बिहार में एक जिले से दूसरे जिले में भी नहीं होगी इंट्री, सीमाएं सील , पॉजिटिव केस की संख्या हुई 16

0
79

पूरी दुनिया में कहर बरपाने वाले कोरोना वायरस के कारण भारत में भी लॉकडाउन की स्थिति है. कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये पूरे देश को 14 अप्रैल तक ‘लाॅक डाउन’ कर दिया गया है. कोरोना वायरस से दुनियाभर के देशों की स्थिति लगातार खराब होती जा रही है. बिहार में भी अबतक कोरोना वायरस के 16 मरीज हैं और एक की मौत हो चुकी है. मरीजों का पटना एम्स में इलाज चल रहा है. बिहार में अभी तक कुल 2570 संदिग्‍ध मरीजों को निगरानी में रखा गया है. राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार रविवार तक 2375 लोगों को ऑब्जर्वेशन के लिए लिया गया था और सोमवार को 195 और नए संदिग्ध इसमें शामिल किए गए.

बिहार में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार पूरी तरह मुस्तैद हो गई है. इसके लिए अब राज्य सरकार ने कवायद तेज कर दी है. कोरोना संक्रमण देखते हुए बिहार सरकार ने राज्य की सीमा को आज से पूरी तरह से सील करने का फैसला किया है. आज से राज्य में किसी को भी प्रवेश नहीं मिलेगा.आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर किसी भी तरह के वाहन की आवाजाही पर पूरी तरह रोक दी गई है. वहीं, नेपाल,उत्तर प्रदेश, बंगाल और झारखंड को जोड़ने वाले सम्पर्क सड़कों पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है. बिहार में लॉकडाउन को पूरी तरह से प्रभावी करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ- साथ झारखंड और यूपी को जोड़ने वाले सभी रास्तों को पूरी तरह से सील कर दिया गया है. पुलिस अब एक जिले से दूसरे जिले में भी नहीं जाने दे रही है. इमरजेंसी और फल, दवा, सब्जी के अलावा किसी भी प्रकार के वाहनों, लोगों की आवाजाही पर पूर्णतया रोक लगा दी गयी है. वहीं, सरकार ने ये भी फैसला लिया है कि पटना के दो दर्जन होटलों को क्वारंटीन सेंटर बनाया जाएगा. साथ ही यूनिवर्सिटी हॉस्टल ,रेलवे गेस्ट हाउस में भी केंद्र बनेंगे. सभी केंद्रों पर भोजन और रूकने के इंतजाम किए जाएंगे.

यह भी पढ़े  बिहार का इतिहास गौरवमय : राज्यपाल

पिछले 24 घंटे में राहत की सांस ले रहे बिहारवासियों के लिए फिर से बुरी खबर सामने आई है. आरएमआरआई जांच केंद्र में सैम्पल जांच में फिर से एक कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाया गया है. मरीज गोपलगंज का निवासी है जिसकी उम्र 35 साल बताई जा रही है. निदेशक पीके दास ने जानकारी देते हुए कहा कि आज 44 सैम्पल की जांच की गई जिसमें एक पॉजिटिव पाया गया है. इसी के साथ राज्य में कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हो गयी है लेकिन अच्छी बात ये है कि अबतक कुल 3 पॉजिटिव मरीज ठीक भी हुए हैं.

आज का दिन भी काफी अहम है क्योंकि मुंगेर के मृतक मरीज सैफ से जुड़े ज्यादातर लोगों के आज सैम्पल जांच किये जा रहे हैं, वहीं सारण, गोपलगंज का भी काफी सैम्पल जमा हुआ है. बता दें सोमवार को 24 घंटे में आरएमआरआई में 4 राउंड में आईजीआईएमएस में 2 राउंड में कुल 216 सैम्पल्स की जांच रिपोर्ट आई थी, लेकिन एक भी पॉजिटिव नहीं पाया गया था. आज भी 4 राउंड में सैम्पल्स की जांच की बात कही जा रही है.

यह भी पढ़े  उम्मीदवार तय नहीं करने वाले देश क्या चलायेंगे

195 नए संदिग्ध मरीज
कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बना हुआ है और इसी क्रम में संदिग्ध लोगों की पहचान भी की जा रही है. इन सदिग्धों को ऑब्जर्वेशन में रखे जाने का सिलसिला भी जारी है. बता दें कि प्रदेश में कोरोना की आशंका में सोमवार को 195 नए संदिग्ध ऑब्जर्वेशन में लिए गए हैं, जबकि 40 नए संदिग्ध लोगों को राज्य के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती किया गया है.

राज्य स्वास्थ्य समिति के अनुसार रविवार तक 2375 लोगों को ऑब्जर्वेशन के लिए लिया गया था और सोमवार को 195 और नए संदिग्ध इसमें शामिल किए गए. इसके बाद ऑब्जर्वेशन में लिए गए संदिग्धों की संख्या 2570 हो गई है.

करीब 200 सैम्पल की जांच की गई
स्टेट सर्विलांस अधिकारी डॉ. रागिनी मिश्र के अनुसार 30 मार्च तक प्रदेश से कलेक्ट किए गए कुल 869 सैम्पल की जांच रिपोर्ट आ चुकी है. इनमें 840 रिपोर्ट निगेटिव हैं. बता दें कि राज्य में अब तक पॉजिटिव केस की संख्या 16 है. इनमें 4 मुंगेर के, 5 पटना के, एक-एक केस सिवान, नालंदा, लखीसराय, बेगूसराय, गोपालगंज और 2 केस सहरसा के हैं.

यह भी पढ़े  28 अक्टूबर को गांधी मैदान में रासपा (से) की होगी विशाल रैली

तीसरी बार होगी दोनों युवकों की जांच
गौरतलब है कि इन पॉजिटिव मरीजों में मुंगेर के 38 साल के एक युवक की मौत हो चुकी है. जबकि दो की रिपोर्ट निगेटिव आई है. एनएमसीएच के नवनियुक्त अधीक्षक डॉ. निर्मल कुमार सिन्हा ने बताया कि रविवार को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती जिन दोनों युवकों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी, उनकी बुधवार को तीसरी बार जांच कराई जाएगी. वह रिपोर्ट निगेटिव आने पर दोनों को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली समेत दूसरे राज्यों से बिहार आने वाले लोगों को उनके गांव तक पहुंचाने का इंतजाम करने का निर्देश दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here