राबडी बतायें कि बलात्कार के आरोपी अरुण यादव को कहां छुपायाः मोदी

0
37

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के क्वारंटाइन केंद्रों पर 13 लाख मजदूरों के रहने–खाने की व्यवस्था की गई है। हर मजदूर पर 3750 रुपये खर्च किये जा रहे हैं। क्वारंटाइन काल पूरा होने पर हर मजदूर के खाते में 1000 रुपये भी डाले जाएंगे। राज्य सरकार जब कोरोना संक्रमण से लडने और घर लौटे लाखों मजदूरों को रोजगार देने के प्रयास में लगी है‚ तब राजद ऐसे राजनीतिक इवेंट कर रहा है‚ जिससे विधायक‚ पुलिस और मीडिया के लोगों में संक्रमण का खतरा बढ सकता है। श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि जो हर नियम–कानून को तोडने की घुटी पीकर बडे हुए‚ वे लॉकडाउन के नियम भी नहीं मानते‚ लेकिन दुहाई संविधान बचाने की देते हैं।
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राबडी देवी बतायें कि नाबालिग से रेप व सैक्स रैकेट चलाने के आरोपी व एक ही दिन में पांच फ्लैट खरीदने वाले अपने करीबी विधायक अरुण यादव को कहां छुपा रखीं हैं। जुलाई‚ २०१९ में पीडित नाबालिग के १६४ के अन्तर्गत दर्ज बयान में नाम आने व पटना स्थित फ्लैट की पहचान‚ विशेष पॉस्को कोर्ट में चार्जशीट दाखिल होने के बाद भी राजद के संदेश से विधायक आखिर किसके संरक्षण में फरार हैं। श्री मोदी ने कहा कि फरार विधायक व बालू माफिया अरुण यादव श्रीमती राबडी देवी व लालू प्रसाद के कितने करीबी है‚ इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसने १३ जून‚ २०१७ को लालू यादव की मां के नाम पर बने ‘मरछिया देवी कॉमर्शियल कॉम्पलेक्स’ के पांच फ्लैट राबडी देवी को २.५६ करोड का भुगतान कर उनके काले धन को सफेद करने के लिए खरीद लिया था। आरोपी विद्यायक अरुण यादव का लालू परिवार के साथ केवल राजनीतिक ही नहीं‚ कारोबारी संबंध भी है। अपराधियों‚ बलात्कारियों को संरक्षण देने वाली पार्टी राजद न केवल राजबल्लभ यादव और मो. शहाबुद्दीन की पत्नियों को टिकट देकर चुनाव लडाती है बल्कि उसे अलकतरा घोटाले में सजायफ्ता मो. इलियास हुसैन के परिजन से भी परहेज नहीं है। अपराधियों को संरक्षण देने वाला राजद अपनी नैतिकता को पहले ही तिलांजलि दे चुका है॥।

यह भी पढ़े  अल्पसंख्यक कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है राज्य सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here