पटना एम्स बना डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल ,पटना में हर 10वां शख्स पॉजिटिव, मुख्यमंत्री आवास के 80 से अधिक स्टाफ कोरोना संक्रमित, PMCH में 44 कर्मी भी कोविड पॉजिटिव

0
27

पटना के विभिन्न इलाकों में शुक्रवार को 382 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। यह आंकड़ा अबतक का सबसे अधिक है। पटना में कुल संक्रमितों की संख्या 1888 पहुंच गई है। सबसे अधिक मरीज बीएमपी-1, पटना सिटी, फायर ब्रिगेड, पीएमसीएच, एनएमसीएच, आरएमआरआई में मिले हैं। इसकी पुष्टि सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने की है।

आज स्वास्थ्य विभाग से मिली ताजा जानकारी के अनुसार 709 नए कोरोना संक्रमित मिले है जिनमे सबसे अधिक पटना 133 मरीज मिले है । जिनमे अररिया 5, अरवल 5, बांका7, बेगूसराय19, भागलपुर 75 आरा 7 बक्सर 7 दरभंगा 1, पूर्वी चंपारण 11, गया 38, गोपालगंज 23, जमुई 39, जहानाबाद 7, कैमुर 3, कटिहार 17, खगड़िया 12, लखीसराय 7, मधेपुरा 11,मधुबनी 9, मुंगेर 15, मुजफ्फरपुर 38, नालंदा 6, नवादा 69, पटना 133, पूर्णिया 18, रोहतास 4, सहरसा 20, समस्तीपुर 24, सारण 27, शेखपुरा 5, शिवहर 2, सिवान 16, सुपौल 12 और वैशाली 17 है ।

वही फुलवारीशरीफ स्थित पटना एम्स में अब केवल कोरोना संक्रमितों का ही इलाज होगा. इसे डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बना दिया गया है और इससे संबंधित अधिसूचना भी स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव कौशल किशोर ने शुक्रवार को जारी कर दी. इसके साथ ही एम्स में भर्ती सामान्य मरीजों की संख्या में धीरे-धीरे कमी लाने की दिशा में कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है, ताकि एम्स को सामान्य मरीजों से पूरी तरह खाली कराया जा सके. बिहार में कोरोना संक्रमितों की लगातार बढ़ रही संख्या को लेकर यह व्यवस्था की गयी है. बिहार के कई राजनेता के साथ ही कई सरकारी अधिकारी और कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. इनके अलावे 150 से अधिक डॉक्टर व हेल्थ वर्कर भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. इसे लेकर पटना एम्स को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बनाया गया . फिलहाल पटना एम्स में बने आइसोलेशन सेंटर में 175 बेड हैं. लेकिन अब वहां 500 से अधिक बेड हो जायेंगे. इसमें काफी संख्या में कोरोना संक्रमितों को भर्ती कराया जा सकेगा. आइएमए की ओर से भी पटना एम्स को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल बनाने की मांग की जाती रही है. विदित हो कि बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 14 हजार पार कर चुकी है और जुलाई के अंत तक कोरोना अपने चरम पर हो सकता है.

यह भी पढ़े  राज्यसभा में भी पास हुआ UAPA संशोधन बिल , पक्ष में 147 और विरोध में वोट पड़े 42

वहीं बिहार के मुख्यमंत्री आवास कार्यालय में भी कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है. यहां अब तक 80 से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. जानकारी के मुताबिक सीएम आवास के कैंटीन में तैनात कर्मी से लेकर सचिव के ड्राइवर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी भी पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके बाद टेस्ट के लिए मुख्यमंत्री सचिवालय के कर्मियों का भी सैंपल लिया गया है.

दूसरी ओर पटना समेत 13 जिलों में कोरोना जांच में हर 100 सैंपल में 10 रिपोर्ट पोजेटिव आने लगी है। खुद स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश सिंह ने शुक्रवार को एसकेएमसीएच, डीएमसीएच, पीएमसीएच, एनएमसीएच के प्राचार्य व आरएमआरआई, एम्स व आईजीआईएमएस के निदेशक को पत्र लिख चिंता जताई है। साथ ही ऐसी स्थिति में इन जिलो में पूल टेस्टिंग नहीं कराने का आदेश दिया गया है।

पीएमसीएच में शुक्रवार को 50 सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें 28 सैंपल पीएमसीएच के स्टाफ और मरीज के है। पीएमसीएच इमरजेंसी के चीफ कैजुअल्टी मेडिकल अफसर भी संक्रमित हैं। उन्हें होटल अशोक में क्वारेंटाइन किया गया है। हाइकोर्ट में तैनात डीएसपी पॉजिटिव पाए गए। कोर्ट ने डीएसपी कार्यालय के पुलिसकर्मियों का सैंपल लेने को कहा।

यह भी पढ़े  बिहारजैसे पिछड़े राज्यों की समस्याओं परध्यान दे नीति आयोग

बता दें कि गुरुवार से शुक्रवार के बीच पटना में 1 दिन (24 घंटे) में सबसे अधिक 385 कोरोना संक्रमित मिले. इनमें से पीएमसीएच के मुख्य आकस्मिक की चिकित्सा पदाधिकारी समेत 28 कर्मी और बिहटा फायर ट्रेनिंग सेंटर के 23 फायरमैन व चालक भी शामिल हैं. सिविल सर्जन डॉ राजकिशोर चौधरी ने बताया कि पटना में कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 1888 हो गई है. इनमें से 1180 लोग विभिन्न आइसोलेशन सेंटर में भर्ती हैं. अब तक जिले में कोरोना के 17 लोगों की मौत हो चुकी है.

सदाकत आश्रम समेत यहां मिले मरीज
पाटलिपुत्रा, न्यू पुलिस लाइन, दानापुर, झाऊगंज, बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी, भूतनाथ रोड, गांधी मैदान, साहपुर, कंकड़बाग, चित्रगुप्त नगर, बोरिंग रोड, नौबतपुर और सदाकत आश्रम।

पटना को छोड़ राज्य में शुक्रवार को नए संक्रमितों की संख्या 279 है। इनमें राजद विधायक फैसल रहमान भी शामिल हैं। दूसरी और, शुक्रवार काे काेराेना से 8 और माैतें हुईं। इनमें पटना सिटी के रमेश (58 साल) भी शामिल हैं। इनके अलावा सीवान, नालंदा, पश्चिम चंपारण, भागलपुर, कैमूर में एक-एक और बेगूसराय में दो शामिल है। इसके साथ प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 133 पहुंच गई है।

यह भी पढ़े  सुशांत को न्याय दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाएगी राज्य सरकार: सुशील मोदी

भागलपुर में टीएमबीयू सेंट्रल लाइब्रेरी के पूर्व प्रभारी बसंत चौधरी की माैत हाे गई। 62 वर्षीय बसंत काे सात जुलाई काे भर्ती कराया गया था। टेस्ट रिपाेर्ट शुक्रवार काे पाॅजिटिव आई। दोपहर बाद उनकी मौत हो गई। वहीं पिछले 24 घंटे में रिकाॅर्ड 459 संक्रमितों ने कोरोना वायरस को मात दी। राज्य में अभी तक 10251 ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 7595 सैंपल की जांच की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here