दिल्ली के बाद बिहार के मरकज ने संकट में डाला, तबलीगी जमात में पहुंचे थे 640 लोग

0
88

बीते दिनों दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में इकट्ठा हुए और बाद में देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचे तबलीगी जमातियों ने भारत को बड़े संकट में डाल दिया. देश में कोराना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है और इसका सबसे बड़ा जिम्मेदार तबलीगी जमात को ठहराया जा रहा है. जहां इधर, देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है, उधर दिल्ली के बाद अब बिहार में हुए तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं. इस संबंध में नालंदा समाहरणालय बिहारशरीफ जिला गोपनीय शाखा की ओर से आपदा प्रबंधक विभाग पटना, प्रधान सचिव को सूचित किया गया है.

नालंदा समाहरणालय बिहारशरीफ जिला गोपनीय शाखा की ओर से भेजे गए पत्र में बताया गया है कि शेखना मस्जिद में 14 से 15 मार्च 2020 को तबलीगी मरकज सम्मेलन हुआ था. इसमें लगभग 640 लोग पहुंचे थे. जिसमें से 13 व्यक्ति नालंदा जिले के थे और बाकी राज्य के अन्य जिलों से आए थे. पत्र में इस बात की भी संभावना जताई गई कि जमात में पहुंचे कुछ लोग झारखंड के भी हो सकते हैं.

यह भी पढ़े  पुनपुन अंतरराष्ट्रीय पितृपक्ष मेला आज से, केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव करेंगे उद्घाटन, जुटेंगे श्रद्धालु

सबसे चिंताजनक बात यह है कि इस सम्मेलन में भाग लेने वाले नवादा जिले के एक व्यक्ति के संपर्क में आया अन्य व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित मिला है. बताया जा रहा है कि दरभंगा से भी तबलीगी जमात में 12 लोग पहुंचे थे. हालांकि पुलिस ने सभी जमातियों की पहचान कर ली है और उन्हें आईसोलेशन वार्ड में रखा है. बता दें कि अभी तक दरभंगा जिला इस वायरस की जद से दूर है. जिले में कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है.

गौरतलब है कि बिहार में अब तक इस बीमारी के संक्रमित मरीजों की संख्या 66 हो गई है. सोमवार को नालंदा जिले के एक 40 वर्षीय व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी. हालांकि वह व्यक्ति 23 मार्च को दुबई से लौटा था. नालंदा में कुल दो कोरोना वायरस के मरीज हैं. इसके अलावा बिहार में कोरोना संक्रमण के अबतक सिवान में सबसे अधिक 29 मामले, बेगूसराय में 8, मुंगेर में 7, पटना और गया में 5-5, गोपालगंज और नवादा में 3-3, सारण, लखीसराय और भागलपुर में 1-1 मामले प्रकाश में आए हैं. जबकि 21 मार्च को इस बीमारी से मुंगेर निवासी व्यक्ति की मौत हो चुकी है.

यह भी पढ़े  कुएं में उतरे चाचा व दो भतीजों की दम घुटने से मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here