटका। पहले राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई की रेड पड़ी और फिर उनकी सुरक्षा में कटौती कर दी गई। रेड के दौरान चार घंटे तक राबड़ी देवी और उनके दोनों बेटों से सीबीआई ने कई सवाल किए। दरअसल, सीबीआई ने रेल टेंडर घोटाले में पूछताछ के लिए राबड़ी देवी को नोटिस भेजा था लेकिन बार-बार बुलाने पर भी जब राबड़ी हाजिर नहीं हुईं तो सीबीआई ही उनके घर पहुंच गई। अभी सीबीआई रेड पर आरजेडी नेताओं-कार्यकर्ताओं का गुस्सा शांत भी नहीं हुआ था कि सुरक्षा में कटौती का विवाद भी सामने आ गया।

यह भी पढ़े  विधानसभा परिसर में आरजेडी का प्रदर्शन, तेजस्वी यादव नदारद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here