राजद के सांगठनिक चुनाव में मारपीट

0
443

पटना। मुख्य विपक्षी पार्टी राजद में इन दिनों आंतरिक चुनाव का दौर जारी है। बुधवार को दारोगा प्रसाद राय पथ स्थित श्रीकृष्ण चेतना परिषद में राजद के जिलाध्यक्ष का चुनाव हो रहा था, जिसे मारपीट के चलते स्थगित करना पड़ा। चुनाव के दौरान दो गुटों में पहले तीखी नोकझोंक हुई। इसके बाद धक्का-मुक्की शुरू हुई जो जल्द ही हाथापाई में बदल गई। मारपीट में एक व्यक्ति का सिर फूट गया, इसके साथ ही कई अन्य घायल हुए। मारपीट के बाद जिला निर्वाचन पदाधिकारी सीताराम यादव ने चुनाव स्थगित कर दिया। जिला अध्यक्ष पद के लिए वर्तमान जिला अध्यक्ष देवमुनी यादव और संपतचक के उदैनी गांव के अरविंद राय के समर्थकों के बीच झगड़ा हुआ। अरविंद राय के समर्थक चुनाव का विरोध कर रहे थे, जिस युवक का सिर फूटा है वह अरविंद राय का भाई जेम्स कुमार है। जेम्स ने कहा कि पटना जिलाध्यक्ष पद के लिए अवैध रूप से चुनाव हो रहा था। मैं सीताराम यादव से बात करने गया तो देवमुनी यादव के लड़के और उनके गुंडों ने मुझ पर हमला कर दिया। इससे पहले हम लोगों ने लालू यादव से भी बात की थी। लालू ने रामचंद्र पूव्रे को मामले को समझने को कहा था और कहा था कि मामला सुलझने पर चुनाव होगा। बुधवार को अवैध तरीके से चुनाव कराया जा रहा था। इस घटना में राजद कार्यकर्ता प्रियांशु यादव भी बुरी तरह घायल हो गया। उसने जिलाध्यक्ष देवमुनी यादव के बेटे मनीष यादव समेत चार लोगों के खिलाफ कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया है। प्रियांशु के पिता भी चुनाव में हिस्सा ले रहे थे। उसने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया। इस बाबत पूर्व राजद के प्रदेश महासचिव त्रिभुवन प्रसाद यादव ने कहा कि लोकतंत्र में स्वच्छ रूप से चुनाव कराने की जिम्मेदारी पर्यवेक्षक की होती है जबकि पर्यवेक्षक के रूप में तैनात सीताराम यादव मर्यादा भूल कर गुंडागर्दी पर उतर आये हैं।8 नवम्बर से पहले राजद के सभी जिलाध्यक्षों का चुनाव हो जायेगा। इसके बाद संसदीय दल के नेता और पार्टी अध्यक्ष का चुनाव होगा। यह बात तो पहले से तय है कि पार्टी अध्यक्ष लालू यादव ही चुने जायेंगे, लेकिन जिला स्तर पर किसका कद बढ़ेगा और किसका घटेगा इसका फैसला इस सप्ताह हो जायेगा।

यह भी पढ़े  बिहार चुनाव से पहले RJD में फूट? पार्टी के विधायक ने कहा नीतीश ही बनाएंगे सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here