तमिलनाडु गिरोह के चार बदमाश धराये

0
445
Patna-Apr.6,2018-Senior Superintendent of Police (SSP) Manu Maharaj is showing arrested three criminals with cash, ATM cards and mobile phones at Kankarbagh area during a press conference at his chamber in Patna.

 पटना पुलिस की नाक में दम करने वाले तमिलनाडु गिरोह के चार बदमाशों को पुलिस ने उस वक्त बुद्ध मार्ग से दबोच लिया जब वे लोग एक कारोबारी की गाड़ी से नकद व सामान उड़ाने की फिराक में लगे थे। शहर में लगातार गाड़ी से कैश व सामान उड़ाने की घटना के बाद पुलिस गिरोह की तलाश में जुटी थी। सभी तमिलनाडु के त्रिच्ची के रहने वाले हैं। पकड़े गये बदमाशों में वेंकटेश वरण, सत्या, गणोश और बंडी मुथूकुमार शामिल हैं। इन लोगों ने बिहार समेत राजस्थान और मध्य प्रदेश में कई वारदातों को अंजाम दिया है। वाहन के बगल में दस-दस के नोट गिराकर गिरोह के लोग चालक व सवार को झांसा देकर नकद व सामान गायब कर देते थे। एसएसपी मनु महाराज ने गिरोह के दबोचे जाने की जानकारी संवाददाता सम्मेलन में दी। बदमाशों के पास से तीन मोबाइल और एक क्षतिग्रस्त बैग बरामद किया गया है।एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक गिरोह के लगभग दो दर्जन बदमाश पटना पहुंचे थे। इन लोगों ने राजधानी के कंकड़बाग, बुद्धा कॉलोनी, पीरबहोर, एसकेपुरी, कदमकुआं व कोतवाली थाना क्षेत्र में कई वारदातों को अंजाम दिया था। एसकेपुरी से एक ठेकेदार का बीस लाख और कोतवाली से एक ठेकेदार का ही पांच लाख नकद और पिस्टल गायब कर दिया था। ये लोग गाड़ी के किनारे नोट गिराकर चालक और सवार को उनके पैसे गिरे होने का झांसा देते थे। जब सवार या चालक नोट उठाने लगता था तो गिरोह के दूसरे बदमाश गाड़ी की दूसरी ओर से बैग में रखे कैश व सामान गायब कर देते थे।चार स्तरीय होती थी गिरोह की तैयारी एसएसपी के मुताबिक पकड़े गये बदमाशों ने बताया कि गिरोह के लगभग दो दर्जन बदमाश पटना पहुंचे हैं। एक दल में आठ लोग शामिल हैं। इन लोगों ने बताया कि बैंक या दुकान से ये लोग टारगेट का पीछा करते थे। मौका मिलते ही उनकी गाड़ी के बगल में रुपये गिरा देते थे। एक दल नोट गिराता था तो दो अन्य लोग बैग लेकर भाग निकलते थे। उसके बाद तीसरा दल रकम बैग से निकाल कर बैग फेंकदेता था और चौथा दल स्टेशन पर रकम लेकर उसी दिन तमिलनाडु निकल जाता था। इस तरह बैग बदलकर पुलिस से बचते थे और रकम व सामान लेकर साथी तमिलनाडु चला जाता था। इन लोगों का शेयर वहां मिल जाता था। पुलिस ने इन लोगों को दबोचने के लिए बैंक व शहर के प्रमुख स्थानों पर लगे सीसीटीवी फु टेज की मदद ली। कई थानों को इनके फुटेज भेजे गये। दूसरे राज्यों -राजस्थान व तमिलनाडु से भी इस तरह की घटनाओं की जानकारी मिली थी। वहां भी इन लोगों के फोटो भेजे गये। एमपी में इन लोगों ने कई वारदातों को अंजाम दिया। 

एसएसपी के मुताबिक बदमाशों को दबोचने के लिए सीसीटीवी यूनिट के पुलिसकर्मियों को लगाया गया था। इस बीच, पुलिस दल ने सीसीटीवी में इन बदमाशों को बुद्धमार्ग में देखा। तत्काल कोतवाली पुलिस को अलर्ट किया गया। सीसीटीवी यूनिट भी मौके पर पहुंच गयी। बदमाश एक लग्जरी गाड़ी के पास सवार के लाखों रुपये लेकर भागने के चक्कर में थे। पुलिस ने चारों को दबोच लिया। इन लोगों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया और बताया कि गिरोह के बदमाश पूरे देश में सक्रिय हैं। घटना को अंजाम देने के बाद उसी दिन वे लोग तमिलनाडु निकल जाते थे। पुलिस को इन लोगों ने बताया कि पांच लाख नकद के साथ पिस्टल गायब कर दिया था। बाद में पिस्टल को इन लोगों ने बेली रोड में फेंक दिया था। गया से एक तमिल भाषा के जानकार को बुलाकर इनसे पूछताछ की गयी।  वाहन के समीप नोट गिराकर उड़ा लेते थे लाखों की संपत्ति, पुलिस ने बुद्धमार्ग से रंगेहाथों दबोचा

यह भी पढ़े  'चाहे जो समय लगे मुंह खुलवा कर रहूंगा':तेजस्वी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here