कई क्षेत्रों में सुधार के होंगे दूरगामी परिणामः मोदी

0
8
File Photo

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 20 लाख करोड के पैकेज के चौथे चरण में बिजली शुल्क‚ कोयला‚ रक्षा उत्पादन‚ वायु क्षेत्र प्रबंधन‚ विमानन रखरखाव‚ अंतरिक्ष गतिविधियों व परमाणु उर्जा प्रक्षेत्र में व्यापक सुधार की घोषणा के दूरगामी परिणाम होंगे।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के पैकेज ने भारत के आर्थिक महाशक्ति बनने की नींव रख दी है। कोरोना संकट से मुकाबले के लिए घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज के चौथे चरण में बिजली शुल्क, कोयला, रक्षा उत्पादन, वायु क्षेत्र प्रबंधन, विमानन रख-रखाव, अंतरिक्ष गतिविधियों व परमाणु ऊर्जा प्रक्षेत्र में व्यापक सुधार की घोषणा के दूरगामी परिणाम होंगे।

मोदी ने कहा कि नए पैकज में पावर सेक्टर में व्यापक सुधार के संकेत हैं और उपभोक्ताओं को और अधिकार मिलेगा। नई विद्युत शुल्क नीति से उपभोक्ता अधिकार को मजबूत करने के साथ ही पर्याप्त बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित होगी। इसी तरह कोयला क्षेत्र में व्यापक सुधार के तहत अब कोई भी इच्छुक व्यक्ति खदान के लिए खुली बोली में भाग ले सकता है और उत्पादित कोयले को बेच सकता है। इसके लिए पात्रता की कोई शर्तें नहीं होगी तथा सफल बोली के बाद ही अग्रिम भुगतान करना होगा। पहले की निश्चित राशि की जगह अब नई व्यवस्था में राजस्व शेयरिंग होगी। कोयले की खोज में भी निजी भागीदारी के साथ नए आवंटियों को भी कोयला गैसीकरण के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा।

यह भी पढ़े  चुनावी ‘‘पहलवान’ को मैदान में उतारने से पहले विधायकों, विस्तारकों व शक्ति केन्द्र प्रभारियों से भाजपा लेगी राय

रक्षा उत्पादन में एफडीआई 49 से बढ़ा कर 74 फीसदी होगा। केन्द्र सरकार प्रतिवर्ष हथियारों के आयात पर प्रतिबंध की सूची अघिसूचित करेगी। आयातित स्पेयर्स का निर्माण भारत में ही किया जाएगा। पीपीपी के आधार पर 13 हजार करोड़ के निवेश से 12 एयरपोर्ट को विश्वस्तरीय बनाने के साथ ही विमानों के रख-रखाव व इंजनों की मरम्मत के हब के रूप में भारत को विकसित किया जाएगा। इसके अलावा आणविक विकिरण तकनीक का इस्तेमाल कर पीपीपी मॉडल के आधार पर फल, सब्जियों व खाद्य संरक्षण की सुविधा विकसित की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here