खादिम शो रूम के मालिक की ह्त्या के विरोध में कारोबारियों ने बंद रखी अपनी दुकानें

0
360
KHADIMS MALIK HATYA KE KHILAF PARDARSHAN KERTE

पटना पुलिस 36 घंटे बाद भी कारोबारी जितेन्द्र सिंह उर्फ गांधी की हत्या के मामले में सुराग से दूर है। पुलिस अबतक यह पता नहीं लगा सकी है कि हत्या दुश्मनी का परिणाम है या फिर लूट के प्रयास में हत्या को अंजाम दिया गया। पुलिस ने दावा किया है कि सीसीटीवी में कुछ संदिग्धों के फुटेज मिले हैं, उसपर काम चल रहा है। हत्याकांड में पुलिस की विफलता के विरोध में राजाबाजार के कारोबारियों ने अपनी दुकानें बंद रखीं। कुछ देर के लिए रोड जाम कर दिया। वे लोग बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।मंगलवार की देर रात कारोबारी जितेन्द्र की हत्या उस वक्त जगदेव पथ में कर दी गयी जब वह अपने बेटे अभ्युराज के साथ दुकान से फुलवारी स्थित घर जा रहे थे। गोली लगने के बाद उन्हें आईजीआईएमएस ले जाया गया था लेकिन वहां पहुंचते ही उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। घटना के बाद उनके बेटे ने हवाई अड्डा और शास्त्रीनगर पुलिस को कॉल किया था लेकिन थाने की पुलिस मौके पर त्वरित नहीं पहुंची थी। डॉल्फिन मोबाइल के जवान वहां गश्ती के क्रम में पहुंचे, जितेन्द्र को तब अस्पताल ले जाया गया था। घटना के 36 घंटे बाद तक पुलिस इस मामले में कोई प्रगति नहीं कर सकी है। पुलिस के मुताबिक यह पता नहीं चल रहा है कि उनकी किसी से कोई अदावत थी या कोई रंगदारी की धमकी मिली थी। पुलिस फिलहाल मामले को लूट के प्रयास से जोड़ कर देख रही है। जगदेव पथ के समीप लगे सीसीटीवी फुटेज को पुलिस ने रात आठ से दस बजे तक की अवधि में खंगाला। उसके अलावा जितेन्द्र की दुकान और आसपास के फुटेज को खंगाला गया। पुलिस को कुछ संदिग्धों के फुटेज मिले हैं। पुलिस को यह भी पता लगा कि जगदेव पथ मोड़ से बदमाश जितेन्द्र के पीछे-पीछे चल रहे थे। वारदात के बाद उनके पीछे भागने का फुटेज भी मिला है। पुलिस संदिग्धों का स्केच तैयार करवाने जा रही है। प्रभारी एसएसपी अमरकेश दारपीनेनी के मुताबिक अबतक हत्या के पीछे रंगदारी या दुश्मनी की बात सामने नहीं आ रही है। लूट के प्रयास के बिंदु पर पुलिस जांच कर रही है। इस वारदात के खुलासे के लिए विशेष टीम गठित की गयी है।
अपराधियों के हाथों मारे गये व्यापारी जितेन्द्र के राजाबाजार स्थित खादिम शो रूम के बाहर हत्याकांड से आक्रोशित दुकानदारों व लोगों की भीड़ और घटना के विरोध में बंद दुकानें।

यह भी पढ़े  मणिपुर में सक्रिय माओवादी संगठनों के तीन सदस्यों को पटना पुलिस गिरफ्तार किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here