राजद स्थापना दिवस:आज खास दिन है और हमें लालू जी की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाना है :तेजस्वी

0
40

रविवार का दिन राष्ट्रीय जनता दल के लिए बहुत खास है. पार्टी आज अपना 24वां स्थापना दिवस मना रही है. इस मौक पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया है. इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा, ‘आज खास दिन है और हमें लालू जी की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाना है. गरीब की लड़ाई को लड़ना है.’

‘हमारी लड़ाई शोषित-वंचितों को मुख्यधारा में लाने की है’
तेजस्वी ने कहा कि, हमारी लड़ाई शोषित, वंचित, प्रताड़ित समाज को मुख्यधारा में लाने की है. सबको मान-सम्मान इज्जत मिले और बिहार की तरक्की हो, यही कामना है. उन्होंने कहा कि, स्थापना दिवस खास इस बात पर है कि, लगातार पेट्रोल-डीजल (Petrol-Disel) की कीमत में बढ़ोतरी हो रही है और इसके पहले भी साइकिल यात्रा किया था और आजा स्थापना दिवस के दिन भी साइकिल से प्रदेश कार्यालय जाएंगे.

‘किसानों का आय बढ़ी क्या’
आरजेडी नेता ने कहा कि, पेट्रोल सस्ता हो गया और डीजल महंगा हो गया. ऐसा देश में पहली बार हुआ है. लगातार तेल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में नीचे आ गया है तो देश में इजाफा क्यों किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि, जिस हिसाब से पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोतरी की गई है, उसी हिसाब से किसानों के अनाज की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है क्या कि, किसानों को फायदा हो सके.

यह भी पढ़े  सियासी खेल में पोस्टर का सहारा , जदयू ने फिर जारी किया पोस्टर , राजद के शासन पर साधा निशाना

‘महंगाई का स्तर आज क्या हो गया है’
तेजस्वी ने कहा कि, आरजेडी की मांग है कि, डीजल पेट्रोल की कीमत 20 रुपए कम किया जाए. लेकिन केंद्र सरकार मान ही नहीं रही है. उन्होंने कहा कि, पूरे बिहार में राष्ट्रीय जनता दल के नेता और कार्यकर्ता 5 किलोमीटर साइकिल चलाकर मांग करेंगे कि, बीजेपी के लिए महंगाई जो डायन थी, उसका महंगाई का स्तर आज क्या हो गया है.

‘CM नीतीश ने क्यों साधी है चुप्पी’
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, पेट्रोल-डीजल के बढ़ने से व्यवसाई वर्ग भी परेशान है. पेट्रोल डीजल की कीमत बढ़ती है तो प्रत्येक वस्तुओं के दाम में बढ़ोतरी हो जाती है. लेकिन बिहार के लोगों के साथ हम खड़े हैं. बिहार सरकार से मांग है कि, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चुप्पी क्यों साधे हैं.

‘लालू यादव एक विचार हैं’
उन्होंने कहा कि, आज बिहार में किसान आत्मदाह कर रहे हैं. एक तरफ बाढ़ से परेशान हैं तो दूसरी तरफ सुखाड़ से परेशान है. इसके लिए बिहार में नीतीश कुमार और केंद्र में बीजेपी की सरकार जिम्मेवार है. वहीं, स्थापना दिवस पर लालू यादव (Lalu Yadav) के नहीं रहने पर तेजस्वी ने कहा कि, लालू यादव एक विचार हैं. लेकिन उन्हें हम मिस कर रहे हैं. हम ही नहीं, बिहार की गरीब जनता भी लालू यादव को मिस कर रही है. लालू यादव होते तो लोगों के हाथ में रोजगार होता.

यह भी पढ़े  नशे में कार से पत्रकार को कुचला, आईएएस अधिकारी गिरफ्तार

‘हम किसी की एंट्री बंद करने वाले कौन होते हैं’
इधर, जीतन राम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा की एंट्री बंद होने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि, हम किसी की एंट्री बंद करने वाले कौन होते हैं. हमें जो पार्टी ने जिम्मेदारी दिया है, उसी को पूरा कर रहे हैं. पार्टी के लोगों से उनकी बातें हो रही हैं. जगदानंद सिंह गठबंधन की चीजों को बारीकी से देख रहे हैं.

तेजस्वी ने कहा कि, जनता के बीच कोई नजर नहीं आ रहा है. कोई सड़क पर नहीं उतर रहा है. सिर्फ राष्ट्रीय जनता दल के लोग सड़क पर उतर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here