स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 227 लोग संक्रमित हुए

0
32

Coronavirus Live Updates: पूरी दुनिया इस वक्त जानलेवा कोरोना वायरस की चपेट में है. भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 1100 के पार पहुंच गई है. इनमें से 32 लोगों की मौत हो गई है और 140 लोग ठीक हुए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 227 लोग संक्रमित हुए हैं.
दुनिया भर के आंकड़ों की बात करें तो कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या सात लाख के पार पहुंच गई है और अबतक 34 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.
पूरे अमेरिका की बात करें तो एक लाख चालीस हजार लोग कोरोना से संक्रमित हैं और ढाई हजार लोगों की मौत हो चुकी है. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि दो हफ्ते में मृत्यु दर तेजी से बढ़ेगी.
दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज बिल्डिंग से अब तक 1034 लोगों को अस्पताल या ‘क्वॉरन्टीन’ सेंटर भेजा गया है. यहां 24 लोग COVID-19 से संक्रमित पाए गए हैं.
कर्नाटका के हेल्थ मिनिस्टर ने कहा है कि आज तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या राज्य में 98 है. इसमें तीन लोगों की मौत हुई है तो वहीं 6 लोग ठीक भी हुए हैं. 30 तारीख के शाम 5 बजे से 31 तारीख की सुबह 8 बजे तक 30 केस आए हैं.
भारत सरकार उन करीब 300 विदेशी नागरिकों को प्रतिबंधित कर सकती है जो पर्यटक वीजा पर आने के बावजूद दिल्ली के निजामुद्दीन में एक इस्लामी संगठन के कार्यक्रम में शामिल हुए थे. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. ये विदेशी नागरिक मलेशिया और थाईलैंड सहित 15 देशों से आए थे.
निजामुद्दीन में अब कोरोना टेस्टिंग अभियान चलेगा. दक्षिण कोरिया की तर्ज पर यह अभियान होगा. वहां भी चर्च में कोरोना संक्रमण हुआ था. अब तक मरकज से 1200 लोगों को निकाला गया है. इसमें 12 से 15 देशों के नागरिक हैं.

यह भी पढ़े  स्वच्छ भारत रैंकिंग में फिर टॉप पर इंदौर, पश्चिम बंगाल का है बुरा हाल,बिहार में नंबर वन स्थान कटिहार पटना दूसरे पायदान पर

इंदौर एवं भोपाल के 19 और लोगों में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के साथ ही मध्य प्रदेश में इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 66 हो गई. वहीं पांच लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है. इंदौर में मंगलवार को 17 नये मामले आए हैं, जबकि भोपाल में दो और संक्रमित मिले हैं. मध्यप्रदेश स्वास्थ्य सेवा प्रचार-प्रसार की निदेशक सपना लोवंशी ने बताया कि अब तक मिली रिपोर्टों के मुताबिक मध्यप्रदेश में कुल 66 लोग कोरोना वायरस संक्रमण की जद में आये हैं. इनमें इंदौर के सर्वाधिक 44 लोग शामिल हैं. इनके अलावा, जबलपुर के आठ, उज्जैन के पांच, भोपाल के 5 और शिवपुरी एवं ग्वालियर के दो-दो लोगों में भी इस संक्रमण की पुष्टि हुई है.

गुजरात में मंगलवार को कोरोना वायरस के तीन नये मामले सामने आये है जिससे राज्य में इस महामारी के मामलों की कुल संख्या 73 पहुंच गई है. प्रधान सचिव (स्वास्थ्य) जयंती रवि ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इन तीन नये मामलों में से दो अहमदाबाद में पाये गये और एक राजकोट में सामने आया है. अहमदाबाद में अब तक 25 मामले दर्ज किये गये है और इसके बाद राजकोट में 10, वडोदरा, सूरत और गांधीनगर में नौ-नौ, भावनगर में छह, गिर सोमनाथ में दो और कच्छ, मेहसाणा और पोरबंदर में एक-एक मामला सामने आया है.

यह भी पढ़े  वायुशक्ति 2019: पाकिस्तान सीमा के पास वायुसेना ने दिखाई ताकत, दो घंटे तक गरजे 137 लड़ाकू विमान

देश में लाकडाउन की वजह से प्रवासी कामगारों की परेशानियों का संज्ञान लेते हुये बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि वह इन कामगारों के लिये सभी जरूरी बंदोबस्त करे और परमार्थ संगठनों से धन जुटाने की संभावना पर भी विचार करे. न्यायमूर्ति सुनील शुक्रे की एकल पीठ ने सोमवार को कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से कामगारों और उनके परिवार के शहरों से गांव की ओर पलायन को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान राज्य सरकार को यह निर्देश दिया. यह याचिका सी एच शर्मा नामक एक व्यक्ति ने दायर की है. अदालत ने इस मुद्दे पर विचार के दौरान कहा कि इतनी बड़ी संख्या में कामगारों के पलायन से कोरोना वायरस के और फैलने का खतरा बढ़ गया है. अदालत ने कहा कि इन लोगों को इस समय राज्य सरकार से सहायता की आवश्यकता है.

शिवसेना ने कोविड-19 पर बयान को लेकर महाराष्ट्र बीजेपी के प्रवक्ता अवधूत वाघ के खिलाफ मंगलवार को कार्रवाई की मांग की. शिवसेना ने वाघ के खिलाफ कार्रवाई की मांग जिन्होंने लॉकडाउन के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा पर राज्य के मंत्री जयंत पाटिल की आलोचना को सांगली में 25 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की घटना से जोड़ने की कोशिश की. शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि ऐसी टिप्पणियां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की न सिर्फ छवि खराब करती हैं बल्कि ज्योतिबा फूले, साहू महाराज और बी आर आंबेडकर जैसे समाज सुधारकों एवं प्रगतिशील नेताओं की विरासत को आहत करती हैं.

यह भी पढ़े  तीन हत्‍याओं के साथ हुई बिहार की सुबह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here