लॉकडाउन-4 के अंत व ऑनलाक-1 की शुरुआत के साथ धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही अर्थव्यवस्था

0
29
Patna-June.2,2020-Vehicles crossing at Dak Bungalow road in Patna during ongoing COVID-19 nationwide lockdown.

लॉकडाउन फोर के अंत व ऑनलाक वन के शुरुआत में पाबंदियों में मिल रही छूट के नतीजे सामने आने लगे हैं. मई के अंत में ही सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की सर्वे रिपोर्ट में यह बात निकल कर सामने आयी है. सीआइएमइ के सर्वे आंकड़ों के अनुसार सूबे में मई के अंत में 0.4 फीसदी बेरोजगारी दर कम हुआ है. मई के अंत में राज्य में कुल बेरोजगारी दर 46.2 फीसदी दर्ज की गयी है, जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है.

जानकार बताते हैं कि रोजगार दर में थोड़ा सुधार चल रहे उद्योगों को दोबारा खोलने, नौकरी में लोगों को लौटने, प्रवासियों को मनरेगा आदि से काम मिलने आदि के कारण हुआ है. झारखंड से बेहतर, दिल्ली तीसरे नंबर पररिपोर्ट में अनुसार सूबे में बेरोजगारी दर देश में दूसरा सबसे अधिक है. बिहार से अधिक झारखंड में मई के अंत में 59.2 फीसदी बेरोजगारी दर दर्ज की गयी थी. इसके बाद तीसरे नंबर पर दिल्ली में बेरोजगारी दर 44.9 फीसदी दर्ज किया गया है. वहीं रोजगार के मामले में उत्तराखंड,असम और ओडिसा की बेहतर स्थिति है.

सिस्टम में गलत फीडिंग के कारण बांद्रा जाने वाली अवध एक्सप्रेस (09040) को यहां से दो दिन पहले ही रवाना करना पड़ा. इसके लिए रेलवे को आनन-फानन में कोच की व्यवस्था करनी पड़ी. मुजफ्फरपुर जंक्शन के यार्ड में खड़ी एक ट्रेन के कुछ कोच के साथ बरौनी से भी चार कोच मंगाये गये. फिर यह ट्रेन मंगलवार को कोटा होते हुए बांद्रा के लिए रवाना हुई. वैसे इस ट्रेन को चार जून को रवाना होना था.रेलवे के नोटिफिकेशन के मुताबिक, गुरुवार से मुजफ्फरपुर से बांद्रा के लिए साप्ताहिक अवध एक्सप्रेस का परिचालन शुरू होना था.

यह भी पढ़े  सीएम से मिले असम गण परिषद के नेता

मुजफ्फरपुर से ट्रेन संख्या 09040 बन कर उस रैक को जाना था, जो सोमवार को बांद्रा से खुल कर मंगलवार की रात मुजफ्फरपुर पहुंचती. लेकिन, उस ट्रेन के आये बिना आइआरसीटीसी के सिस्टम में दो जून को ट्रेन संख्या 09040 को चलने का जिक्र कर दिया गया. यात्री ऑनलाइन टिकट भी बुक करा लिये. पीआरएस की तरफ से जब सोमवार की शाम रिजर्वेशन चार्ट तैयार कर परिचालन व कोचिंग विभाग को सूचित किया गया, तो हड़कंप मच गया.

लॉकडाउन के चौथे चरण के खत्म होने के बाद अनलॉक के पहले चरण में आठ जून से मंदिरों के कपाट खुल जायेंगे. मंदिरों में केवल वही भक्त भगवान का दर्शन कर सकेंगे. जिनके मुंह पर मास्क लगा होगा. इसके अलावा भक्तों की थर्मल स्कीनिंग सहित सोशल डिस्टैंसिंग व सरकार द्वारा सुझाये गये सभी उपायों से गुजरना भी पड़ेगा. मंदिरों में वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए मंदिरों के प्रबंधन समितियों द्वारा लगातार बैठकें आयोजित हो रही हैं. अलग-अलग मंदिरों में समिति के पदाधिकारियों द्वारा वैश्विक महामारी को फैलने से रोकने के लिए रणनीतियां बनाने का काम शुरू कर दिया गया है.

यह भी पढ़े  तेजस्वी यादव उपेंद्र कुशवाहा की मुलाकात , कही बदलते सियासी समीकरण का आगाज तो नहीं

राज्य भर में बसों का परिचालन शुरू हो गया है. परिवहन विभाग ने पटना से 200 बसों का परिचालन शुरू किया है. अब जून के अंत तक विभाग अंतरराज्यीय बसें चलाने के लिए दूसरे राज्यों से सहमति लेने का प्रयास कर रहा है, ताकि दिल्ली, झारखंड सहित अन्य राज्यों में जाने वाले लोगों को सहूलियत हो सके. इस संबंध में 15 जून से पहले क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक होगी, जिसमें इस पर निर्णय लिया जायेगा. सूत्रों के मुताबिक अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू करने के लिए विभाग ने तैयारी शुरू कर दी. दिल्ली के लिए वॉल्वो बसों का होगा परिचालनबिहार से खुलने वाली सरकारी बसों में 51 सीटें और स्लीपर में 42 सीट हैं. इनमें सीट ऑनलाइन और काउंटर टिकट से रिजर्व की जाती है. बिहार और यूपी सरकार में समझौता हुआ है, जिसके बाद ही बिहार से कोसांबी डीपो, गाजियाबाद तक बसें जाती हैं.

अनलॉक एक के दूसरे दिन राजधानी के बाजार में देर शाम तक ग्राहकों की भीड़ लगी रही. इससे दुकानदार उत्साहित नजर आये. पटना मार्केट, हथुआ मार्केट, मौर्यालोक कॉम्प्लेक्स, हीरा पैलेस, चांदनी मार्केंट, सुपर खेतान मार्केट, एक्जीबिशन रोड, फ्रेजर रोड, न्यू मार्केट,बेली रोड, बोरिंग रोड इलाके में लोगों ने खरीदारी की. खासकर ज्वेलरी, बाइक शोरूम, एसी, पंखा, कूलर, हार्डवेयर, ऑटो पार्ट्स, फर्नीचर, कपड़े की अच्छी बिक्री हुई. कारोबारियों की मानें तो बाजार तेजी से पटरी पर लौट रहा है.

यह भी पढ़े  108 ट्रेनों से आज बिहार आयेंगे 1.77 लाख प्रवासी, अब तक 15 लाख लोगों की हो चुकी है घर वापसी

लंबे समय बाद घर से निकलने की मिली पूरी छूट के बाद लोग भीड़ के बीच सोशल डिस्टैंसिंग का भी ख्याल नहीं रखा. इस बीच कई लोग लापरवाही पूर्वक बिना मास्क लगाये ही बाजारों में घूमते नजर आये. शहर में जहां हर जगह भीड़-भाड़ दिख रही थी, वहीं बड़ी संख्या में दुकानें भी खुली दिखाई दीं. हालांकि अधिकतर दुकानों में ग्राहक नहीं थे. दुकानदार साफ-सफाई करने में व्यस्त दिख रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here