मंदिर-मस्जिद सब खाली हैं, फिर ऐसी हरकत क्यों:केजरीवाल

0
39

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज का कोरोना कनेक्शन सामने आने के बाद हड़कंप मचा है. इस पूरे मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने इस पूरी घटना की निंदा की है और कहा कि सब सारे मंदिर और मस्जिद बंद हैं तो फिर ऐसे हरकत क्यों हुई. उन्होंने बताया कि मरकज से 1500 लोगों को निकाला गया है. 12 मार्च को मरकज में देश-विदेश से लोग आए थे.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि मरकज में 12-13 मार्च के आसपास देश-विदेश से लोग एकत्रित हुए थे. इनमें काफी लोग चले गए और कुछ रुक गए. उन्होंने बताया कि मरकज से 1500 लोगों को निकाला गया है. 1107 को क्वारनटीन किया गया है. टेस्ट में 24 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. उन्हें भर्ती कराया गया है. सर्दी-जुकाम से पीड़ित 86 की हालत स्थिर है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग भी इसके लिए जिम्मेदार हैं, उन पर कार्रवाई होगी. दिल्ली सरकार ने इस केस में जिम्मेदारी लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए उपराज्यपाल को पत्र लिखा है. जो भी जिम्मेदार होगा उन पर सख्त कार्रवाई होगी.

यह भी पढ़े  वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी ,जंगमवाड़ी मठ पहुंच पूजा-अर्चना में हुए शामिल, 1254 करोड़ की परियोजनाओं की देंगे सौगात

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 1548 लोगों को मरकज से निकाला जा चुका है. 441 लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं. सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 1107 लोगों को क्वॉरन्टीन किया गया है. कोरोना वायरस एक ऐसी बीमारी है जिसने पूरे विश्व को चपेट में लिया है. अमेरिका, स्पेन चीन में हजारों लोगों की मौत हो गई. ऐसी स्थिति में अगर गैर जिम्मेदाराना व्यवहार करेंगे तो काफी नुकसान होगा. इतने लोगों को एक जगह इकट्ठा नहीं किया जाना था. मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा बंद है. घर में पूजा कर रहे हैं. ऐसे में एक जगह इतने लोग जुटे, जो बिल्कुल गलत है. इस मामले में अधिकारियों की गलती होगी तो उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी. मैंने उपराज्यपाल को कल ही एफआईआर करने के लिए पत्र लिखा है.

निजामुद्दीन मरकज में कोविड-19 के मामलों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मरकज के 24 मामले सहित 97 केस दिल्ली में हैं. 41 लोगों ने विदेश की यात्रा की है और 22 लोग यात्रियों के करीबी रिश्तेदार हैं. स्थिति नियंत्रण में है. कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है.

यह भी पढ़े  राजीव नगर आसरा होम :एक सप्ताह से मौत की घड़ी गिन रही थीं दोनों संवासिनें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here