सरस मेले में लोगों की उमड़ी भीड़ से उद्यमी उत्साहित

0
429
Patna-Dec.15,2017-Ladies are visiting after opening new showroom of ‘Ridhi-Sidhi’ at G.V. Mall in Patna.

पटना -गांधी मैदान में चल रहे सरस मेले में हजारों लोग हर रोज पहुंच रहे हैं। सैलानियों की इस भीड़ और शुरुआती दिनों में हुई खरीदारियों से उद्यमी काफी खुश और उत्साहित नजर आ रहे हैं। उद्यमियों की मानें तो शुरुआत के दो-तीन दिनों में ठीक-ठाक बिक्री हो रही है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो मेले के अंत तक अच्छा-खास व्यापार होने की उम्मीद है। मेले में लोगों को हस्तशिल्प की बनी चीजें काफी आकर्षित कर रही हैं। आकर्षण का यही कारण है कि लोग उत्पाद खरीदने से खुद को रोक नहीं पा रहे हैं। मेले में हर तरह के उत्पाद हर रेंज में उपलब्ध हैं जहां अच्छी-खासी संख्या में लोग जुट रहे हैं। हर वर्ग के लोग मेला देखने और घूमने पहुंच रहे हैं। विभिन्न वगरे ने तो मेले में अपना-अपना पसंदीदा स्पॉट भी बना लिया है। किसी का स्पॉट आर्टिफिशियल ज्वेलरी का स्टॉल है तो किसी का कपड़ों का स्टॉल या फिर आर्टिफिशियल फूलों की दुकानें। शाम होने के साथ ही सैलानियों की भीड़ भी बढ़ने लग रही है। शाम के वक्त व्यंजनों के स्टॉल पर भी लोग जमा हो जा रहे हैं और बिहारी व्यंजनों के साथ-साथ चाइनीज, कॉन्टिनेंटल और साउथ इंडियन डिशेज का लुत्फ उठा रहे हैं। ‘‘ये है आपन बिहार..’ पर झूमे लोगसरस मेले में चल रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम में शुक्रवार को लोकगीतों की धूम रही। कार्यक्रम में संगीत नाटक अकादमी अवार्डी प्रसिद्ध गायक ब्रज किशोर दूबे ने शिरकत करते हुए ‘‘निमिया के दाड़ी मईया..’, ‘‘भईले धर्मावा के बेरा..’, भिखारी ठाकुर का गीत ‘‘डगरिया जोहत बा..’ और महेन्द्र मिश्र का पूर्वी गीत ‘‘पिया ले के अलगे रहब..’ का गायन किया। इसके पहले कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए वागिशा झा ने ‘‘जय-जय भौरवी..’, ‘‘अभी जाने की ज़िद न करो..’, ‘‘दमा-दम मस्त कलंदर..’, ‘‘छाप तिलक सब छीनी..’ गाकर सबों को झूमने पर मजबूर कर दिया। उसके बाद नागेन्द्र दास ने ‘‘जब से कन्हैया गईलन मथुरा बिसारी दिहलन..’, ‘‘ये माई लाल चुनर बीच चमकत चेहरा..’, ‘‘सजना तोरा संग चलब सीमा पर..’ गाकर खूब वाह-वाही लूटी। वहीं अर्चना चौधरी के निर्देशन में लोकनृत्य की प्रस्तुति की। कार्यक्रम में शिव वंदना, झूमर, जट-जटीन नृत्य पेश किया गया। उसके बाद छोटे-छोटे बच्चों ने ‘‘ये है आपन बिहार..’ पर नृत्य पेश किया। अंत में क्षिक्षिया नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

यह भी पढ़े  कौटिल्य विहार में मोनिका बेदी संग मनायें नया साल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here