जीतन राम मांझी ने सरकार से की आठ मांगें

0
38

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी आज अपनी 8 सूत्रीय मांगों को लेकर धरने पर बैठेगी. आज 11 बजे से बिहार के सभी जिलों के पार्टी कार्यलयों में धरना दिया जाएगा. खुद जीतन राम मरांझी भी पटना स्थित अपने सरकारी आवास पर धरना में शामिल होंगे.

वहीं, आरजेडी ने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के द्वारा धरना दिए जाने पर प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि प्रत्येक पार्टियों को अपने अपने कार्यक्रम चलाने का अधिकार है. जीतन राम मंझी अपने पार्टी का कार्यक्रम चला रहे हैं. इससे किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिएय. हर पार्टी को इसका अधिकार है.

वहीं, जीतन राम मांझी के धरने को लेकर बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा है कि ये लोग अपनी डफली अपना रंग और ज्यादा जोगी मठ के उजाड़ वाली बाते कर रहे हैं. मांझी अपना सुर ताल अलाप रहे हैं तो कांग्रेस भी अलग राग छेड़ रही है. उपेंद्र कुशवाहा अपना तबला बजा रहे है और अब उसमें आरजेडी राग भैरवी छेड़ रही है. महागठबंधन के लोग सुर्खियां बटोरने और अपनी राजनीति बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं.

यह भी पढ़े  विधायकों के मणिपुर टूर की अध्यक्ष ने मांगी रिपोर्ट

दरअसल जीतन राम मांझी ने बिहार 8 मांगें रखी हैं जिसे लेकर वो आज धरने पर बैठेंगे-

1. बिहारी प्रवासियों के लिए क्वारंटाइन सेंटर में बिछावन, मच्छरदानी, पेयजल, शौचालय की समुचित व्यवस्था की जाएगी.
2. क्वारंटाइन सेंटर में दिए जा रहे भोजन की गुणवत्ता बढ़ाई जाए और बिहार सरकार आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा निर्दशित भोजन की व्यवस्था करे.
3. गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले सभी राशन कार्डधारियों को सरकार द्वारा निर्धारित राशन का वितरण किया जाए.
4. जिन गरीबों के पास अभी तक राशन कार्ड नहीं है उन्हें भी मुफ्त में राशन दिया जाए और जल्द से जल्द राशन कार्ड बनवाकर वितरण किया जाए.
5. एक हजार रूपए प्रत्येक प्रवासियों को भुगतान अविलंब किया जाए.
6. चिकित्सा सेवाएं ठीक किया जाए और प्रखंड स्तर से लेकर राज्य स्तर तक कोरोना संक्रमित लोगों की जांच कराने की व्यवस्था की जाए.
7. गिरती विधी व्यवस्था को दुरुस्त करते हुए हत्या, बलात्कार, लूट इत्यादि जैसे अपराध को अविलंब रोका जाए.
8. मनरेगा का कार्य सिर्फ मजदूरों द्वारा कराया जाएगा.

यह भी पढ़े  6 सितम्बर को सवर्णो के बंद के दौरान उन पर हुए हमले में मुजफ्फरपुर एसएसपी शामिल थीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here