तेजस्वी यादव के सीएम उम्मीदवारी पर राजद कार्यकारिणी के सदस्यों ने एक मत से अपनी स्वीकृति दी

0
331

पटना – अगले चुनाव में तेजस्वी यादव होंगे राजद के सीएम उम्मीदवार। मंगलवार को राजद के खुले अधिवेशन में इस पर मुहर लग गई। तेजस्वी यादव के राजद के सीएम उम्मीदवार घोषित होते ही तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा हॉल गूंज उठा।

तेजस्वी यादव के सीएम उम्मीदवार का प्रस्ताव पूर्व मंत्री व राजद के वरीय नेता जगदानंद सिंह ने अधिवेशन में रखा और इस प्रस्ताव पर सर्वसम्मति से मुहर लग गई। अधिवेशन में मौजूद राजद कार्यकारिणी के सदस्यों ने एक मत से इस पर अपनी स्वीकृति दे दी। इससे पहले अधिवेशन में पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव बिहार सरकार और केंद्र सरकार पर खूब बरसे। उन्होंने अपने पिता की तारीफ में भी कई शब्द कहे। वहीं सीएम नीतीश कुमार पर भी जम कर हमला किया।

अधिवेशन में बोलते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा की मंडल कमीशन पर किताब लिखेंगे। किताब में बहुत सी बातों का खुलासा करेंगे। इसमें यह भी बताया जायेगा कि नरेंद्र मोदी ने देश को किस तरह ठगा। किताब में आरएसएस का भी जिक्र रहेगा।

दरअसल कल राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद राजद के खुले अधिवेशन में पूरे तेवर में नजर आ रहे थे। वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर भी बरसे। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा कि यह देश किसानों का है और नरेंद्र मोदी की सरकार में किसान दुखी हैं।

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री के निर्देश पर राज्य भर में 5200 क्षेत्रीय अधिकारियों ने 36,397 स्थलों पर जाकर विभिन्न विभागों का किया औचक निरीक्षण

नरेंद्र मोदी का लागत की चौगुना राशि देने का वादा कहां गया। केंद्र ने चुनाव के समय यूपी में किसानों का कर्ज माफ करने का झांसा दिया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को सब्जबाग दिखाया। वे हमसे आंख नहीं मिला सकते हैं। उनका विदेश से पैसा लाने का वादा कहां गया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री लोगों को ठग रहे हैं। कालाधन के नाम पर लोगों को झांसा दे रहे हैं। अब जनता सबकुछ समझ चुकी है।

लालू प्रसाद ने कहा कि साल 73-74 में सुशील मोदी मेरे सेक्रेटरी थे। आज वे तेजस्वी यादव के नाम से घबरा रहे हैं। साजिश करके सबको फंसा रहे हैं।

उन्होंने रामविलास पासवान को मौसम वैज्ञानिक बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह को पिछड़ों की काफी चिंता थी। जेपी जगजीवन राम को पीएम बनाना चाहते थे। लेकिन आरएसएस ने जगजीवन राम को पीएम बनने नहीं दिया।

इसके पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू प्रसाद की ओर पूरा देश उम्मीद भरी निगाह से देख रहा है। देश में तानाशाही व्यवस्था चल रही है। बिहार में सिर्फ घोटाला ही हो रहा है। तेजस्वी यादव ने कहा कि मेरे शरीर में लालू प्रसाद का खून है। यह लालू प्रसाद की दरियादिली है कि उन्होंने आपको ज्यादा सीट दे दिया।

यह भी पढ़े  तेजस्वी कल से करेंगे राजद के सदस्यता अभियान का शुभारंभ

तेजस्वी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि कोई यहां उंगली काटने की धमकी दे रहा है तो कोई हाथ काटने की, लेकिन हम डरने वालों में से नहीं हैं।

इस मौके पर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, बांका सांसद जयप्रकाश नारायण समेत राजद के तमाम दिग्गज नेता मौजूद रहे।

राबड़ी ने दी जांच एजेंसियों को चुनौती, भेजते रहो नोटिस

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मंगलवार को एक बार फिर कहा है कि वह बार-बार पूछताछ में शामिल नहीं होंगी। उन्होंने कहा कि हम किसी से नहीं डरते हैं। किसी जांच एजेंसी को अगर हमसे पूछताछ करनी है तो पटना आकर करे। हम एक ही बात का जवाब देने के लिए बार-बार दिल्ली नहीं जायेंगे।

राबड़ी ने पटना में राजद के खुले अधिवेशन में कहा कि वो सीबीआई, आईटी, ईडी सबका त्रिया चरित्र जानती हैं। तुम लोगों को जितना नोटिस भेजना है भेजो, हम बार-बार दिल्ली नहीं जायेंगे। राबड़ी देवी को रेलवे टेंडर घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूछताछ के लिए 13 नवंबर को बुलाया था, लेकिन वो नहीं गई थी। उस वक्त भी उन्होंने कहा था कि इसी मामले में आयकर विभाग ने पहले ही उनसे जरूरी पूछताछ कर ली है।

यह भी पढ़े  अमिषा पटेल संग झूमे राजधानी के लोग दशहरा महोत्सव

राबड़ी ने केंद्रीय एजेंसियों को सलाह भी दी कि एक ही मामले में बार-बार उन्हें किसी को समन जारी नहीं करना चाहिए। ईडी ने उन्हें सात नवंबर को भी पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया था।

राजद के अधिवेशन के दौरान बोलते हुए राबड़ी देवी ने पीएम मोदी के बारे में कुछ आपत्तिजनक शब्दों का भी प्रयोग किया। उन्होंने बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय के एक बयान पर निशाना साधते हुए पीएम के खिलाफ आपत्तिजनक बात कही।

उन्होंने कहा भाजपा वाले बोलते हैं कि मोदी की तरफ उठने वाली उंगली और हाथ काट देंगे। मैं कहती हूं कि हिम्मत है तो काटो, नरेंद्र मोदी का हाथ और गला काटने वाले भी बहुत लोग हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here