यूपी में पुलिस टीम पर हमला, सीओ और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद; सभी बॉर्डर सील

0
39

उत्तर प्रदेश के कानपुर में बदमाशों ने हाल के दिनों में सबसे जघन्य अपराध को अंजाम दिया है। यहां एक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गए पुलिस दस्ते पर बदमाशों ने हमला कर दिया। इस हमले में पुलिस के एक क्षेत्राधिकारी और 2 एसआई समेत 8 पुलिस कर्मी शहीद हो गए। इसके अलावा कई अन्य जवान घायल भी हुए हैं। ये सभी पुलिस जवान उत्तर प्रदेश के कुख्या हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गए थे। विकास दुबे कानपुर का हिस्ट्रीशीटर हैं इसके ऊपर 60 मुकदमे दर्ज है। विकास दुबे इससे पहले भी थाने में घुसकर राज्यमंत्री और पुलिस कर्मी सहित कई लोगों की हत्या कर चुका है।उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद कानपुर नगर में कर्तव्यपालन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले 8 पुलिस कर्मियों को भावभीनी श्रद्धाञ्जलि दी है। यह भी पढ़ें: विकास दुबे ने 19 साल पहले की थी अपनी पहली बड़ी वारदात, आज दर्ज हैं कुल 60 मुकदमे

प्राप्त जानकारी के अनुसार यह घटना 2/3 जुलाई, 2020 की रात की है। जनपद कानपुर नगर के थाना चौबेपुर के ग्राम बिकरू के ही एक व्यक्ति की शिकायत पर हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने कानपुर पुलिस की टीम गई थी। इस पुलिस दल पर अकस्मात अपराधी तथा उसके साथियों ने छत से फायर कर दिया। इसमें एक पुलिस क्षेत्राधिकारी, 3 सब इंस्पेक्टर एवं 4 कांस्टेबल मौके पर शहीद हो गए हैं । मुठभेड़ के दौरान बिठूर थाना प्रभारी कौशलेंद्र प्रताप सिंह समेत कई पुलिसकर्मी को गोली लगी है। घायल एसओ और सभी पुलिस कर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल लाया गया है। यह भी पढ़ें: छतों से बरस रही थीं गोलियां, जानिए कैसे हिस्ट्रीशीटर के जाल में फंसी पुलिस, सीओ समेत 8 कर्मी शहीद

यह भी पढ़े  नादान हैं वो जो हमें नादान समझते हैं: तेजप्रताप यादव

यूपी के ADG लॉ एंड आर्डर घटनास्थल पर पहुँच रहे हैं। एसएसपी और आईजी मौके पर है। कानपुर की फोरेंसिक टीम जाँच कर रही है। लखनऊ से भी एक टीम फोरेंसिक की जा रही है, STF भी लगा दी गई है।

कैसे हुआ हमला
बताया जा रहा है कि पुलिस दल को बिकारू गांव में विकास दुबे के होने की खबर मिली थी। जैसे ही पुलिस दल वहां दबिश के लिए पहुंचा बदमाशों ने पुलिस के दस्ते पर फायरिंग कर दी। पुलिस जवानों को संभलने और खुद को किसी आड़ में सुरक्षित करने का मौका ही नहीं मिला। इस जघन्य हमले में 8 पुलिस जवानों की जान चली गई।

मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम
1-देवेंद्र कुमार मिश्र,सीओ बिल्हौर

2-महेश यादव,एसओ शिवराजपुर
3-अनूप कुमार,चौकी इंचार्ज मंधना
4-नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर
5-सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर
6-राहुल ,कांस्टेबल बिठूर
7-जितेंद्र,कांस्टेबल बिठूर
8-बबलू कांस्टेबल बिठूर

योगी ने दी श्रद्धांजलि
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद कानपुर नगर में कर्तव्यपालन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले 8 पुलिस कर्मियों को भावभीनी श्रद्धाञ्जलि दी है। पुलिस कार्मिको की शहादत को शत् शत् नमन करते हुए मुख्यमंत्री ने इनके शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक को इस दुर्दांत घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने तथा तत्काल मौके की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़े  Lockdown में गश्ती कर रही मोतिहारी पुलिस की टीम पर हमला, महिला कांस्टेबल सहित सात सिपाही जख्मी

मायावती ने घटना की निंदा करते हुए ट्वीट कर कहा,  ‘कानपुर में शातिर अपराधियों द्वारा एक भिड़ंत में डिप्टी एसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत व 7 अन्य के आज तड़के घायल होने की घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण। स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है। इस सनसनीखेज घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे, बीएसपी की यह मांग है।’

उत्तर प्रदेश के DGP एचसी अवस्थी ने फोन पर बताया, ‘विकास दुबे एक शातिर अपराधी है और कानपुर का हिस्ट्रीशीटर भी है. इसके ऊपर 60 मुकदमे दर्ज हैं. कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने 307 का एक मुकदमा इसके ऊपर दर्ज कराया है. इस पर दबिश डालने के लिए विकरू गांव जो चौबेपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है, एक बड़ी पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची. पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी लगा कर रास्ता रोक रखा था. पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें पुलिस के 8 लोग शहीद हो गए. इनमें डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा, 3 सब इंस्पेक्टर और 4 कांस्टेबल हैं. ये बदमाशों की फायरिंग में शहीद हो गए. घटनास्थल पर ADG लॉ एंड आर्डर पहुंच रहे हैं. एसएसपी और आईजी मौके पर हैं. कानपुर की फोरेंसिक टीम जांच कर रही है. STF भी लगा दी गई है.’

यह भी पढ़े  पटना की जल निकासी की व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए पटना के जनप्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री ने की उच्चस्तरीय बैठक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here