कोरोना से बचाव में सरकार का सहयोग करें भाजपा कार्यकर्ता

0
12

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने पहले दौर की टेली कान्फ्रेंसिंग वार्ता के समापन पर बताया कि विगत ४० दिनों में कोरोना संकट से मुकाबले के लिए १९ अलग–अलग सत्रों में कुल २७ घंटे ३८ मिनट तक टेली कान्फ्रेंसिंग के जरिए भाजपा के सांसदों‚ विघायकों‚ जिला‚ मंडल व प्रखंड अध्यक्षों के साथ ही पंचायत स्तर पर शक्ति केन्द्र प्रभारी के रूप में काम करने वाले कुल ११‚१२४ कार्यकर्ताओं से बातचीत की। उनसे प्राप्त सुझावों के आधार पर विभिन्न राहत योजनाओं के कार्यान्वयन व समस्याओं के समाधान की दिशा में सरकार की ओर से पहल की गई।

श्री मोदी ने भाजपा के सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं से अपील की है कि बाहर से आने वाला कोई व्यक्ति अगर बिना क्वारेंटाइन व स्क्रीनिंग के गांव में प्रवेश करे तो वे अविलम्ब मुखिया के माध्यम से स्थानीय प्राशासन को सूचित करें ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। राज्य सरकार ने ०७ मई तक १ करोड ८६ लाख घरों में संक्रमण के लक्षणों की पहचान का सर्वेक्षण कार्य पूरा लिया है। पूरे राज्य में ३‚२३२ ब्लॉक क्वारेंटाइन सेंटर सेंटर बनाए गए हैं‚ जहां बाढ़ राहत शिविर के तर्ज पर सभी को गमछा‚ मास्क‚ थाली‚ कटोरा‚ मग‚ तीन समय के भोजन‚ बच्चों के लिए दूध पावडर‚ सीसीटीवी कैमरा व चिकित्सा आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। क्वारेंटाइन पूरा कर घर जानेवालों को ५०० रुपये और जिन्हें किराया लगा है उन्हें किराया के साथ न्यूनतम एक हजार रुपये देने का सरकार ने निर्णय लिया है।

यह भी पढ़े  मार्च में इंटर का रिजल्ट घोषित कर रचा इतिहास, देश में सबसे पहले रिजल्ट

उन्होंने बताया कि शुरुआत में विदेशों से आए लोगों और बाद के दिनों में तब्लीगी जमात के कारण संक्रमण का फैलाव हुआ तो अब ट्रेनों के माध्यम से बडी संख्या में अन्य प्रदेशों से आनेवाले प्रवासियों के कारण चुनौती उत्पन्न हुई है। अब तक ८० से अधिक ट्रेनों के जरिए एक लाख से ज्यादा प्रवासी बिहार आ चुके हैं। राज्य में पीपीई किट‚ मास्क‚ सैनिटाइजर आदि की कोई कमी नहीं है। टेली कान्फ्रेंसिंग के इन सभी सत्रों में अलग–अलग दिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ड़ॉ. संजय जायसवाल‚ मंत्री ड़ॉ.प्रेम कुमार‚ नन्दकिशोर यादव‚ मंगल पांडेय आदि भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here