कोरोना मरीज का गांव सील, 32 लोगों को भेजा गया क्वारंटाइन सेंटर

0
71

राघोपुर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज (Corona virus infected patients) पाए जाने के बाद जुड़ावनपुर थाना इलाके के राघोपुर पूर्वी गांव को सील कर दिया गया है. वहीं 32 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) भेजा गया है, जिसमें मरीज के परिवार के 8 सदस्य शामिल हैं. सदर एसडीओ संदीप शेखर प्रियदर्शी और सदर एसडीपीओ राघव दलाल ने पीड़ित के गांव का दौरा किया. इस दौरान ग्रामीणों से पूछताछ के आधार पर गांव को सील किया गया है और लोगों को एहतियात बरतने की नसीहत दी गई है.

सदर एसडीपीओ ने बताया कि राघोपुर पूर्वी गांव का रहने वाला युवक पटना एम्स में भर्ती था, जिसका सैंपल पॉजिटिव आया है. इसके बाद वैशाली जिला प्रशासन अलर्ट मोड में है. बता दें कि पटना AIIMS में बुधवार को 35 वर्षीय एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया गया. यह मरीज वैशाली के राघोपुर का रहने वाला है.

मरीज की नहीं है कोई ट्रैवल हिस्ट्री
इस मामले में एक बड़ी बात जो सामने आई है वह ये कि मरीज को खुद नहीं मालूम है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) कैसे और किसके संपर्क में आने से हुआ है. जाहिर है इससे प्रशासन की परेशानी बढ़ गई है, क्योंकि वैशाली मरीज की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है.

नर्सिंग होम का इलाका सील
बिहार का पहला मरीज है, जिसके संपर्क का कोई पता नहीं चल पा रहा है कि किसके संपर्क से इसमें कोरोना का संक्रमण हुआ.बता दें कि इस मरीज का पटना के राजेन्द्र नगर स्थित नर्सिंग होम में भी इलाज हुआ था. इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने नर्सिंग होम को देर रात सील कर दिया और वहां के सभी कर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया.

यह भी पढ़े  अगर बिहारियों का किराया आपने दिया तो बिहार सरकार से क्यों मांगा:संजय झा

जानकारी के अनुसार, इससे लगा तीन किलोमीटर का इलाका भी पूरी तरह सील कर दिया जाएगा और पूरे इलाके को सेनिटाइज किया जाएगा. वहीं, आसपास रहने वाले सभी लोगों की भी स्वास्थ्य जांच की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here