देश के एकीकरण में सरदार बल्लभ भाई पटेल ने निभायी अहम भूमिका

0
372
SADAQAT aSHRAM ME INDIRA GANDHI KI DEATH ANNIVERSARY AND SARDAR BALLABH BHAI PATEL KI BIRTH ANNIVARSARY PER SARDHANJLI DETE

बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में आज लौहपुरु ष सरदार बल्लभ भाई पटेल की 142वीं जयंती उत्साह पूर्वक मनायी गयी।इस अवसर पर सरदार पटेल के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पूर्व राजस्व मंत्री डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू एवं सरदार बल्लभ भाई पटेल, महात्मा गांधी के दायें और बायें हाथ थे।उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू एवं सरदार पटेल मिल-जुलकर देश की समस्याओं पर निर्णय लेते थे। गुजरात में किसानों को अंग्रेजी शासन के शोषण के विरुद्ध लामबंद कर स्वतंत्रता आंदोलन की लड़ाई में कूद पड़े सरदार पटेल ने कांग्रेस की नीतियों को गढ़ने में अहम भूमिका निभायी। डॉ. झा ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद 550 रियासतों को भारत में मिलाने की जटिल समस्या का समाधान कर उन्होंने भारत को एक राष्ट्र का आकार दिया। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल की इस पावन जयंती पर राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता के संकल्प के प्रति प्रतिबद्धता का पण्रकांग्रेसजनों को लेना चाहिए। इसके पूर्व लौहपुरु ष सरदार पटेल के चित्र पर उपस्थित कांगेसजनों ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। खालिद रसीद सबा, श्याम सुन्दर सिंह धीरज, श्रीमती अमिता भूषण, राजेश कुमार, विनय वर्मा सभी विधायक, पूर्व विधायक नरेन्द्र कुमार, जनार्दन शर्मा, डॉ हरखू झा, जितेन्द्र कुमार सिंह, लाल बाबू लाल एवं बड़ी संख्या में उपस्थित कांग्रेसजनों ने इन्दिरा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

यह भी पढ़े  क्या मंदिर पर भाजपा का पेटेंट है : कादरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here