बीएसईबी ने बिहार मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट किया जारी ,ऐसे चेक करें परिणाम

0
47
फाइल फोटो

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति आज दोपहर 12:30 बजे दसवीं के रिजल्ट की घोषणा कर दी है. बिहार के 15 लाख 29 हजार 393 हजार से अधिक छात्र और छात्राओं का इंतजार का इंतजार आज आखिरकार खत्म हो गया .

80.59 प्रतिशत छात्र मैट्रिक परीक्षा में हुए सफल ,2 लाख 38 हजार 93 प्रथम श्रेणी से हुए छात्र हुए पास
1 लाख 65 हजार 299 छात्रा प्रथम श्रेणी छात्रा हुई पास ,2 लाख 57 हजार 807 छात्र द्वितीय श्रेणी में सफल
2 लाख 66 हजार 410 छात्रा द्वितीय श्रेणी में सफल,1 लाख 17 हजार 116 छात्र तृतीय श्रेणी में सफल
1 लाख 58 हजार 286 छात्रा तृतीय श्रेणी में सफल

12 लाख 4 हजार 30 परीक्षार्थी हुए मैट्रिक में सफल ,6 लाख 13 हजार 484 छात्र हुए सफल ,5 लाख 90 हजार 545 छात्राएं हुई सफल..

दसवीं के छात्र दो वेबसाइट  www.biharboardonline.com और www.onlinebseb.in पर जाकर नतीजे देख सकते हैं. ऐसे देखें बिहार बोर्ड 10वीं के परिणाम-

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति यानि बीएसईबी नतीजों का ऐलान करने जा रही है. हालांकि, लॉकडाउन और सामाजिक दूरी के नियमों के कारण पिछले कई सालों के विपरीत इस बार कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं होगी बल्कि सीधे वेबसाइट पर रिजल्ट को अपलोड कर दिया जाएगा.

यह भी पढ़े  एकमुश्त समाधान योजना का उठायें लाभ

इस बार की परीक्षा परिणाम पिछले कई सालों के मुकाबले इस बार इसलिए अलग है क्योंकि इस बार मैट्रिक की परीक्षा की कॉपियों की जांच शिक्षकों की हड़ताल के बीच भी हुई है. दरअसल, बिहार में मैट्रिक की परीक्षा का आयोजन 17 फरवरी से 24 फरवरी के बीच हुई थी जबकि 15 फरवरी से प्राथमिक स्कूलों के 4 लाख जबकि माध्यमिक स्कूलों के 50 हजार शिक्षक हड़ताल पर चले गए थे

वहीं, चार मई को शिक्षकों की हड़ताल खत्म हो गई थी लेकिन बिहार विद्यालय समिति ने दावा किया था कि कॉपियों की जांच काफी पहले शुरू हो गई थी.

दूसरी ओर लॉकडाउन की वजह से कई बार कॉपियों की जांच को भी टाला गया. मैट्रिक की परीक्षा परिणाम में टॉपर्स के मामले में जमुई के मशहूर सिमुलतला विद्यालय का बोलबाला रहता है. साल 2018 की मैट्रिक टॉपर प्रेरणा राज भागलपुर से थीं तो दूसरी ओऱ साल 2019 में मैट्रिक टॉपर सावन राज का संबंध बांका जिले से था. दोनों ही सिमुलतला आवासीय विद्यालय के विद्यार्थी थे. एक नजर इस बार आयोजित मैट्रिक की परीक्षा के अहम बिंदुओं पर-

यह भी पढ़े  धर्मनिरपेक्ष राजनीति की गर्माहट बरकरार रखना चाहते हैं नीतीश

इस बार मैट्रिक की परीक्षा में 15 लाख 29 हजार 393 छात्र और छात्राओं ने भरा था फॉर्म.
छात्रों की संख्या 7 लाख 46 हजार 359 जबकि छात्राओं की संख्या 7 लाख 83 हजार 34 थी यानि छात्रों के मुकाबले छात्राएं ज्यादा परीक्षा में शामिल हुई थीं

छात्र बीएसइबी की दो वेबसाइट onlinebseb.in, biharboardonline.com पर जाकर नतीजे देख सकते हैं

  • बिहार बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट www.biharboardonline.com पर जाएं.
  • होम पेज पर उपलब्ध ‘रिजल्ट’ टैब पर क्लिक करें.
  • दसवीं कक्षा के मैट्रिक के रिजल्ट का चयन करें.
  • अपनी स्ट्रीम का चयन करें और ‘रिजल्ट’ पर क्लिक करें.
  • नए पृष्ठ पर क्रेडेंशियल का उपयोग करके लॉग-इन करें.
  • कैप्चर कोड दर्ज करें.
  • आपका परिणाम ऑनलाइन दिखाई देगा.
  • रिजल्ट डाउनलोड करें और भविष्य के संदर्भों के लिए प्रिंट आउट लें.

पिछली बार बीएसइबी ने 6 अप्रैल को परीक्षा परिणाम की घोषणा ने कर दी थी इस तरह से वो पूरे भारत में मैट्रिक के नतीजे घोषित करने वाला पहना बोर्ड बना था
आपको बता दें कि, मैट्रिक की परीक्षा में 15 लाख 29 हजार 393 छात्र और छात्राओं ने फॉर्म भरा है. 7 लाख 83 हजार 34 छात्राओं ने जबकि 7 लाख 46 हजार 359 छात्र इस साल मैट्रिक परीक्षा में शामिल हुए हैं.
पहली पाली में सात लाख 74 हजार 415, जबकि दूसरी पाली में सात लाख 54 हजार 978 परीक्षार्थी शामिल हुए. प्रदेश भर में 1368 परीक्षा केंद्र भी बनाए गए. इस बार छात्राओं की संख्या छात्रों की अपेक्षा अधिक है.

यह भी पढ़े  JD(U) ने प्रशांत किशोर, पवन वर्मा के खिलाफ कार्रवाई करने का दिया संकेत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here