राजेन्द्र नगर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में आई बैंक 31 दिसम्बर तक : मोदी

0
408

राज्य सरकार ने अगले साल 31 मार्च तक राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों तथा इस साल 31 दिसम्बर तक पटना के राजेन्द्र नगर सुपर स्पेशियलिटीज अस्पताल में आई बैंक की स्थापना करने का निर्णय लिया है। साथ ही परिजनों की सहमति से ब्रेन डेड घोषित मरीजों के अन्य अंगों को निकाल कर जरूरतमंदों को प्रत्यारोपित किया जा सकेगा।उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की उपस्थिति में स्वास्य मंत्री मंगल पाण्डेय की दधीचि देहदान समिति के प्रतिनिधिमंडल के साथ हुई बैठक में राज्य स्तर पर अंगदान के लिए नोडल ऑफिसर नियुक्त करने का निर्णय लिया गया। बैठक में स्वास्य विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन भी मौजूद थे। स्वास्य मंत्री मंगल पाण्डेय की अध्यक्षता में अंगदान से जुड़े मुद्दे पर सरकार को सलाह देने के लिए सलाहकार समिति गठित की जायेगी। राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में ब्रेन डेड घोषित करने के लिए मेडिकल एक्सपर्ट की एक कमेटी अधिसूचित की जायेगी। परिजनों की सहमति से ब्रेन डेड घोषित मरीजों के अन्य अंगों को निकाल कर जरूरतमंदों को प्रत्यारोपित किया जा सकेगा। सरकार सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में एक उत्प्रेरक की नियुक्ति करेगी जो मरीजों के परिजनों को अंगदान के लिए प्रेरित करेगा। सरकार की ओर से अप्रैल में अंगदान-चक्षुदान सप्ताह का आयोजन कर बड़े पैमाने पर राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों में पम्फलेट, पोस्टर व बैनर के जरिये जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। बैठक में दधीचि देहदान समिति के अध्यक्ष व पूर्व विधान पार्षद गंगाप्रसाद समेत कई शामिल थे।

यह भी पढ़े  2010 की तरह 2019 और 2020 में भी आरजेडी का बिहार से सफाया हो जाएगा:नित्यानंद राय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here